बिलासपुर की 21 वर्षीय बेटी मुस्कान ने ज़िला परिषद का चुनाव जीत कर रचा इतिहास

बिलासपुर की 21 वर्षीय बेटी मुस्कान ने ज़िला परिषद का चुनाव जीत कर कम उम्र में रचा इतिहास

प्रजासत्ता|
हिमाचल प्रदेश की पंचायतीराज संस्थाओं के चुनाव 2020-21 में कई युवा चेहरे जीत कर सामने आ रहे हैं। बिलासपुर जनपद के बरमाणा तहसील में वार्ड नंबर 10 से 21 साल की आजाद उम्मीदवार एडवोकेट मुस्कान ने जिला परिषद के चुनाव जीत दर्ज की है| हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिला की इस बेटी ने सबसे छोटी उम्र (21 साल)में ज़िला परिषद का मुकाम हासिल कर इतिहास रचा है|

बिलासपुर की 21 वर्षीय बेटी मुस्कान ने ज़िला परिषद का चुनाव जीत कर रचा इतिहास

बता दें कि चुनाव प्रचार में मुस्कान एडवोकेट की यूनिफार्म में ही वोट मांगे थे| उनकी इस शानदार जीत से पता चलता है कि एडवोकेट मुस्कान बखूबी अपने विजन को मतदाताओं के बीच रखने में सफल हो पाई| मुस्कान ने जिला परिषद के चुनाव में 3115 वोटों से विजय हासिल की है जो इनके परिजनों,गांव और जिला बिलासपुर के लिए गर्व की बात है।

इसे भी पढ़ें:  NDPS मामले में हिमाचल हाईकोर्ट ने गर्भवती महिला को दी जमानत, कहा-गर्भवती महिलाओं को जेल नहीं, जमानत चाहिए

गौरतलब है कि बरमाणा के ही सरकारी स्कूल से जमा दो की पढ़ाई करने के बाद मुस्कान ने सिरमौर के एक निजी शैक्षणिक संस्थान में कानूनी पढ़ाई में दाखिला लिया था। जमा दो के बाद से हाॅस्टल में रहकर पढ़ाई कर रही मुस्कान ने छोटी उम्र में कई उतार-चढ़ाव भी देखें हैं। जमा दो के बाद कानूनी पढ़ाई के अंतिम समेस्टर की छात्रा मुस्कान को समाजसेवा अपने पिता अमरजीत से विरासत में मिली है।

बिलासपुर की 21 वर्षीय बेटी मुस्कान ने ज़िला परिषद का चुनाव जीत कर रचा इतिहास
बिलासपुर की 21 वर्षीय बेटी मुस्कान ने ज़िला परिषद का चुनाव जीत कर रचा इतिहास