बिलासपुर : सोलग और जुरासी गांव के सैंकड़ों लोग आज भी सड़क सुविधा से वंचित,10 वर्षों से लटका निर्माण कार्य

प्रजासत्ता।
पूरा देश जहां आजादी का अमृत महोत्सव माना रहा है वही हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिला के 800 के करीब की आबादी वाले गांव सोलग और जुरासी आज भी सड़क सुविधा से वंचित रह गए हैं।गांव तक सड़क निर्माण के लिए 10 वर्ष पूर्व बजट मंजूर हुआ था लेकिन वन विभाग से 8 वर्षों तक एन.ओ.सी. न मिल पाने के चलते वह पैसा वापिस चला गया। अब एक साल पहले एन. ओ. सी. तो मिल गई लेकिन अब सड़क निर्माण के लिए बजट नही हैं। इसी के चलते सोलग-जुरासी गांव के लोगों का एक प्रतिनिधिमंडल उपायुक्त बिलासपुर से मिला और गांव के लोगों की समस्याओं को लेकर एक ज्ञापन उपायुक्त को सौंपा ।

इसे भी पढ़ें:  पत्नी के हत्यारे को अदालत ने सुनाई उम्र कैद व जुर्माने की सजा

बता दें कि इन गावों के लगभग 800 लोग आज भी सड़क सुविधा से वंचित है। हालांकि गांव तक सड़क निर्माण के लिए पहले बजट का प्रावधान ग्रामीणों द्वारा करवाया गया था लेकिन वन विभाग से लगभग 8 साल तक एन. ओ. सी. न मिल पाने के चलते सड़क निर्माण के लिए आया बजट वापिस चला गया अब वन विभाग की एन ओ सी को मिले एक वर्ष हो गया है लेकिन ग्रामीणों के पास सड़क निर्माण के लिए बजट नही हैं।

गौरतलब है कि सड़क न होने के कारण गांव के बच्चों को शिक्षा पाने के लिए कई किलोमीटर का सफर पैदल करना पड़ता है। जिसके कारण कई बच्चे तो अपनी पढ़ाई अधूरी छोड़ चुके हैं । सबसे बड़ी बात तो यह है कि यदि गांव में कोई महिला या बजुर्ग प्रसव के लिए या बीमार पड़ जाता है। तो उसे पैदल कंधों पर उठा कर ले जाना पड़ता है। गांव के लोगों के कई मवेशी सड़क न होने के चलते गांव नही पहुंच पाए और बीच में ही दम तो तो गए। जिससे लोगों को लाखों का नुकसान हुआ है। इसके अलावा गांव के लोगों को मकान शौचालय आदि बनाने के लिए एक ट्रक माल ढुलाई के लिए 15 से 20 हजार रुपए खर्च करने पड़ता है जिसे माकान्य शौचालय बनाना काफी महंगा पड़ता है। जिसे लोगों को आर्थिक रूप से काफी नुकसान उठाना पड़ता है।

इसे भी पढ़ें:  पत्नी के हत्यारे को अदालत ने सुनाई उम्र कैद व जुर्माने की सजा

ग्रामीणों का कहना है कि इस सड़क का काम पिछले 10वर्षों से लटक रहा है। सड़क निर्माण के लिए जो पैसा आया था वह वापिस चला गया । उन्होंने बताया कि सड़क निर्माण के लिए वह सरकार व प्रशासन ए कई बार गुहार लगा चूकें हैं लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नही हुई । जिसके बाद एक बार फिर उन्होंने गांव तक सड़क बनाने की मांग उपायुक्त को ज्ञापन सौप कर की है। अब देखने वाली बात यह होगी की सरकार या प्रशासन इसके लिए क्या कदम उठाता है। प्रतिनिधि मंडल में कुलदीप सिंह, बालक राम, शानू राम, सुमंत कुमार, संतोष कुमार, मनोज कुमार गगन कुमार, अशोक कुमार शामिल थे ।

इसे भी पढ़ें:  पत्नी के हत्यारे को अदालत ने सुनाई उम्र कैद व जुर्माने की सजा
बिलासपुर : सोलग और जुरासी गांव के सैंकड़ों लोग आज भी सड़क सुविधा से वंचित,10 वर्षों से लटका निर्माण कार्य
बिलासपुर : सोलग और जुरासी गांव के सैंकड़ों लोग आज भी सड़क सुविधा से वंचित,10 वर्षों से लटका निर्माण कार्य