आगामी चुनावों मे अपनी हार को देखते मोदी सरकार ने काले कानून वापिस :- राजीव राणा

-भारतीय किसान यूनियन एमएसपी के लिये आंदोलन जारी रखेगी। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीनों कृषि कानूनों वापिस लेने का ऐलान कर दिया है वही इस फैसले पर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है । असंगठित कामगार कांग्रेस के प्रदेश महासचिव व भारतीय किसान यूनियन हमीरपुर प्रभारी राजीव राणा ने कहा उप चुनावो में मिली हार के कारण मोदी सरकार बौखला गयी है,आगामी 2022 चुनावों मे अपनी हार को देखते मोदी सरकार ने काले कानून को किसान विरोधी काले कानून वापिस लिये । 

उन्होंने  कहा कि केंद्र सरकार ने ये कानून वापिस तो लिए है,लेकिन आंदोलन की वजह से सात सौ किसानों की जानें गई है, उसके लिए कौन जिम्मेदार है? यदि ये कानून नही लाए गए होते तो इन किसानो की मौत नही होती और ये किसान भी अपने परिवार के साथ होते।

राजीव राणा ने कहा कि अभी राकेश टिकैत ने अभी आंदोलन जारी रखने की बात कही है उसका किसान व किसान हित रखने वाली कांग्रेस समर्थन करती है,अभी किसान एमएसपी की मांग कर रहे है। एमएसपी को लेकर सरकार को किसानों से बातचीत करनी चाहिए। उन्होंने कहा ये मोदी सरकार अहंकार में है और भूल जाती है कि जनता की भावना और ताकत क्या है? और राणा ने तीखे व्यंग्य मे कहा कि हिमाचल उपचुनाव के जरिये देश की जनता को कांग्रेस पार्टी ने रास्ता दिखाया है,और जनता आगामी उतर प्रदेश और पंजाब के चुनाव मे भी बी जे पी को बाहर का रास्ता दिखाएगी । राजीव राणा ने कहा कि
किसानों को आतंकवादी बताने वाली मोदी सरकार को आज किसानों की मांग के आगे झुकना पड़ा.

काले कृषि कानूनों के जरिए सरकार देश में तानाशाही स्थापित करना चाह रही थी, जिसे किसानों ने पूरी तरह से ध्वस्त कर दिया. इस आन्दोलन में सात सौ से ज्यादा किसानों ने अपनी प्राणों का बलिदान दिया और ये जीत उन वीर किसानों को समर्पित है.
आने वाली सदियों तक इस आन्दोलन को पूंजीपति एवं दमनकारी सरकार के खिलाफ मिशाल के रूप में पेश किया जाएगा.
आज का दिन देश के किसानों के लिए ऐतिहासिक है. संघर्ष में शामिल तमाम लोगों को गुरु पर्व के मौके पर इस ऐतिहासिक जीत की हार्दिक बधाई।

आगामी चुनावों मे अपनी हार को देखते मोदी सरकार ने काले कानून वापिस :- राजीव राणा
आगामी चुनावों मे अपनी हार को देखते मोदी सरकार ने काले कानून वापिस :- राजीव राणा