पूर्व आयुर्वेद राज्यमंत्री मोहन लाल का निधन,राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने किया शोक व्यक्त

पूर्व आयुर्वेद राज्यमंत्री मोहन लाल का निधन,राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने किया शोक व्यक्त

प्रजासत्ता|
भाजपा सरकार में आयुर्वेद राज्यमंत्री रहे मोहन लाल का शुक्रवार को निधन हो गया। वे पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे थे और जालंधर के निजी अस्पताल में उपचार करवा रहे थे। वहीं उन्हेंने अंतिम सांस ली।

मोहन लाल चंबा के राजनगर (अब चुराह) से चार बार विधायक चुने गए थे। उन्होंने पहला चुनाव 1977 में लड़ा था। 1998 से 2003 तक प्रेम कुमार धूमल की सरकार में आयुर्वेद मंत्री का जिम्मा संभाला। राजनीति में आने से पहले वह स्वास्थ्य विभाग में बतौर क्लर्क तैनात थे। चंबा जिला में भाजपा को मजबूत बनाने में मोहन लाल ने अहम योगदान दिया था।

राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय और मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने पूर्व राज्य मंत्री मोहन लाल के निधन पर शोक व्यक्त किया।
राज्यपाल ने अपने शोक सन्देश में कहा कि मोहन लाल को उनके समाज कल्याण की दिशा में किए गए कार्यों और योगदान के लिए सदैव याद रखा जाएगा। इस अपूर्णीय क्षति के लिए उन्होंने शोक संतप्त परिजनों के प्रति गहरी संवेदनाएं व्यक्त की हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मोहन लाल एक ईमानदार और कर्तव्यनिष्ठ नेता थे, जो गरीबों और कमजोर वर्ग के लोगों के कल्याण के प्रति सदा समर्पित रहे। उन्होंने कहा कि प्रदेश और विशेषकर जिला चंबा के विकास में उनके योगदान को सदा याद रखा जाएगा।
जय राम ठाकुर ने ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति और शोक संतप्त परिवार को इस अपूर्णीय क्षति को सहन करने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की है।