भाजपा के सभी सांसद, विधायक बैंक खातों के लेनदेन का ब्यौरा दे :- प्रधानमंत्री

0
27

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज भाजपा के सभी सांसदों, मंत्रियों और विधायकों से कहा कि वे 8 नवंबर को नोटबंदी के ऐलान वाले दिन से 31 दिसंबर के बीच के अपने बैंक खातों के स्टेटमेंट पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के पास जमा करायें। विपक्षी दल आरोप लगा रहे हैं कि मोदी ने अपने करीबी लोगों को पहले ही नोटबंदी के बारे में जानकारी चुनिंदा तरीके से लीक कर दी थी।

मोदी ने यह भी कहा कि वह देश को कालेधन के बोझ तले नहीं दबने देंगे। यह बयान विपक्ष के इन आरोपों की पृष्ठभूमि में आया है कि बड़े नोट बंद करने का फैसला राजनीति से प्रेरित था। उन्होंने सार्वजनिक जीवन में शुचिता की अपनी प्रतिबद्धता को भी इस बयान से रेखांकित करने का प्रयास किया।

भाजपा सांसदों एवं विधायकों को यह ब्यौरा एक जनवरी तक सौंपना है। प्रधानमंत्री ने 8 नवंबर को बड़े नोटों को अमान्य करने के फैसले की घोषणा की थी। मोदी ने आज भाजपा संसदीय दल की बैठक में अपने संबोधन में ये बातें कहीं। उन्होंने इस आलोचना को भी खारिज कर दिया कि आयकर संशोधन विधेयक से कालाधन रखने वालों को इसे सफेद बनाने में मदद मिलेगी। मोदी ने कहा कि नये प्रावधान गरीबों से लूटे गये धन को उनके कल्याण के लिए लगाने में मददगार होंगे।

लोकसभा ने आज बाद में इस विधेयक को पारित कर दिया।

मोदी ने कहा कि संशोधित कानून ‘लोक कल्याण मार्ग’ से गरीबों के कल्याण का कार्यक्रम है।

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री आवास लोक कल्याण मार्ग पर स्थित है जिसे पहले रेसकोर्स मार्ग कहा जाता था।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘यह संशोधन कालेधन को सफेद बनाने के लिए नहीं है, बल्कि यह गरीबों से लूटे गए पैसे को गरीबों पर ही खर्च करने के लिए है। मैं देश को नोटों के बंडल :कालेधन: के बोझ तले दबे होने की इजाजत नहीं दे सकता।’’ मोदी का हवाला देते हुए संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने कहा कि यह विधेयक कालेधन के खिलाफ सरकार की जंग का हिस्सा है।

गरीब कल्याण योजना का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार इस योजना के तहत एकत्रित कर की राशि को गरीबों को बुनियादी सुविधाओं की आपूर्ति करने, स्वास्थ्य सुविधाओं, शिक्षा, पेयजल आदि मुहैया कराने के लिए खर्च करेगी।

कोई टिप्पणी नहीं है

कोई जवाब दें