तम्बाकू पदार्थों का सेवन, खरीदने और बेचने के लिए उम्र 18 से बढ़ाकर 21 करे केंद्र सरकार – सन्नी सूर्यवंशी

भारत में हर दिन 55 सौ बच्चे तम्बाकू पदार्थों का सेवन करने शुरुआत करते है जोकि 10 साल से कम उम्र के बच्चे होते है ,धूम्रपान रहित तंबाकू पदार्थों से हर साल दौ लाख तीस हजार भारतीयों की मौत होती है, धूम्रपान और सेकंड हैंड धुएं के संपर्क में आने से लगभग बारह लाख भारतीयों की मौत होती है।
2003 में बने कोटपा अधिनियम में अब संशोधन करने की आवश्यकता है ताकि युवाओं को तम्बाकू से दूर रखा जाए, और देश के भविष्य यानि युवाओं को बचाया जाए। हालांकि नाडा इंडिया फाउंडेशन राष्ट्रीय स्तर पर इसमें संशोधन करवाने के लिए प्रयासरत है और हिमाचल, पंजाब आदि राज्यों में तम्बाकू नियंत्रण के लिए सक्रिय रूप से कार्य कर रही है, अधिनियम में संशोधन हेतु अलग अलग राज्यों से केंद्र सरकार में स्वस्थ्य मंत्री एवं प्रधानमंत्री को पत्र लिखे जा रहे है इसके साथ साथ लोकसभा एवं राज्यसभा के सांसदों से भी अपील की जा रही है की वह अपने स्तर पर इसमें संसोधन के लिए कार्य करें ।

देखा जाए तो COTPA अधिनियम का खुलेआम उल्लंघन किया जा रहा है। ग्लोबल यूथ टोबैको सर्वे के मुताबिक,10 साल की उम्र से पहले ही बच्चे तंबाकू के आदी हो रहे हैं। अवैध विज्ञापनों के माध्यम से बच्चों और युवाओं को तम्बाकू की ओर आकर्षित किया जाता है। COTPA में संशोधन करके हमें सभी प्रकार के प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष तम्बाकू विज्ञापनों पर प्रतिबंध लगाना होगा।

“दीर्घकालिक तम्बाकू उपयोगकर्ताओं में से अधिकांश तम्बाकू का उपयोग तब शुरू करते हैं जब वे किशोर होते हैं। प्रत्येक व्यक्ति को स्वास्थ्य का अधिकार है और धूम्रपान मुक्त सार्वजनिक स्थानों का अधिकार है। भारतीय संविधान का अनुच्छेद 21 इसकी गारंटी देता है। इसलिए जब कोई धूम्रपान करने वाला सार्वजनिक स्थानों पर ‘धूम्रपान’ करता है, तो वह न केवल अपना स्वास्थ्य खराब कर रहा होता है बल्कि उस सार्वजनिक स्थान पर मौजूद सभी लोगों के जीवन को भी खतरा होता है। यह धूम्रपान न करने वालों के स्वस्थ जीवन शैली के अधिकार का उल्लंघन करता है। हमें अपने सार्वजनिक स्थानों को 100 प्रतिशत धूम्रपान-मुक्त बनाने के लिए सीओटीपीए में संशोधन करना होगा,

कोटपा अधिनियम में मुख्यतः सेवन करने, खरीदने व बेचने की उम्र 18 वर्ष से बढाकर 21 वर्ष कर दी जानी चाहिए एवं तम्बाकू से सम्बन्धित विज्ञापनों पर रोक लगनी चाहिए और धूम्रपान करने हेतु बनाये गए क्षेत्रों पर भी प्रतिबन्ध लगना चाहिए एवं इसके साथ ही शेक्षणिक संस्थानों के 200 मीटर दायरे के अंदर तम्बाकू पदार्थ न बेचे जाए ऐसा प्रवधान होना चाहिए।

सन्नी सूर्यवंशी ,समाजसेवी
विचार व्यक्तिगत है ।

Tek Raj
संस्थापक, प्रजासत्ता डिजिटल मीडिया प्रजासत्ता पाठकों और शुभचिंतको के स्वैच्छिक सहयोग से हर उस मुद्दे को बिना पक्षपात के उठाने की कोशिश करता है, जो बेहद महत्वपूर्ण हैं और जिन्हें मुख्यधारा की मीडिया नज़रंदाज़ करती रही है। पिछलें 8 वर्षों से प्रजासत्ता डिजिटल मीडिया संस्थान ने लोगों के बीच में अपनी अलग छाप बनाने का काम किया है।

Latest News

Himachal News: ऊना के घालूवाल में 82 झुग्गियां जलकर हुई राख..!

Himachal News: ऊना जिला के उपमंडल हरोली के तहत...

Himachal Weather News: Heatwave Alert Issued, No Relief Until May 25

Himachal Weather News: Himachal Pradesh is bracing for a...

Himachal News: सीएम सुक्खू बोले, बड़सर में पकड़े गए 55 लाख रुपये बिकाऊ विधायकों के..

हमीरपुर। Himachal News : मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने...

Liquor Policy Case: शराब नीति मामले में मनीष सिसोदिया को झटका

Liquor Policy Case: दिल्ली शराब नीति मामले में मंगलवार...

Solan News: समाजसेवी ओम आर्य ने युवाओं को दी सीख,, नशे से दूर होकर खेलों में ध्यान लगाएं…

Solan News: कसौली विधानाभा के अंतर्गत जोधपुर में आयोजित...

More Articles

Savitribai Phule Jayanti: नारी मुक्ति आंदोलन की पहली नेता थी सावित्री बाई फुले

Savitribai Phule Jayanti: हमारे समाज मे हमेशा ही महिलाओं पर अघोषित और अनावश्यक प्रतिबंध रहे है, और इन्ही प्रतिबंधो को तोड़ने के लिए जो...

Happy New Year Wishes 2024 : नए साल पर अपने करीबियों को शेयर करें ये लेटेस्ट SMS, Wishes, Shayari, Quotes

Happy New Year Wishes 2024 : पूरी दुनिया 31 दिसम्बर की रात को 12 बजे से बड़े ही धूम-धाम के साथ नव वर्ष का...

राज्य शैक्षिक उपलब्धि सर्वेक्षण(SEAS) परख- 2023 शिक्षा के क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण पहल

State Educational Achievement Survey: हमारी तेजी से बदलती दुनिया में विद्यार्थियों द्वारा उनकी शैक्षिक यात्रा के विभिन्न चरणों में अर्जित ज्ञान एवं कौशल को...

हिंदी दिवस: हिंदी भाषा का उद्गम और उसकी विकास गाथा

हिंदी वैदिक संस्कृति से लौकिक संस्कृत, लौकिक संस्कृत से प्राकृत, प्राकृत से पाली, पाली से अपभ्रंश और अपभ्रंश से भाषा के अनेक रूपों में...

Teachers Day: मार्गदर्शक एवं परामर्शदाता की भूमिका का निस्वार्थ निर्वाहन करता हुआ आधुनिक शिक्षक

हीरा दत्त शर्मा| Teachers Day 2023: भारतीय संस्कृति में हमने हमेशा ही अपने जीवन में शिक्षक की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण मानी हैl इस हद तक...

सत्ताधारी सरकार के खिलाफ चुनाव से पहले विपक्ष की चार्जशीट महज “पॉलिटिकल ड्रामा”

चार्जशीट...! " एक पॉलिटिकल ड्रामा "प्रजासत्ता ब्यूरो| हिमाचल प्रदेश के नेताओं और फ़िल्मी अभिनेताओं में फर्क करना मुश्किल होता जा रहा है। नेता आज...

हिमाचल में सरकार या सरकार के खिलाफ मुकदमेबाजी का बढ़ता प्रचलन, घातक.

प्रजासत्ता ब्यूरो| हिमाचल में सरकार या सरकार के खिलाफ मुकदमेबाजी का बढ़ता प्रचलन एक बड़ी समस्या बनता जा रहा है। सरकार और उनकी अफसरशाही कई...

त्राहिमाम-त्राहिमाम..! कैसे बचेगी सुख सरकार की प्रतिष्ठा ?

हिमाचल में सुख की सरकार और उसके नायक सुखविंदर सिंह सुक्खू हर मंच पर व्यवस्था परिवर्तन के दावे करते नज़र आतें हैं। लेकिन असल...

कौन हूँ मैं? मैं अव्यवस्थित दिनचर्या की झुंझलाहट हूँ

तृप्ता भाटिया। एक छोटी सी नौकरी में हूँ। एक सप्ताह के बाद एक ऑफ मिलता है। मेडिकल साइंस के अनुसार ह्यूमन बॉडी की एक बायलॉजिकल...