24 नवंबर तक पुरानी करंसी में स्वीकार होंगे सभी तरह के टैक्सः

0
88

हिमाचल परिवहन मंत्री जीएस बाली ने कहा है कि 24 नवंबर तक राज्य परिवहन विभाग सभी प्रकार के कर तथा परिसम्पत्तियों, आवासों अथवा दुकानों का देय किराया के लिये 500 व 1000 रुपये की पुरानी मुद्रा में स्वीकार करेगा।

बाली ने कहा कि इस संबंध में विभागीय अधिकारियों को भी निर्देश जारी किए हैं। 500 व 1000 रुपये की पुरानी मुद्रा परिवहन विभाग तथा निगम को देय अदायगियों में मुख्य रूप से पंजीकरण शुल्क, अन्य सभी प्रकार का शुल्क, टोकन टैक्स, विशेष सड़क कर व जुर्माना भरने के लिए स्वीकारहो होंगे

प्रदेश के सभी शहरी निकायों में एक हजार व पांच सौ के पुराने नोट गृहकर, दुकान किराया व किसी भी प्रकार के टैक्स की अदायगी के रूप में जमा करवाए जा सकते हैं। शहरी विकास विभाग के निदेशक डा. आरके पुर्थी ने बताया कि सरकार ने यह निर्णय लोगों को किसी भी प्रकार की असुविधा अथवा परेशानी से बचाने के लिये लिया है। उन्होंने जानकारी दी कि इन नोटों को शहरी स्थानीय निकायों के कार्यालयों द्वारा 24 नवम्बर तक स्वीकार किया जाएगा।

उन्होंने शहरों के लोगों से आग्रह किया है कि वे शहरी स्थानीय निकायों के कार्यालयों में समय पर अपने देय करों की अदायगी करें।

विद्युत उपमण्डल सिद्धपुर के सहायक अभियंता सुरेश कौंडल ने बताया कि विद्युत उपमण्डल सिद्धपुर के अंतर्गत सभी विद्युत उपभोक्ता 24 नवम्बर तक विद्युत बिलों के भुगतान के लिए 500 व 1000 रुपये के नए व पुराने नोट जमा करवा सकते हैं। उन्होंने विद्युत उपभोक्ताओं से अनुरोध किया है कि वह अपने बिल शीघ्र जमा करवाएं अन्यथा बिल का भुगतान न होने पर विभागीय कार्यवाही के बाद मीटर का कनैक्शन अस्थाई तौर पर काट दिया जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं है

कोई जवाब दें