हिमाचल प्रदेश ने रचा इतिहास: तमिलनाडु को हराकर विजय हजारे ट्रॉफी में पहली बार बना चैंपियन

हिमाचल प्रदेश ने रचा इतिहास: तमिलनाडु को हराकर विजय हजारे ट्रॉफी में पहली बार बना चैंपियन

हिमाचल प्रदेश क्रिकेट टीम ने आज विजय हजारे ट्रॉफी के फाइनल में विजय हासिल कर प्रदेश को गौरवान्वित किया है। हिमाचल प्रदेश ने पांच बार की चैंपियन तमिलनाडु को हराकर विजय हजारे ट्रॉफी का चैंपियन बना है। फाइनल में तमिलनाडु ने हिमाचल प्रदेश के सामने 315 रन का लक्ष्य रखा था। हिमाचल ने 47.3 ओवर में चार विकेट पर 299 रन बना लिए थे। इसके बाद खराब रोशनी के चलते अंपायरों ने मैच का नतीजा वीजेडी नियम (वी जयदेवन नियम) से दिया।

इस नियम के मुताबिक मैच में आगे चल रही टीम को विजेता घोषित किया जाता है। कई पैमानों पर इसके स्कोर कैलकुलेट किए जाते हैं। वनडे और टी-20 मैचों में ही सिर्फ इस नियम का इस्तेमाल होता है। इस नियम के मुताबिक, हिमाचल प्रदेश मैच में आगे चल रही थी, तो अंपायरों ने उन्हें विजेता घोषित किया। 

इसे भी पढ़ें:  पढ़ें! हिमाचल प्रदेश मंत्रिमंडल के निर्णय

हिमाचल प्रदेश की जीत में सलामी बल्लेबाज शुभम अरोड़ा का बड़ा योगदान रहा। वो अपना 8वां लिस्ट ए मैच खेल रहे थे और उन्होंने 131 गेंदों में 136 रन बनाए। इस दौरान उनके बल्ले से 13 चौके और एक निकले। अमित कुमार ने उनका अच्छा साथ निभाया। उन्होंने 74 रनों की शानदार पारी खेली। पारी के अंत में कप्तान ऋषि धवन की धुआंधार पारी ने हिमाचल के लिए मैच एकदम आसान बना दिया। उन्होंने 23 गेंदों में नाबाद 42 रन बनाकर अपनी टीम को विजेता बनाया।

तमिलनाडु के लिए विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक ने 116 और बाबा इंद्रजीत ने 80 रनों की पारी खेली। वहीं, शानदार फॉर्म में चल रहे शाहरुख खान ने भी 21 गेंदों पर 42 रन की धमाकेदार पारी खेली, लेकिन इन तीनों की पारियां तमिलनाडु को जीत नहीं दिला पाई। इससे पहले तमिलनाडु पांच बार विजय हजारे ट्रॉफी अपने नाम कर चुकी थी।

इसे भी पढ़ें:  हिमाचल सरकार ने मेडसवान फाउंडेशन को दी 108 और 102 एंबुलेंस की जिम्मेदारी
हिमाचल प्रदेश ने रचा इतिहास: तमिलनाडु को हराकर विजय हजारे ट्रॉफी में पहली बार बना चैंपियन
हिमाचल प्रदेश ने रचा इतिहास: तमिलनाडु को हराकर विजय हजारे ट्रॉफी में पहली बार बना चैंपियन