नगरोटा में लोक निर्माण व जल शक्ति विभाग द्वारा 515 करोड़ रुपये की योजनाएं कार्यान्वित की जा रही: मुख्यमंत्री

प्रजासत्ता।
मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कहा कि कोविड-19 के कारण पिछले नौ माह के दौरान देश की आर्थिक स्थिति पर विपरीत प्रभाव पड़ा है, परन्तु प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस आपात स्थिति का दक्षता से प्रबन्धन किया और देश की सुरक्षा सुनिश्चित की है। उन्होंने कहा कि पर्यटन हिमाचल प्रदेश की आर्थिकी का मुख्य साधन है और कोरोना के कारण इस क्षेत्र पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है। हमें वर्तमान स्थिति से घबराना नहीं चाहिए, बल्कि इस बीमारी से बचने के लिए सरकार द्वारा समय-समय पर जारी दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन सुनिश्चित करना चाहिए।

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज नगरोटा बगवां में नगर परिषद के गांधी मैदान में आयोजित जनसभा को सम्बोधित करते हुए यह बात कही।

जय राम ठाकुर ने नगरोटा बगवां में आयोजित इस जनसभा के दौरान परस्पर दूरी के नियम की अनुपालना और फेस मास्क का उपयोग करने के लिए लोगों की सराहना की। उन्होंने लोगों से कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में प्रधानमंत्री के दिशा-निर्देशों का पालन करने का आग्रह किया क्योंकि सम्पूर्ण विश्व में इस महामारी की दवा अभी उपलब्ध नहीं है।

उन्होंने कहा कि विपक्ष ने कोरोना की विकट परिस्थतियों के दौरान भी तुच्छ राजनीति करने से गुरेज नहीं किया। प्रदेश सरकार ने लाॅकडाउन के दौरान दिन-रात कड़ी मेहनत की और 2.5 लाख हिमाचलवासियों को उनके घर वापिस लाया गया। घर भेजने से पूर्व उनकी स्वास्थ्य जांच सुनिश्चित की गई। इसके विपरीत विपक्ष सरकार की आलोचना करने में लगा रहा, जबकि लोगों की जरूरत के समय में उन्हें कुछ सकारात्मक कार्य करना चाहिए था।

जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में वर्तमान में कोरोना मामलों में बढ़ोतरी हो रही है इसलिए लोगों को पूर्ण सावधानी बरतनी चाहिए। उन्होंने लोगों से सार्वजनिक स्थानों और अन्य सामाजिक कार्यक्रमों के दौरान सतर्कता के साथ रहने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार द्वारा सत्ता ग्रहण करने के बाद राज्य में कार्य संस्कृति में बदलाव आया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार कार्य करने में विश्वास रखती है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि प्रदेश सरकार दो वर्ष बाद विधानसभा चुनाव के दौरान पुनः सत्ता में आएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गतिशील नेतृत्व में भारत विश्व में एक बड़े और सशक्त राष्ट्र के रूप में उभरा है। उनके मार्गदर्शन में देश में गरीबों को राहत प्रदान करने के लिए कई कदम उठाए गए हैं। इस अवसर पर उन्होंने राज्य में लोगों के कल्याण के लिए आरम्भ की गई विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रमों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी के सशक्त नेतृत्व के कारण ही बिहार में एनडीए सरकार सत्ता में आई है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि नगरोटा विधानसभा क्षेत्र में लोक निर्माण विभाग के तहत 365 करोड़ रुपये और जल शक्ति विभाग के तहत 150 करोड़ रुपये लागत की योजनाएं कार्यान्वित की जा रही हैं। उन्होंने आर्किटेक्चर काॅलेज नगरोटा बगवां के लिए 5.5 करोड़ रुपये और राजकीय महाविद्यालय बड़ोह के लिए दो करोड़ रुपये की घोषणा की। उन्होंने कहा कि हटवास में फ्रूट केनिंग यूनिट का आवश्यकतानुसार निर्माण तथा नगरोटा बगवां में सामुदायिक केन्द्र का पुनर्निमाण प्रस्तावों के अध्ययन के पश्चात शहरी क्षेत्र के लोगों की जरूरत के अनुसार किया जाएगा। उन्होंने राजकीय उच्च विद्यालय जलोट को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में स्तरोन्नत करने तथा पशु औषधालय स्यूंड को अस्पताल में स्तरोन्नत करने और ठारू में पटवार वृत्त खोलने की घोषणा भी की। उन्होंने बड़ोह में बीडीओ कार्यालय खोलने तथा संयुक्त कार्यालय भवन का निर्माण करने के प्रस्ताव पर सहानुभूनिपूर्वक विचार करने का आश्वासन दिया।

इससे पूर्व, जय राम ठाकुर ने नगरोटा बगवां में नगर परिषद के गांधी मैदान में नगरोटा बगवां विधानसभा क्षेत्र के लोगों को 213 करोड़ रुपये की 14 विकासात्मक परियोजनाएं समर्पित की और विभिन्न विभागों की 25 अन्य योजनाओं की आधारशिलाएं रखीं। उन्होंने राजीव गांधी राजकीय इंजीनियरिंग काॅलेज मस्सल में 4 करोड़ 60 लाख रुपये की लागत वाले संयुक्त कार्यालय भवन, 6 करोड़ 50 लाख रुपये की लागत वाले प्रशासनिक खण्ड और 7 करोड़ 50 लाख रुपये की लागत वाले प्रशिक्षु छात्रावास, 478 करोड़ रुपये की लागत से राजीव गांधी राजकीय इंजीनियरिंग काॅलेज मस्सल को उठाऊ पेयजल योजना, 1 करोड़ 64 लाख रुपये की लागत से राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला समलोटी में नए खण्ड, 5 करोड़ 50 लाख रुपये की लागत से औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान के भवन सेराथाना, जंदड़ाह, ऐरला, करडियाना सड़क से सम्पर्क मार्ग, 1 करोड़ 50 लाख रुपये की लागत वाले होंसती खड्ड पर 30 मीटर लम्बे स्पेन बाॅक्स गर्डर पुल, 2 करोड़ रुपये की लागत वाले ओझ खड्ड पर गुजरेहड़ा सड़क से डुकर सड़क पर 30 मीटर लम्बे स्पेन बाॅक्स गर्डर पुल, 200 करोड़ रुपये की लागत वाले सम्पर्क मार्ग से फालु गांव में जोगल खड्ड पर 62 मीटर लम्बे स्पेन बो स्ट्रींग पैदल पुल, 2 करोड़ रुपये की लागत वाले सिंह नालों से मस्सल परमार बस्ती सड़क पर 30 मीटर लम्बे स्पेन पुल और 4 करोड़ 78 लाख 25 हजार रुपये की लागत वाली राजीव गांधी राजकीय इंजीनियरिंग काॅलेज मस्सल को उठाऊ पेयजल योजना का लोकार्पण किया।

उन्होंने राजकीय बी फार्मेसी नगरोटा बगवां मेें 25 करोड़ 75 लाख रुपये की लागत वाले शैक्षणिक और प्रशासनिक खण्ड समर्पित किए और लड़कों व लड़कियों के छात्रावास की आधारशिला रखी। उन्होंने राजीव गांधी राजकीय इंजीनियरिंग काॅलेज मस्सल में 24 करोड़ 29 लाख रुपये की लागत से बनने वाले आवासीय खण्ड, 1 करोड़ 55 लाख रुपये की लागत से बनने वाली राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला (छात्र) नगरोटा बगवां के नए स्कूल भवन, 1 करोड़ 9 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाली राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बालूगलोआ के विज्ञान भवन, नगरोटा बगवां में 2 करोड़ 24 लाख रुपये की लागत से बनने वाले हिमाचल प्रदेश लोक निर्माण विभाग खण्ड भवन और 1 करोड़ 64 लाख रुपये की लागत वाले हिमाचल प्रदेश लोक निर्माण विभाग के कर्मचारी आवासों, 6 करोड़ 72 लाख रुपये की लागत से बनने वाले बराना-मरियारी-हचिचिक बग-नेहर पालाचकलु सड़क, 9 करोड़ 10 लाख रुपये की लागत से स्रोन्नत की जाने वाली जंदड़ाह एरला दनोआ कंडी वाया भोरला सड़क, 2 करोड़ 42 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले घीना से लोहार लाहड़ी जंदड़ाह सम्पर्क मार्ग, 1 करोड़ 64 लाख रुपये की लागत से सम्पर्क मार्ग से बालधर से भेडु पर भलुन खड्ड पर बनने वाले 25 मीटर स्पेन आरसीसी बाॅक्स गर्डर पुल, 3 करोड़ 89 लाख रुपये की लागत से नौरा से ठानपुरी सम्पर्क मार्ग पर बनेड खड्ड पर बनने वाले 50 मीटर लम्बे स्पेन बाॅक्स गर्डर पुल, 2 करोड़ 99 लाख करोड़ रुपये की लागत से छुगेड़ा सदुन कंडी सड़क पर बाथु खड्ड पर 68 मीटर लम्बी स्पेन स्टील ट्रस पुल, 11 करोड़ 54 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले नागरिक अस्पताल नगरोटा बगवां के 100 बिस्तर वाले नए खण्ड, 9 करोड़ 34 लाख रुपये की लागत से बनने वाले सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बड़ोह में अतिरिक्त भवन, 14 करोड़ 91 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले डाॅ राजेन्द्र प्रसाद राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय टांडा में एमबीबीएस छात्राओं के लिए छात्रावास, नगरोटा बगवां में 7 करोड़ 29 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले ग्रामीण आजीविका केन्द्र भवन, 16 करोड़ 32 लाख रुपये की लागत से नगरोटा बगवां खण्ड की ग्राम पंचायत धलून, पटियालकर, कलेड़, रूमेहड़, सिहंुड और बलधर के बहु गांव समूह को ग्रामीण पाइप जलापूर्ति योजना, 1 करोड़ 75 लाख रुपये की लागत से बरोह तहसील में चंगर क्षेत्र के लिए पाइप जलापूर्ति योजना, 2 करोड़ 67 लाख रुपये की लागत से बरोह तहसील में घीन, मोरथ, जसल और बालू के लिए स्त्रोत संवर्धन और उठाऊ जलापूर्ति योजना की वितरण प्रणाली में सुधार, 2 करोड़ 51 लाख रुपये की लागत से बरोह तहसील के चंगर क्षेत्र की विभिन्न पंचायतों के विभिन्न गांवों के लिए सक्रिय घरेलू नल कनेक्शन, 2 करोड़ 10 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाली जल शक्ति मण्डल नगरोटा बगवां की आवासीय काॅलोनी, 4 करोड़ 12 लाख रुपये की लागत वाली सेराथाना रौंखर जसोरी गांव के लिए उठाऊ पेयजल योजना, 21 करोड़ 2 लाख रुपये की लागत वाली नगरोटा बगवां क्षेत्र के मस्सल और अन्य विभिन्न गांवों के लिए ग्रामीण पाइप जलापूर्ति योजना और 4 करोड़ 47 लाख रुपये की लागत वाली सेरथाना और ढलुन, सुनेहड़, मंुदला और टानपुरी, पठियार और मलां व ठारू और बराइ की चार जलापूर्ति योजनाओं के सुधार कार्य की आधारशिला रखीं।

मुख्यमंत्री ने हटवास पहुंचने पर फ्रूट केनिंग यूनिट का निरीक्षण किया। उन्होंने नगर परिषद के सामुदायिक केन्द्र के पुराने भवन का दौरा भी किया।

उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह ने जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि जय राम ठाकुर के कुशल नेतृत्व में राज्य प्रगति के पथ पर अग्रसर है।

सांसद लोक सभा किशन कपूर ने अपने सम्बोधन में प्रदेश में कार्यान्वित की जा रही केन्द्र सरकार की विभिन्न विकासात्मक नीतियों और योजनाओं के बारे में जानकारी दी। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गतिशील नेतृत्व और संकट के दौरान देश को सुरक्षित बनाए रखने के लिए उनकी सराहना की।

स्थानीय विधायक अरूण मेहरा ने मुख्यमंत्री और अन्य गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत करते हुए विधानसभा क्षेत्र में चल रहे विभिन्न विकासात्मक कार्यों और गतिविधियों की जानकारी दी। उन्होंने नगरोटा बगवां विधानसभा क्षेत्र के लिए प्रस्तावित विकासात्मक कार्यों से सम्बन्धित विभिन्न मांगों से भी अवगत करवाया।

भाजपा जिला अध्यक्ष चन्द्र भूषण नाग ने मुख्यमंत्री और अन्य अतिथियों का स्वागत किया।

मुख्यमंत्री ने विभिन्न महिला मण्डलों को चेक वितरित किए। नगरोटा बगवां खण्ड के विभिन्न स्कूलों के प्रधानाचार्यों ने मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए एक लाख रुपये का चेक भेंट किया।

विधानसभा अध्यक्ष विपिन परमार, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री सरवीन चैधरी, वन मंत्री राकेश पठानिया, राज्य सभा सांसद इन्दु गोस्वामी, विधायक रीता धीमान, मुल्ख राज प्रेमी, रविन्द्र धीमान और विशाल नेहरिया, पूर्व विधायक सुरेन्द्र काकू, हिमाचल प्रदेश वूल फैडरेशन के अध्यक्ष त्रिलोक कपूर, उपाध्यक्ष एससी एवं एसटी निगम जय सिंह उपायुक्त, पुलिस अधीक्षक और जिला प्रशासन के अन्य वरिष्ठ अधिकारी इस अवसर पर उपस्थित थे।

.0.