पीएम ने किया बल्क ड्रग पार्क का शिलान्यास और IIIT का उदघाटन, वंदे भारत एक्सप्रेस को भी दिखाई हरी झंडी

पीएम ने किया बल्क ड्रग पार्क का शिलान्यास और IIIT का उदघाटन, वंदे भारत एक्सप्रेस को भी दिखाई हरी झंडी

ऊना|
-मुख्यमंत्री ने कहा-हिमाचल ने निवेश आकर्षित करने में देश के कई बड़े राज्यों को राह दिखाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज ऊना में बल्क ड्रग पार्क की आधारशिला रखी और 128 करोड़ रुपये के भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईआईटी) का उद्घाटन किया।

इससे पहले उन्होंने ऊना रेलवे स्टेशन से अंब अंदौरा-नई दिल्ली वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन को भी हरी झंडी दिखाई। प्रधानमंत्री ने वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन के डिब्बों का निरीक्षण किया और विभिन्न सुविधाओं का जायजा लिया। उन्होंने इंजन के कंट्रोल सेंटर और ऊना रेलवे स्टेशन का भी निरीक्षण किया।
इस अवसर पर प्रधानमंत्री के साथ हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर, मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर, केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव और केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर भी उपस्थित थे। देश की इस चौथी वंदे भारत एक्सप्रेस से हिमाचल में पर्यटन को बढ़ावा देने मिलेगा तथा लोगों का सफर आरामदायक और तेज होगा। इससे ऊना से नई दिल्ली के लिए यात्रा का समय दो घंटे कम हो जाएगा।

इसके बाद ऊना के इंदिरा गांधी स्टेडियम में विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि निवेश एवं औद्योगिकीकरण की दिशा में हिमाचल के लिए आज बहुत बड़ा दिन है। उन्होंने कहा कि ऊना की उनकी इस यात्रा का मुख्य ध्येय कनेक्टिविटी और शिक्षा पर केंद्रित है।
उन्होंने कहा कि देश के दूसरे बल्क ड्रग पार्क का ऊना में शिलान्यास हो रहा है। इसके अलावा कई अन्य परियोजनाओं के उदघाटन और शिलान्यास हो रहे हैं, जिससे हिमाचल प्रदेश के विकास को बल मिलेगा। उन्होंने कहा कि देश के तीन राज्यों में बन रहे बल्क ड्रग पार्कों में हिमाचल का चयन करना, केंद्र सरकार का एक महत्वपूर्ण निर्णय है। यह निर्णय केंद्र सरकार के हिमाचल के प्रति स्नेह और समर्पण का परिणाम है। इसी तरह वंदे भारत एक्सप्रेस को हिमाचल प्रदेश में लाने का निर्णय भी केंद्र सरकार द्वारा हिमाचल को दी जाने वाली प्राथमिकता को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि हिमाचल के अधिकांश क्षेत्रों की पिछली पीढ़ियों ने शायद ट्रेन भी नहीं देखी थी और आज हिमाचल को देश की सबसे उन्नत ट्रेनों में से एक ट्रेन मिली है। उन्होंने कहा कि केंद्र और प्रदेश की डबल इंजन सरकार हिमाचल के विकास और जनकल्याण के लिए सराहनीय कार्य कर रही है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश और केंद्र की पिछली सरकारों ने प्रदेश के नागरिकों की जरुरतों और आकांक्षाओं पर कोई ध्यान नहीं दिया। इस कारण प्रदेशवासियों और विशेषकर, माताओं-बहनों को सबसे ज्यादा मुश्किलों का सामना करना पड़ा। प्रधानमंत्री ने कहा कि अब समय बदल गया है और वर्तमान सरकार न केवल लोगों की जरुरतों को पूरा करने के लिए काम कर रही है, बल्कि उनकी आशाओं और आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए अत्यधिक समर्पण और तेजी से कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि हम न केवल पिछली सरकारों द्वारा पैदा की गई विकास की खाई को भर रहे हैं, बल्कि हिमाचल के विकास के लिए मजबूत नींव भी रख रहे हैं।

इसे भी पढ़ें:  पढ़िए दिलचस्प कहानी: 7 साल बाद 'लामा' का पुनर्जन्म, 4 साल के बच्चे को माना बौद्ध धर्मगुरु

प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछली शताब्दी की शुरुआत में विश्व के कई देशों और यहां तक कि गुजरात जैसे कुछ राज्यों ने अपने नागरिकों को शौचालय, ग्रामीण सड़कों और आधुनिक स्वास्थ्य देखभाल जैसी बुनियादी सुविधाएं प्रदान करने में कामयाबी हासिल की थी। लेकिन, भारत में पहली की सरकारों ने आम लोगों के लिए इन बुनियादी सुविधाओं की पहुंच को भी मुश्किल बना दिया था। हिमाचल प्रदेश जैसे पहाड़ी इलाके इससे सबसे ज्यादा प्रभावित हुए। प्रधानमंत्री ने कहा कि हिमाचल में लंबे समय तक रहते हुए उन्होंने इन मुश्किलों को करीब से महसूस किया था। प्रधानमंत्री ने कहा कि नया भारत अतीत की चुनौतियों पर काबू पा रहा है और तेजी से आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि जो सुविधाएं पिछली सदी में लोगों तक पहुंच जानी चाहिए थीं, वे अब उपलब्ध कराई जा रही हैं। उन्होंने कहा कि हम 20वीं सदी की सुविधाएं प्राप्त करेंगे और हिमाचल प्रदेश को 21वीं सदी की आधुनिक सुविधाओं से जोड़ेंगे। उन्होंने कहा कि ग्रामीण सड़कों का निर्माण दोगुनी गति से किया जा रहा है और ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी को ग्राम पंचायतों तक ले जाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार 21वीं सदी के भारत की आकांक्षाओं को पूरा कर रही है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश ने भारत को दुनिया का नंबर एक दवा निर्माता बनाने में अहम भूमिका निभाई है और इसकी संभावनाएं और बढ़ने वाली हैं। उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया ने हिमाचल प्रदेश में निर्मित दवाओं की ताकत देखी है। उन्होंने कहा कि बल्क ड्रग पार्क के निर्माण से अब हिमाचल प्रदेश में दवा निर्माण के लिए कच्चे माल का उत्पादन भी किया जाएगा तथा अन्य देशों पर भारत की निर्भरता काफी कम हो जाएगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना के माध्यम से गरीबों और जरुरतमंदों के लिए पांच लाख रुपये तक मुफ्त इलाज की सुविधा प्रदान कर रही है। उन्होंने कहा कि बल्क ड्रग पार्क लोगों को गुणवत्तापूर्ण और सस्ती चिकित्सा प्रदान करने के सरकार के अभियान को और मजबूती देगा। उन्होंने कहा कि कृषि हो या उद्योग, कनेक्टिविटी ही विकास को गति प्रदान करती है। नंगल बांध-तलवाड़ा रेलवे लाइन का उदाहरण देते हुए नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस परियोजना को 40 साल पहले स्वीकृत किया गया था, लेकिन लंबे समय तक इस पर कोई कार्य नहीं किया गया। वर्तमान सरकार ने इस पर तेजी से कार्य किया। उन्होंने कहा कि डबल इंजन सरकार पूरे हिमाचल प्रदेश में रेलवे कनेक्टिविटी में सुधार के लिए प्रतिबद्ध है। आज भारत अपने देश मंे ही निर्मित वंदे भारत जैसी अत्याधुनिक ट्रेनों से जुड़ रहा हैं और इसमें हिमाचल अग्रणी राज्यों में से एक बन रहा है।

प्रधानमंत्री ने वादों को समय से पहले पूरा करने की नई कार्यशैली को रेखांकित करते हुए कहा कि पहले हिमाचल को उसकी कम संसदीय सीटों की संख्या के कारण अधिक महत्व नहीं दिया जाता था, लेकिन वर्तमान केंद्र सरकार ने इस परिस्थिति को बदला और शैक्षणिक संस्थानों सहित राज्य की कई लंबित मांगों को तुरंत पूरा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हिमाचल को आईआईटी, आईआईआईटी आईआईएम और एम्स जैसे प्रतिष्ठित संस्थान पाने के लिए डबल इंजन सरकार का इंतजार करना पड़ा। हिमाचल प्रदेश में शिक्षा क्षेत्र से संबंधित पहल से छात्रों को अत्यधिक लाभ होगा। उन्होंने कहा कि ऊना में आईआईआईटी के स्थायी भवन से छात्रों को और राहत मिलेगी। उन्होंने कहा कि आईआईआईटी भवन की आधारशिला उन्होंने ही रखी थी और इसका उदघाटन भी वह कर रहे हैं जोकि सरकार की बदली हुई कार्य संस्कृति का द्योतक है। उन्होंने महामारी की चुनौती के बावजूद परियोजना को समय पर पूरा करने की सराहना की।

इसे भी पढ़ें:  हिमाचल में लोक अदालत में एक साथ हुई 1.13 लाख मामलों की सुनवाई, पहली बार में निपटाए गए हजारों केस

देश भर में कौशल और नवाचार संस्थानों की आवश्यकता पर विशेष बल देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि युवाओं के कौशल और क्षमता को निखारना आज हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता है। उन्होंने सेना में सेवाएं और देश की सुरक्षा में नए आयाम गढ़ने के लिए हिमाचल के युवाओं की सराहना करते हुए अब विभिन्न प्रकार के कौशल प्रदेश के युवाओं को सेना में भी उच्च पदों पर ले जाने में मदद करेंगे।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने प्रदेश की जनता की ओर से प्रधानमंत्री को हिमाचली टोपी, शॉल, देवरथ, माता चिंतपूर्णी की चुनरी एवं चित्र भी भेंट किया।
मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने बल्क ड्रग पार्क की आधारशिला रखने, आई.आई.आई.टी. ऊना को समर्पित करने और ‘वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन’ को हरी झंडी दिखाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि हरोली विधानसभा क्षेत्र के गांवों में 1405 एकड़ क्षेत्र में 1923 करोड़ रुपये की बल्क ड्रग फार्मा पार्क मेगा परियोजना स्थापित की जाएगी। उन्होंने कहा कि इसमें से लगभग 1100 करोड़ रुपये का अनुदान केंद्र सरकार द्वारा तथा शेष राशि राज्य सरकार द्वारा वहन की जाएगी। उन्होंने कहा कि यह पार्क 50,000 करोड़ रुपये के संभावित निवेश के साथ राज्य के युवाओं के लिए रोजगार के हजारों अवसर सृजित करेगा। उन्होंने कहा कि इस पार्क से संबंधित सहायक उद्यमों की स्थापना से आर्थिक गतिविधियों में वृद्धि होगी और ए.पी.आई. की आपूर्ति के लिए भारत की चीन पर निर्भरता काफी कम हो जाएगी और आत्मनिर्भर भारत अभियान में हिमाचल एक मजबूत भूमिका निभा सकेगा।

जय राम ठाकुर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश को हमेशा अपना दूसरा घर मानने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उदारता से प्रदेश को बहुत लाभ हुआ है। उन्होंने कहा कि भौगोलिक दृष्टि से हिमाचल प्रदेश एक कठिन राज्य है और सड़क परिवहन के अलावा परिवहन के अन्य सीमित साधन हैं। उन्होंने कहा कि वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन वास्तव में राज्य के लोगों के लिए एक सपने के सच होने जैसा है, जो क्षेत्र के लोगों को परिवहन का आरामदायक और तेज साधन उपलब्ध करवाने में बहुत बड़ी भूमिका अदा करेगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि एक छोटा राज्य होने के बावजूद हिमाचल प्रदेश ने निवेश आकर्षित करने में देश के कई बड़े राज्यों को रास्ता दिखाया है। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने राज्य के लिए विशेष औद्योगिक पैकेज प्रदान किया था, जिससे राज्य में विशेष रूप से फार्मा क्षेत्र में भारी निवेश हुआ। उन्होंने कहा कि राज्य ने संभावित उद्यमियों को भी कई प्रोत्साहन प्रदान किए हैं और ‘ईज ऑफ डूइंग बिजनेस’ में राज्यों की रैंकिंग में हिमाचल 16वें रैंक से अब 7वें रैंक पर पहुंच गया है। उन्होंने कहा कि अब प्रधानमंत्री द्वारा राज्य के लिए स्वीकृत बल्क ड्रग फार्मा पार्क हिमाचल और यहां के लोगों के लिए गेम चेंजर साबित होगा।

इसे भी पढ़ें:  ड्रग्स कनेक्शन! श्रद्धा हत्याकांड में जांच के लिए हिमाचल प्रदेश पहुंची दिल्ली पुलिस

मुख्यमंत्री ने राज्य में अभूतपूर्व विकास का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देते हुए कहा कि केंद्र और राज्य की ‘डबल इंजन’ सरकार ने राज्य का संतुलित और चहुंमुखी विकास सुनिश्चित किया है। उन्होंने कहा कि केंद्र ने उज्ज्वला योजना शुरू की है जिसके तहत राज्य के लोगों को 1.38 लाख से अधिक मुफ्त गैस कनेक्शन प्रदान किए गए। उन्होंने कहा कि इस योजना से छूटे लोगों के लिए प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना शुरू की, जिसके तहत 3.35 लाख मुफ्त गैस कनेक्शन प्रदान किए गए। उन्होंने कहा कि राज्य में हिमकेयर योजना के तहत 326 करोड़ रुपये खर्च कर 3.42 लाख लोगों को लाभान्वित किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के चहुंमुखी विकास के लिए प्रधानमंत्री ने सदैव तरजीह दी है। उन्होंने कहा कि नालागढ़ में स्थापित किए जा रहे मेडिकल डिवाइस पार्क को भी प्रधानमंत्री ने ही स्वीकृति प्रदान की है। जय राम ठाकुर ने लोगों से केंद्र और राज्य की भाजपा सरकार को अपना पूरा समर्थन देने का भी आग्रह किया, ताकि विकास की यह गति आने वाले कई और वर्षों तक निर्बाध रूप से चलती रहे।

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने प्रधानमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री का हिमाचल और यहां के लोगों के साथ विशेष जुड़ाव है और यही कारण है कि आज प्रदेश को देश की चौथी वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन मिली है। उन्होंने कहा कि वंदे भारत एक्सप्रेस केवल एक ट्रेन नहीं है, बल्कि यह प्रधानमंत्री पर राज्य के लोगों का विश्वास, प्रेम और आत्मविश्वास है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार ने राज्य के हितों को छीन लिया था। जबकि, प्रधानमंत्री ने न केवल राज्य के लिए विशेष श्रेणी का दर्जा बहाल किया, बल्कि राज्य के लिए कई विकासात्मक परियोजनाएं भी प्रदान कीं। उन्होंने पूर्व सैनिकों के लिए ‘वन रैंक वन पेंशन’ को पूरा करने के लिए भी प्रधानमंत्री का आभार व्यक्त किया।

राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर, पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल, सांसद एवं प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुरेश कश्यप, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर, राज्य वित्त आयोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती, एसआईडीसी के अध्यक्ष राम कुमार, विधायक राजेश ठाकुर और बलबीर सिंह ने प्रधानमंत्री के साथ मंच साझा किया। प्रदेश मंत्रिमण्डल के सदस्य, विभिन्न बोर्डों और निगमों के अध्यक्ष-उपाध्यक्ष, विधायक और अन्य नेता भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

पीएम ने किया बल्क ड्रग पार्क का शिलान्यास और IIIT का उदघाटन, वंदे भारत एक्सप्रेस को भी दिखाई हरी झंडी
पीएम ने किया बल्क ड्रग पार्क का शिलान्यास और IIIT का उदघाटन, वंदे भारत एक्सप्रेस को भी दिखाई हरी झंडी