करवाचौथ पर सुहागिनों ने हाथों पर लगाई पुरानी पेंशन के नाम की मेहंदी

करवाचौथ पर सुहागिनों ने हाथों पर लगाई पुरानी पेंशन के नाम की मेहंदी

प्रजासत्ता ब्यूरो |
हिमाचल प्रदेश में चुनावी सरगर्मी के बीच पुरानी पेंशन बहाल के मुद्दे ने सियासी तपिश बढ़ा दी है। जहाँ पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर नई पेंशन स्कीम कर्मचारी महासंघ की ओर से लगातार आंदोलन जारी है। वहीँ पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर महिला कार्मिकों और पुरानी पेंशन बहाली की मांग कर रहे कर्मचारियों के सम्बन्धियों ने करवाचौथ पर पुरानी पेंशन के नाम की मेहंदी लगाकर सरकार तक अपनी बात पहुंचाने का प्रयास किया।
करवाचौथ पर सुहागिनों ने हाथों पर लगाई पुरानी पेंशन के नाम की मेहंदी
एनपीएस कर्मचारियों के परिवारों ने ओपीएस लागू करो लिखकर फोटो इंटरनेट मीडिया पर वायरल की। कईयों ने तो हाथों पर मेहंदी रचाकर पुरानी पेंशन बहाली की मांग के कई स्लोगन भी लिखे हैं। बता दें कि जहाँ करवाचौथ पर सुहागिन अपने पति की लंबी आयु के लिए व्रत रखती हैं तथा इस मौके पर सुहागिन अपने हाथों पर मेहंदी से तरह-तरह के डिजाइन बनाती है।
करवाचौथ पर सुहागिनों ने हाथों पर लगाई पुरानी पेंशन के नाम की मेहंदी
लेकिन इस बार करवाचौथ पर हिमाचल की महिलाओं ने एक नया ट्रेंड शुरू करते हुए अपने-अपने पति के लिए दीर्घायु तो मांग रही हैं, साथ में वे मेहंदी लगाकर अपने पति की ओपीएस या ओल्ड पेंशन स्कीम बहाल करने की भी मांग कर रही हैं। महिलाओं द्वारा मेहंदी से बकायदा हाथों पर ओपीएस के समर्थन में डिजाइन बनाया गया है। हाथों पर मेहंदी से “वी वांट ओपीएस” “एनपीएस गो बैक” “ओपीएस इन हिमाचल” “ओपीएस डिमांड ऑन करवाचौथ” के नारे लिखे गए हैं।

इसे भी पढ़ें:  ड्रग्स कनेक्शन! श्रद्धा हत्याकांड में जांच के लिए हिमाचल प्रदेश पहुंची दिल्ली पुलिस

बता दें कि सूबे के न्यू पेंशन स्कीम कर्मचारी संघ के सदस्य लगातार बीते दो महीने से क्रमिक अनशन पर बैठे हुए हैं। इससे पहले एनपीएस कर्मचारी इस मांग को लेकर पदयात्रा के साथ ही विधानसभा का घेराव भी कर चुके हैं। कर्मचारी लगातार सरकार से पुरानी पेंशन की मांग कर रहे हैं इस बीच वे महिलाएं, जिनके पति सरकारी नौकरी में हैं, वे भी अब अपने पति के लिए ओपीएस की मांग करवा चौथ पर कर रही हैं।

दरअसल हिमाचल प्रदेश में चुनाव की तारीखों का ऐलान होने वाला है और ओपीएस इस बार सबसे बड़े चुनावी मुद्दों में से एक है। प्रदेश के कर्मचारी पिछले लंबे वक्त से ओल्ड पेंशन स्कीम को लागू करने की मांग कर रहे हैं। कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने ओल्ड पेंशन स्कीम का समर्थन किया है। कांग्रेस ने बकायदा ऐलान कर दिया है कि हिमाचल में सरकार बनते ही ओपीएस लागू किया जाएगा। जबकि हिमाचल की बीजेपी सरकार ओपीएस को लेकर बैकफुट पर नजर आ रही।

इसे भी पढ़ें:  हिमाचल में लोक अदालत में एक साथ हुई 1.13 लाख मामलों की सुनवाई, पहली बार में निपटाए गए हजारों केस
करवाचौथ पर सुहागिनों ने हाथों पर लगाई पुरानी पेंशन के नाम की मेहंदी
करवाचौथ पर सुहागिनों ने हाथों पर लगाई पुरानी पेंशन के नाम की मेहंदी