शिक्षण संस्थानों में 4000 पद शीघ्र भरे जा रहे है

0
51
?????????

प्रारंभिक शिक्षा निदेशक मनमोहन शर्मा ने वीरवार को मशोबरा विकास खण्ड के वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला पीरन में वार्षिक पुरस्कार वितरण समारोह में अपने संबोधित कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा मिडल एवं प्राथमिक पाठशालाओं में रिक्त पदों को भरने के लिए शीघ्र ही लगभग चार हजार विभिन्न श्रेणियों के पद भरे जाएंगे, जिनमें से कुछ पद बैच वाईज शामिल हैं।

उन्होंने कहा कि अध्यापकों की भर्ती प्रक्रिया प्रगति पर है और इनकी नियुक्ति होने पर स्कूलों में उपयुक्त स्टाफ उपलब्ध हो जाएगा । निदेशक ने कहा कि सरकारी शिक्षण संस्थानों में शिक्षा का स्तर कम होना चिंता का विषय है। यही कारण है कि ग्रामीण परिवेश के बच्चों का पलायन भी शिक्षा ग्रहण के लिए शहरों की ओर हो रहा है। इस स्थिति को सुधारना आवश्यक है।

उन्होंने कहा कि राज्य में शिक्षा का विस्तार बड़ी तेजी से हुआ है और वर्तमान में लगभग 16 हजार शिक्षण संस्थानों के माध्यम से बच्चों को घरद्वार पर शिक्षा ग्रहण करने की सुविधा उपलब्ध हुई है । उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा शिक्षा की गुंणवता को बनाए रखने पर विशेष बल दिया जा रहा है और शिक्षकों को शिक्षा की नवीन तकनीकों के बारे में समय समय पर प्रशिक्षण भी प्रदान किया जा रहा है।

मनमोहन शर्मा ने कहा कि शिक्षा की गुणवत्ता बनाए रखने के लिए सतत् मूल्याकंन कार्यक्रम आरंभ किया गया है ताकि पढ़ाई में कमजोर बच्चों को अन्य मेघावी विद्यार्थियों के समान लाया जा सके। इसके अतिरिक्त पढ़ाई में कमजोर बच्चों के लिए प्रेरणा और प्रयास कार्यक्रम भी चलाए गए हैं।

निदेशक ने पीरन स्कूल के अध्यापकों द्वारा दिए जा रहे अच्छे परिणामों की सराहना करते हुए कहा कि ऐसे दुर्गम क्षेत्र में कार्य कर रहे अध्यापक बधाई के पात्र हैं। उन्होंने इस अवसर पर स्कूल के मेघावी विद्यार्थियों को सम्मानित भी किया। उन्होंने प्राथमिक पाठशाला पीरन में दो कमरों व शौचालय के निर्माण के लिए धनराशि उपलब्ध करवाने का आश्वासन दिया ।

इससे पहले प्रधानाचार्य डा0 जयन्त शर्मा ने मुख्यातिथि का स्वागत किया और स्कूल की वार्षिक रिर्पोट प्रस्तुत की । इस अवसर पर स्थानीय प्रधान अतर सिंह ठाकुर और सहायक निदेशक डा0 देवेन्द्र कश्यप ने भी अपने विचार रखे। इस अवसर पर पूर्व प्रधान दयाराम वर्मा, एसएमसी प्रधान प्रेम दास शर्मा, बीडीसी सदस्य अनिता वर्मा, पाठशाला के शिक्षण गण व अभिभावक उपस्थित थे । इस मौके पर बच्चों द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करके समारोह को आकर्षक बनाया गया ।

कोई टिप्पणी नहीं है

कोई जवाब दें