घुमारवीं के विकास के लिए हर संभव करेंगी प्रयास : रीता सहगल नगर परिषद अध्यक्ष

रीता सहगल नगर परिषद अध्यक्ष
रीता सहगल, नगर परिषद अध्यक्ष

सुभाष कुमार गौतम/घुमारवीं/
बिलासपुर जिला के घुमारवीं की पांचवीं बार नगर परिषद में चुनकर जाने वाली अध्यक्ष रीता सहगल घुमारवीं में पर्यटन को बढ़ावा देने का प्रयास करेंगी। इसके लिए वह एक प्रोजेक्ट पर कार्य करेंगी तथा इसकी डीपीआर बनवाकर सरकार से मंजूरी की मांग रखेंगी। नगर परिषद घुमारवीं की अध्यक्ष रीता सहगल ने बीते शुक्रवार को बतौर अध्यक्ष अपना कार्यभार संभाल लिया है।

रीता सहगल ने बताया कि शहर के लोगों की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए विकास कार्य करवाए जाएंगे। इसके लिए नगर परिषद में चुनकर आए सभी पार्षदों को साथ लेकर काम किया जाएगा। समाज सेवा से जड़ी रहने वाली रीता सहगल 2000 से 2005 तक कल्याण वार्ड से पार्षद रहीं। 2005 से 2010 तक बड्डू वार्ड पार्षद व उपाध्यक्ष रही। 2010 में सीधे चुनावों में अध्यक्ष बनने का मौका मिला। 2015 में कल्याण वार्ड से पार्षद व नगर परिषद में उपाध्यक्ष रहीं। 2017 से लेकर 2019 तक अध्यक्ष पद पर कार्य किया। इसके बाद 2020 में कल्याण वार्ड से जीतने के बाद अब अध्यक्ष पद पर ताजपोशी हुई है। रीता सहगल ने बीएससी व एलएलबी की पढ़ाई की है। राजनीति इनकी विरासत में रही है।

इनके पिता बीडीसी सदस्य तथा ससुर 15 साल पंचायत में प्रतिनिधि रहे हैं। विरासत में मिली राजनीति को आगे बढ़ाते हुए रीता सहगल पांचवीं बार नगर परिषद में पार्षद बनकर पहुंची है। कांग्रेस पार्टी में विभिन्न ओहदों पर रहने वाली रीता सहगल समाजसेवा में भी सक्रिय भूमिका निभाती रही हैं।

वहीं, रीता सहगल का कहना है कि शहर के लोगों की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए विकास कार्य करवाने के साथ शहर में पर्यटन को बढ़ावा देने वाले एक विशेष प्रोजेक्ट पर कार्य किया जाएगा। इसकी डीपीआर बनवाकर सरकार से इसकी मंजूरी की मांग रखी जाएगी। इसके साथ ही शहर में शौचालयों का निर्माण करवाया जाएगा। वहीं, नगर परिषद की आय बढ़ाना, शहर के सभी नालों को साफ करवाना, जहां जरूरी है, वहां सेनेटाइजेशन करना, पीपीपी मोड पर शहर के नए प्रोजेक्ट स्थापित करवाना व एक बड़े स्तर का नगर परिषद क्षेत्र में निर्माण करवाना उनकी प्राथमिकताओं में शामिल है।