नाहन के विधायक राजीव बिंदल ने प्रदेश सरकार पर किया हल्ला

0
66

बीजेपी प्रवक्ता और नाहन के विधायक राजीव बिंदल ने आईजीएमसी में सीटें बढ़ाने के प्रपोजल रद होने पर प्रदेश सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि प्रदेश सरकार न सबसे बड़े अस्पताल की गोल्डन जुबली तो धूमधाम से मनाई, लेकिन अस्पताल की कमियों को दूर करने के बारे में नहीं सोचा।

बिंदल ने कहा कि कांग्रेस सरकार को सत्ता में आए चार वर्ष पूरे हो चुके हैं और चार वर्षों में आईजीएमसी व डॉ. राजेन्द्र प्रसाद मेडिकल कॉलेज टांडा में एमबीबीएस और एमडी/एमएस की सीटें बढ़ाने के लिए अनेक बार आवेदन किया लेकिन सरकार की नाकामी से एमसीआई की शर्तें पूरी नहीं हो पाईं, जिसका परिणाम है कि चार वर्षों में एमबीबीएस और एमडी/एमएस की एक भी सीट नहीं बढ़ी।

बिंदल ने कहा कि बीजेपी सरकार, प्रेम कुमार धूमल के नेतृत्व में 2007 में बनी उस समय तक आईजीएमसी में एमबीबीएस की 65 सीटें जबकि डॉ राजेन्द्र प्रसाद मेडिकल कॉलेज में 50 सीटें थीं। एमडी/एमएस की भी सीटें 38 थीं। जबकि एमसीएच/एमडी (सुपर स्पेशिएलिटी) की एक भी सीट नहीं थी। उस समय भाजपा सरकार ने 3 वर्षों में आईजीएमसी की सीटों को 65 से बढ़ा कर 100 कर दिया जबकि टांडा मेडिकल कॉलेज में भी सीटों को 50 से बढ़ाकर 100 कर दिया।

एमडी/एमएस की सीटें भी 38 से बढ़ाकर 149 कर दीं और एमसीएच/एमडी (सुपर स्पेशिएलिटी) की भी आठ नई सीटें प्रारम्भ की थीं।

बिंदल ने कहा कि पूर्व सरकार ने सभी सुविधाओं एवं मानकों को समय रहते पूरा किया था, जिसके परिणाम स्वरूप एमबीबीएस, एमडी/एमएस व एमसीएच/एमडी (सुपर स्पेशिएलिटी) की सीटें बढ़ाने में कामयाबी मिली। लेकिन वर्तमान में कांग्रेस सरकार इसे पूर्ण करने में पूरी तरह से विफल साबित हुई है।
Share this:

कोई टिप्पणी नहीं है

कोई जवाब दें