बिलासपुर: करलोटी ग्राम सेवा सहकारी सभा में 8 करोड़ रुपये का घोटाला, विजिलेंस को हाथ लगे कई अहम सबूत

विजिलेंस को प्रारंभिक जांच में हाथ लगे कई अहम सबूत,मुख्य आरोपी तत्कालीन सचिव की 2018 में हो चुकी है मौत। ब्यूरो ने तत्कालीन सचिव की पत्नी,सभा के सहायक सचिव व दो पूर्व ऑडिटर समेत कुल चार लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज
विजिलेंस को प्रारंभिक जांच में हाथ लगे कई अहम सबूत,मुख्य आरोपी तत्कालीन सचिव की 2018 में हो चुकी है मौत। ब्यूरो ने तत्कालीन सचिव की पत्नी,सभा के सहायक सचिव व दो पूर्व ऑडिटर समेत कुल चार लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज

प्रजासत्ता|
बिलासपुर की दी तलाई ग्राम सहकारी सभा के बाद अब पपलाह की दी करलोटी ग्राम सेवा सहकारी सभा सीमित में आठ करोड़ का घोटाला सामने आया है। विजिलेंस ब्यूरो को मुख्यमंत्री सेवा संकल्प के जरिये मिली शिकायत में सभा में वित्तीय गड़बड़ी के आरोप लगाए गए थे।

मिली जानकारी मुताबिक ब्यूरो को प्रारंभिक जांच में कई अहम सबूत हाथ लगे हैं। मुख्य आरोपी तत्कालीन सचिव की 2018 में मौत हो चुकी है। ब्यूरो ने तत्कालीन सचिव की पत्नी, सभा के सहायक सचिव व दो पूर्व ऑडिटर समेत कुल चार लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

आरोप है कि 18 फर्जी एफडीआर के जरिए पैसों की हेराफरी की गई है| इन एफडीआर की परिपक्वता दर्शाकर पांच करोड़ 32 लाख से ज्यादा का गबन कर दिया। अब विजिलेंस इस मामले की जाँच करेगी| बता दें की इससे पहले भी जिला में सहकारी सिमितियों के घोटाले सामने आये हैं|