दी सीडी साख सहकारी सभा सीमित गोहर को बैंक में बदलने के लिए राज्य सरकार करेगी हर संभव प्रयासः मुख्यमंत्री

शिमला।
मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कहा कि मंडी जिले की दी सीडी साख सहकारी सभा सीमित गोहर को बैंक में बदलने के लिए राज्य सरकार हर संभव प्रयास करेगी। इसके लिए केंद्र सरकार और आरबीआई से बात कर तकनीकी पेचीदगियों का समाधान तलाशने की दिशा में कार्य किया जाएगा।

मुख्यमंत्री रविवार को मंडी में दी सीडी साख सहकारी सभा सीमित गोहर के 59वें साधारण अधिवेशन के समापन सत्र को बतौर मुख्यातिथि सम्बोधित कर रहे थे।

जय राम ठाकुर ने कहा कि दी सीडी साख सहकारी सभा सीमित गोहर ने मंडी जिले में शानदार काम किया है। 30 जून 1957 को चच्योट डिवेल्पमेंट ब्लाॅक सोसाइटी के नाम से आरंभ यह सभा समय के साथ अपने में आवश्यक परिवर्तन लाकर प्रासंगिक बनी रही। वर्तमान में सभा का कुल कारोबार 1500 करोड़ रुपये तक पहुंच चुका है, जो इसकी सफल कार्य प्रणाली की बानगी है।

इसे भी पढ़ें:  पुलिस कांस्टेबल वेतन विसंगति मामला की रिपोर्ट सरकार को सौंपी :- कुंडू

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सराहनीय है कि लगभग 64 वर्षों के अपने सफर के बाद आज यह सभा एक महत्वपूर्ण पड़ाव पर है और इसके 66 हजार 298 सदस्य हैं। मंडी जिले में ये अपने सदस्यों को घर द्वार पर बैंकिंग सुविधा उपलब्ध करवा रही है। इसकी 49 शाखाएं और 2 विस्तार पटल हैं। सभा ने 165 करोड़ रुपये से ज्यादा के ऋण बांटे हैं। उन्होंने ऋणों की वसूली के मैकेनिज्म की मजबूती पर बल दिया।

जय राम ठाकुर ने कहा कि सहकार बहुत मजबूत सेक्टर है, जिसकी हर जगह पहुंच है। मिलकर काम करने, परस्पर सहयोग के साथ आगे बढ़ने का यह कान्सेप्ट पुराने समय से ही हमारे गांव में मौजूद रहा है। अच्छे-बुरे में साथ रहना, एक-दूसरे के काम में मदद करने का भाव ही सहकार का मूल है, जिसने आगे बढ़कर एक बड़े आंदोलन का रूप लिया।

इसे भी पढ़ें:  हिमाचल में खिलाड़ियों पर होगी ‘पैसों की बारिश’, नई खेल नीति पर सरकार की मुहर

मुख्यमंत्री ने कहा कि दी सीडी साख सहकारी सभा सीमित के विस्तार की बहुत सम्भावनाएं हैं। इसकी मंडी जिले से बाहर विस्तार की मांग हो या फिर इस सभा को राज्य सहकारी बैंक में जमा अमानतों पर 0.5 प्रतिशत (आधा प्रतिशत) अधिक ब्याज प्रदान करवाने की बात हो, राज्य सरकार इन मामलों में समाधान का रास्ता तलाशने के लिए हर संभव प्रयास करेगी। उन्होंने इस अवसर पर सभा की पत्रिका सीडी दर्पण 2021-22 का विमोचन भी किया।

इससे पूर्व, दी सीडी साख सहकारी सभा सीमित के अध्यक्ष कमल राणा ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए उन्हें सभा की गतिविधियों से अवगत करवाया। उन्होंने सहकारी सभा की विभिन्न मांगें मुख्यमंत्री के समक्ष रखीं, जिन्हें मुख्यमंत्री ने पूरी गम्भीरता से सुना और हर सम्भव मदद का भरोसा दिया।

इसे भी पढ़ें:  ड्रग अलर्ट: हिमाचल प्रदेश में बनने वाली 6 जीवनरक्षक दवाओं सैंपल फेल

इस अवसर पर विधायक राकेश जम्वाल, विनोद कुमार और इंद्र सिंह गांधी, जिला परिषद अध्यक्ष पाल वर्मा, मिल्क फेडरेशन के अध्यक्ष निहाल चंद शर्मा, सहकारी सभा के उपाध्यक्ष कर्म चन्द सैनी व श्याम लाल कश्यप, निदेशक मंडल के सदस्य रवि सिंह, धर्मपाल ठाकुर, महेंद्र ठाकुर, विक्रांत ठाकुर, शिव प्रकाश, लाल सिंह, सोहन सिंह ठाकुर, मनजीत परमार, देविंद्रा राणा, बलदेव ठाकुर, उपायुक्त मण्डी अरिंदम चैधरी, पुलिस अधीक्षक शालिनी अग्निहोत्री सहित अन्य अधिकारी और सहकारी सभा के सदस्य उपस्थित थे।

दी सीडी साख सहकारी सभा सीमित गोहर को बैंक में बदलने के लिए राज्य सरकार करेगी हर संभव प्रयासः मुख्यमंत्री
दी सीडी साख सहकारी सभा सीमित गोहर को बैंक में बदलने के लिए राज्य सरकार करेगी हर संभव प्रयासः मुख्यमंत्री