हिमाचल सरकार ने बड़ा फैसला छात्रा को अकेले अपने पास नहीं बुला सकेंगे शिक्षक

0
116

हिमाचल सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए स्कूल में पढ़ने वाली छोटी बच्चियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सरकार द्वारा लिए गए फैसले में कहा है कि कोई भी शिक्षक अब अपने पास छात्रा को अकेले नहीं बुला सकेगा।

imagesराज्य महिला आयोग ने शिक्षा विभाग को यह निर्देश के बाद शिक्षा विभाग ने इस पर फैसला लिया है। यदि कोई शिक्षक किसी कार्य से किसी छात्रा को बुलाना चाहता है, तो उसे दो बच्चों की मौजूदगी में बात करनी होगी।

शिक्षा विभाग की तरफ सभी स्कूलों के मुखिया को यह आदेश जारी किया गया है कि वो किसी भी छात्रा को किसी शिक्षक के पास अकेले न भेजें। मंगलवार को शिक्षा विभाग की तरफ से प्रदेश के सभी स्कूलों को इस आदेश से संबंधित कॉपी भेज दी गई है। नए आदेश के अनुसार यदि शिक्षक किसी बच्चे से कोई बात करना चाहता है, तो उसे दो अन्य बच्चों की मौजूदगी में बातचीत करनी होगी। इस दौरान जिस कमरे में बातचीत होगी, उसका दरवाजा खुला रखा जाएगा।

यही नहीं, अगर शिक्षक के साथ दूसरा शिक्षक भी मौजूद हो, तो भी छात्राओं को अपने पास अकेले नहीं बुलाया जा सकेगा। कई मर्तबा ये देखा गया कि शिक्षक निशुल्क पढ़ाने के बदले छात्राओं को अपने पास बुलाते हैं।

उच्च शिक्षा विभाग के संयुक्त निदेशक सतीश शर्मा के मुताबिक सभी स्कूलों के मुख्य अध्यापकों व प्रधानाचार्यों को यह आदेश जारी कर दिए गए हैं।

यह भी देखा गया है कि कई बार शिक्षकों के यौन दुर्व्यवहार को लेकर छात्राएं डर के मारे शिकायत नहीं कर पातीं। ऐसे में शिक्षा विभाग का यह फैसला छात्राओं के, वह भी खासकर कम उम्र की बच्चियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने में अहम साबित होगा।

कोई टिप्पणी नहीं है

कोई जवाब दें