पर्यटक नगरी कसौली की खूबसूरती को चार चाँद लगाने वाली तिब्बती मार्केट अब बन जाएगी इतिहास

पर्यटक नगरी कसौली में दो बाजार चल रहे थे, जिसमें हेरिटेज मार्केट छावनी परिषद की जमीन पर है। जबकि दूसरी मार्केट सेना की भूमि पर थी, इस मार्केट का नाम तिब्बती मार्केट था, लेकिन कुछ वर्ष पहले से इसका नाम पाइन माल मार्केट प्रचलित हो गया था।

प्रजासत्ता ब्यूरो|
पर्यटक नगरी कसौली (Tourist City Kasauli )की खूबसूरती को चार चाँद लगाने वाली दशकों पुराना तिब्बती मार्केट (Tibetan Market Kasauli), जिसे पाइन मॉल (Pine Mall Kasauli) के रूप में जाना जाता है। अब वह तिब्बती मार्केट इतिहास बन जाएगी। बता दें कि पर्यटन नगरी कसौली के माल रोड पर 90 के दशक से स्थापित तिब्बती मार्केट पर्यटकों को पसंदीदा थी, जहां खानपान (food), एंटीक वुड आइटम्स (Antique Wood Items) व कपड़ों की कुल 21 दुकानें थी।

हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय (Himachal Pradesh High Court )के आदेश के बाद जिन्हें अब हटा दिया है। दरअसल कसौली निवासी एक महिला ने कोर्ट में जनहित याचिका के तहत सेना की भूमि पर अवैध रूप से चल रही मार्केट को हटाने का मामला उठाया था। आर्मी की ए क्लास भूमि पर अवैध कब्जे की जनहित याचिका पर सुनवाई के बाद हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय द्वारा इन दुकानों को हटाने के आदेश पारित किए गए।


प्रदेश उच्च न्यायालय के आदेश के बाद 28 अगस्त तक सेना को अपनी भूमि से इस मार्केट को उठाने के आदेश जारी हुए थे। आदेश के बाद तिब्बती मार्केट के 21 दुकानदारों ने अपनी दुकानें हटा दी हैं। सोमवार को सेना के समक्ष यहां खाली भूमि की रिपोर्ट सौंपी जानी है।

ऐसे में पर्यटक नगरी कसौली के पाइन मॉल में 30 वर्षों से भी अधिक समय से बसी तिब्बती मार्केट अब हमेशा के लिए विलुप्त हो जाएगी। 21 दुकानों वाले पाइन मॉल की शोभा बढ़ाती तिब्बती मार्केट 28 अगस्त से कभी देखने को नहीं मिलेगी। ट्राइसिटी के निकट होने के कारण, कसौली हिमाचल प्रदेश के सबसे लोकप्रिय हिल स्टेशनों में से एक है, और यहां हर साल हजारों पर्यटक आते हैं।

पर्यटक नगरी कसौली में आए दिन हमेशा इस तिब्बती मार्केट में पर्यटकों की भीड़ लगी रहती थी। जिससे न केवल 21 परिवारों की रोजी- रोटी चलती थी बल्कि कसौली की आर्थिकी को भी इजाफा होता था। सुंदर पहाड़ी की गोद में बसी इस मार्किट को एक जनहित याचिका के फैसले ने ग्रहण लगा दिया। यहां पर वर्षों से चला रहे इन छोटे दुकानदारों को अब दर-दर की ठोकरें खाने पर मजबूर कर दिया है।

कैसे हुई तिब्बती मार्केट शुरुवात्त

पर्यटक नगरी कसौली के केंट एरिया में सेना की इस भूमि पर पहले कुछ लोगों ने तिरपाल डालकर सामान बेचना शुरू किया था। उसके बाद दुकानदारों की संख्या बढ़ती गई और फिर 2008-09 में प्लास्टिक के टेंट हटाकर टीन के शेड बना लिए। हालांकि, इनमें न तो बिजली के कनेक्शन थे और न ही दुकानों का किराया वसूला जाता था। बता दें कि वर्षों पहले पर्यटक नगरी कसौली डिफेंस की ए क्लास की यह भूमि पर तिब्बत शरणार्थियों को रोजी -रोटी चलाने को मुफ्त में इस शर्त पर दी गई थी कि जब आर्मी को जरूरत होगी उन्हें 24 घंटे में हटाना होगा।

पर्यटकों से गुलजार पर्यटक नगरी कसौली की तिब्बती मार्केट
पर्यटकों से गुलजार पर्यटक नगरी कसौली की तिब्बती मार्केट

पर्यटक नगरी कसौली तिब्बती मार्केट के दुकानदारों ने लगाई गुहार

सरकार से जगह देने की गुहार तिब्बती मार्केट के दुकानदारों का कहना है कि वे वर्षों से यहां पर दुकाने लगाते आ रहे थे। अब उम्र के इस पड़ाव में रोजी- रोटी का साधन खत्म हो जाने से उन्हें भविष्य की चिंता सता रही है। कोई चाय, मोमोज बेचकर, तो कोई मक्की भूनकर परिवार का गुजर बसर कर रहा था। दुकानदार केंद्र सरकार से गुहार लगा रहे है कि उन्हें छावनी के अन्य क्षेत्र में दुकानें लगाने के लिए जगह देकर विस्थापित होने से बचा लें, ताकि वे बैंकों का लोन भर सकें व बच्चों की पढ़ाई करवा सके। बहरहाल अब प्रदेश सरकार के समक्ष पुन: इन दुकानंदारों को स्थापित करने के लिए पुरजोर से माँग उठाई जा रही है।

पाइन माल मार्केट के नाम से प्रचलित

पर्यटक नगरी कसौली में दो बाजार चल रहे थे, जिसमें हेरिटेज मार्केट छावनी परिषद की जमीन पर है। जबकि दूसरी मार्केट सेना की भूमि पर थी, इस मार्केट का नाम तिब्बती मार्केट था, लेकिन कुछ वर्ष पहले से इसका नाम पाइन माल मार्केट प्रचलित हो गया था। कसौली में पहले ही छोटा सा बाजार था, जिसमें से अब माल रोड पर मार्केट खत्म हो गई है।

Tek Raj
संस्थापक, प्रजासत्ता डिजिटल मीडिया प्रजासत्ता पाठकों और शुभचिंतको के स्वैच्छिक सहयोग से हर उस मुद्दे को बिना पक्षपात के उठाने की कोशिश करता है, जो बेहद महत्वपूर्ण हैं और जिन्हें मुख्यधारा की मीडिया नज़रंदाज़ करती रही है। पिछलें 8 वर्षों से प्रजासत्ता डिजिटल मीडिया संस्थान ने लोगों के बीच में अपनी अलग छाप बनाने का काम किया है।

Latest News

Himachal News: ऊना के घालूवाल में 82 झुग्गियां जलकर हुई राख..!

Himachal News: ऊना जिला के उपमंडल हरोली के तहत...

Himachal Weather News: Heatwave Alert Issued, No Relief Until May 25

Himachal Weather News: Himachal Pradesh is bracing for a...

Himachal News: सीएम सुक्खू बोले, बड़सर में पकड़े गए 55 लाख रुपये बिकाऊ विधायकों के..

हमीरपुर। Himachal News : मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने...

Liquor Policy Case: शराब नीति मामले में मनीष सिसोदिया को झटका

Liquor Policy Case: दिल्ली शराब नीति मामले में मंगलवार...

Solan News: समाजसेवी ओम आर्य ने युवाओं को दी सीख,, नशे से दूर होकर खेलों में ध्यान लगाएं…

Solan News: कसौली विधानाभा के अंतर्गत जोधपुर में आयोजित...

More Articles

HP SOS Result: हिमाचल प्रदेश एसओएस परीक्षा परिणाम घोषित: 8वीं में 68.83% और 10वीं में 56.01% रहा परिणाम

HP SOS Result: हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड ने राज्य मुक्त विद्यालय (एसओएस) की 8वीं और 10वीं कक्षा का परिणाम मंगलवार को घोषित किया।...

Himachal News: ऊना के घालूवाल में 82 झुग्गियां जलकर हुई राख..!

Himachal News: ऊना जिला के उपमंडल हरोली के तहत घालूवाल में 82 झुग्गियां जलकर राख हो गईं। इस घटना में करीब दस लाख रुपये...

Himachal Weather News: हिमाचल में लू का कहर, अगले पांच दिन नहीं मिलेगी राहत

Himachal Weather News: हिमाचल प्रदेश में एक बार फिर मौसम के तेवर तल्ख होने वाले हैं। मौसम विभाग ने राज्य के विभिन्न हिस्सों में...

Himachal News: सीएम सुक्खू बोले, बड़सर में पकड़े गए 55 लाख रुपये बिकाऊ विधायकों के..

हमीरपुर। Himachal News : मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि बड़सर में सोमवार को पकड़े गए 55 लाख रुपये बिकाऊ विधायकों के हैं।...

Himachal News: शहरी मंत्री रहते भू माफिया बने पूर्व विधायकः सीएम सुक्खू

Himachal News: मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविन्दर सिंह सुक्खू आज धर्मशाला विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी देविन्द्र जग्गी के नामांकन कार्यक्रम में शामिल हुए।...

Himachal News: हिमाचल के मुल्थान में क्यों बिगड़े हालात, कई गांव खाली कराने की तैयारी, ग्रामीणों में रोष

Himachal News: हिमाचल प्रदेश के मंडी-कांगड़ा सीमा पर स्थित बरोट के लबांडग हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट में आई तकनीकी खामी के कारण स्थिति गंभीर हो...

Himachal: निर्दलीय विधायकों पर लटकी दल बदल कानून के तहत कार्रवाई की तलवार, जानिए मामले का बड़ा अपडेट..!

Himachal 3 Independent MLA Resignation Case: हिमाचल में सरकार से नाराज होकर इस्तीफा देने वाले तीन निर्दलीय विधायक आज भी विधानसभा में स्पीकर के...

Himachal News; तीन निर्दलीय विधायकों का उपचुनाव लड़ने का मामला फिलहाल लटका , अब 28 मई को होगी सुनवाई

शिमला ब्यूरो | Himachal News: हिमाचल प्रदेश के तीन निर्दलीय विधायकों के इस्तीफे से जुड़े मामले में हिमाचल हाईकोर्ट में सुनवाई हुई। दो जजों की...

Himachal News: बागी कांग्रेस विधायकों ने सुप्रीम कोर्ट में अयोग्यता के खिलाफ दायर याचिका वापिस ली

Himachal News: हिमाचल प्रदेश विधानसभा से अयोग्य ठहराए जाने वाले छ: बागी कांग्रेसी विधायकों में सुप्रीम कोर्ट में दायर अपनी याचिका शुक्रवार को वापस...