राज्यपाल ने किया हिमाचल प्रदेश पुलिस मीट का उद्घाटन

0
52

732149वीं हिमाचल प्रदेश पुलिस सेवा खेल एवं एथलेटिक्स मीट का आयोजन गत दिन धर्मशाला के पुलिस मैदान में किया गया। राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहकर इस मीट का उद्घाटन किया। इस तीन दिवसीय प्रतियोगिता में लगभग 1000 एथलीट भाग लें रहे हैं।
इस अवसर पर सम्बोधन करते हुए राज्यपाल ने पुलिस कर्मचारियों से नशामुक्त समाज की संरचना में सहयोग देने पर बल दिया, ताकि भावी पीढ़ियों के भविष्य और जीवन को बचाया जा सके। नशा एक गंभीर खतरा है, जो न केवल परिवारों को बल्कि व्यक्ति के जीवन को भी नष्ट कर देता है। उन्होंने पुलिस विभाग के इस ओर उठाए गए कदमों की सराहना की और प्रभावी कदम उठाने की बात की ताकि नशे के व्यापारियों को एक कड़ा संदेश दिया जा सके।
उन्होंने कहा कि पुलिस कर्मचारी कानून-व्यवस्था का कायम रखने में कड़ी मेहनत करते हैं और इस तरह के आयोजन न केवल उनके मनोरंजन के अवसर प्रदान करते हैं, बल्कि अपनी प्रतिभा दर्शाने का मंच और अनुशासन और सहनशीलता की भावना को अवतरित करने के साथ-साथ व्यक्तित्व के विकास में भी सहायक सिद्ध होते हैं। खेल न केवल व्यक्ति को शारीरिक तौर पर स्वस्थ रखती हैं, बल्कि स्पर्धा, अभ्यास, आत्मविश्वास और खेल की भावना को अवतरित करने में सहायक सिद्ध होते हैं।
उन्होंने पुलिस महानिदेशक द्वारा खेल प्रतियोगिता के आयोजन की पहल करने के प्रयासों की सराहना की और कहा कि यह आयोजन नियमित तौर से किया जाना चाहिए।
आचार्य देवव्रत ने कहा कि इस तरह के आयोजन दिनचर्या के कार्यों से उत्पन्न मानसिक और शारीरिक दबाव को कम करने में सहायक सिद्ध होते हैं।
राज्यपाल ने फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला द्वारा आयोजित की गई प्रदर्शनी का उद्घाटन भी किया।
पुलिस महानिदेशक श्री संजय कुमार ने राज्यपाल का स्वागत किया तथा उन्हें तीन दिवसीय पुलिस मीट के विभिन्न आयोजनों की विस्तृत जानकारी दी।
समिति के आयोजन सचिव श्री जी.डी. भागर्व ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया।
इस असवर पर पुलिस दलों ने एक सांस्कृतिक कार्यक्रम तथा नशे पर एक लघु नाटक की प्रस्तृति भी दी।
इस अवसर पर पुलिस विभाग के महानिरीक्षक, वरिष्ठ अधिकारी, प्रबन्धक, आयोजन समिति के ज्यूरी सदस्य भी उपस्थित थे

कोई टिप्पणी नहीं है

कोई जवाब दें