रामलाल ठाकुर को इस्तीफा देने की जरूरत नहीं, पूर्व CM वीरभद्र के नाम पर धब्बा लगाने वाले दे इस्तीफा :- राजेश धर्माणी

सरकार ने आनन फानन में लिया तिरंगा फ​हराने का निर्णय,नहीं रखा गया फ्लैग कोड और डिस्पोजल का ध्यान :- धर्माणी

सुभाष गोतम | घुमारवीं
रामलाल ठाकुर कांग्रेस पार्टी के स्तंभ है तथा उन्होंने हर अच्छे बुरे समय में पार्टी का साथ दिया है, इसलिए उन्हें किसी प्रकार का त्यागपत्र देने की कोई आवश्यकता नहीं है। यह बात अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव तथा पूर्व सीपीएस राजेश धर्माणी ने कही। उन्होंने कहा कि छात्र राजनीति से लेकर वर्तमान तक रामलाल ठाकुर ने कांग्रेस पार्टी को अपने लहू से सींचा है और कांग्रेस पार्टी उनके योगदान को कभी भी भुला नहीं सकती।

उन्होंने कहा कि त्यागपत्र देने की जरूरत तो उन्हें है जिन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के नाम पर धब्बा लगाया। जिन्होंने धंधे किए अवैध खनन किया और माफिया बनकर अधिकारियों को डराते रहे।धर्माणी ने कहा कि पार्टी से त्यागपत्र तो उस नेता को देना चाहिए जिस के परिजन नशे में संलिप्त पाए गए और उन पर केस दर्ज हुए। यहां तक कि किसी ने आत्महत्या तक कर ली। उन्होंने कहा कि इस तरह के काले कारनामे करके उक्त नेता ने कांग्रेस को बदनाम किया है। अगर इतिहास को उठाकर देखें तो पुलिस की हिस्ट्री शीट में उनका नाम शामिल होगा।

उन्होंने कहा कि यह वही नेता है कि जब एक बार पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय वीरभद्र सिंह ने उन्हें हेलीकॉप्टर से उतरते ही खूब डांटा था और उन्हें सुधरने के लिए कहा था। उस बात को कोई भूला नहीं है। उन्होंने रामलाल ठाकुर को आश्वासन दिया कि इस समय जिला ही नहीं बल्कि प्रदेश के सभी नेता और कार्यकर्ता उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं। उन्हें किसी प्रकार से परेशान होने की कोई आवश्यकता नहीं है। क्योंकि वह पार्टी के मजबूत स्तंभ हैं।

रामलाल ठाकुर को इस्तीफा देने की जरूरत नहीं, पूर्व CM वीरभद्र के नाम पर धब्बा लगाने वाले दे इस्तीफा :- राजेश धर्माणी
रामलाल ठाकुर को इस्तीफा देने की जरूरत नहीं, पूर्व CM वीरभद्र के नाम पर धब्बा लगाने वाले दे इस्तीफा :- राजेश धर्माणी