पुरानी पेंशन बहाली की मांग: काले बिल्ले लगाकर कार्यालय पहुंचे प्रदेशभर के NPS कर्मचारी

काले बिल्ले लगाकर कार्यालय पहुंचे NPS कर्मचारी
काले बिल्ले लगाकर कार्यालय पहुंचे NPS कर्मचारी

प्रजासत्ता
नेशनल पेंशन स्कीम (एनपीएस) के तहत आने वाले कर्मचारियों ने बुधवार को पूरे प्रदेश में काला दिवस मनाया गया। एनपीएस कर्मचारियों ने काले बिल्ले लगाकर पुरानी पेंशन बहाली की मांग उठाई। बुधवार को प्रदेशभर में अधिकतर विभागों के एनपीएस कर्मी काले बिल्ले लगाकर कार्यालय पहुंचे। कर्मचारियों द्वारा एनपीएस के विरोध में अपनी बाजू में काले रंग की पट्टी बांधकर अपना रोष प्रकट किया और सरकार को शांतिपूर्ण ढंग से संदेश दिया कि पुरानी पेंशन बहाली के लिए शीघ्राति शीघ्र उचित कदम उठाए।

गौरतलब है कि नई पेंशन नीति से कर्मचारियों के सेवानिवृत्ति व वृद्धावस्था के समय को पूरी तरह से असुरक्षित व चिंताजनक बना दिया है। सेवानिवृत्ति का डर कर्मचारियों को अभी से सताने लगा है। एनपीएस कर्मचारियों काफी समय से प्रदेश व केंद्र सरकार से आग्रह कर रहें है कि कर्मचारियों की इस जायज माग को शीघ्र पूरा करके पुरानी पेंशन योजना को तुरंत बहाल किया जाए।

एनपीएस कर्मचारियों का मानना है कि पुरानी पेंशन योजना लागू होने से सरकारी वित्तीय कोष में कोई भी प्रतिकूल असर नहीं पड़ेगा, बल्कि कॉरपोरेट जगत में जो पैसा कर्मचारियों का जा रहा है वह सीधा सरकारी कोष में जमा होकर सरकार व कर्मचारियों का ही हित होगा। जब कर्मचारी अपना पूरा जीवन सरकारी सेवाओं में दे रहा है तो सरकार का भी यह कर्तव्य बनता है कि उन्हें सेवानिवृत्ति के बाद सामाजिक सुरक्षा की गारंटी सुनिश्चित करें|

बता दें कि 1 जनवरी, 2004 को तत्कालीन केंद्र सरकार ने कर्मचारियों को मिलने वाली पेंशन बंद कर एनपीएस नीति के अंतर्गत नेशनल पेंशन योजना लागू की। इससे देश के तमाम कर्मचारी वर्ग अपने आप को ठगा महसूस कर रहा है। इसके लागू होने से कर्मचारियों की पेंशन को बंद कर दिया है और कर्मचारियों को कॉरपोरेट जगत में धकेल दिया है। इससे कर्मचारियों का भविष्य असुरक्षित हो गया है।