हिमाचल में बनी 20 दवाओं के सैंपल फेल, केंद्रीय दवा मानक नियंत्रण संगठन ने जारी किया ड्रग अलर्ट

देशभर से लिए जीवनरक्षक दवाओं के 33 सैंपल फेल हुए

हिमाचल समेत विभिन्न राज्यों में बनी 59 दवाओं के सैंपल फेल होने के बाद केंद्रीय दवा मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) ने सोमवार को ड्रग अलर्ट जारी किया है। जिन दवाओं के सैंपल फेल हुए हैं उनमें दर्दनिवारक और कैल्शियम समेत कई दवाएं शामिल हैं।

केंद्रीय दवा मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ)के अलर्ट के बाद हिमाचल ड्रग विभाग ने संबंधित उद्योगों को नोटिस जारी किया है, जल्द इनसे जवाब तलब करेगा। जल्द इन दवाओं का स्टॉक रिकॉल होगा। हिमाचल ड्रग कंट्रोलर नवनीत मारवाह ने बताया कि िन दवाओं के सैंपल बार-बार फेल हो रहे हैं उनमें जीएमपी नियमों की पड़ताल के आदेश जारी किए हैं।

इसे भी पढ़ें:  ड्रग्स कनेक्शन! श्रद्धा हत्याकांड में जांच के लिए हिमाचल प्रदेश पहुंची दिल्ली पुलिस

जिन दवा कंपनियों के सैंपल फेल हुए हैं उनमे टॉर्क फार्म बद्दी की दवा ओरिंडाजोल टैबलेट का बैच. बी22122001, क्रिप्टॉन फार्मा बद्दी की दवा पैरासिटॉमोल-650एमजी का बैच. 21एफ-16, एएनजी लाइफ साइंस नालागढ़ की दवा पैरासिटॉमोल-650एमजी का बैच. टी120210, तीरूपति मेडिकेयर पांवटा साहिब की दवा लेवोसेट्रिजिन टैबलेट का बैच. वीएनई2101, शिवा बॉयोजेनेटिक मानपुरा बद्दी की दवा एलसिफ्लाक्स-500 का बैच. एसीटी21015एसएल, एएनजी लाइफ साइंस नालागढ़ की दवा एस्कॉर्बिक एसिड का बैच. टी392006,

वहीँ एथेनस लाइफ साइंस कालाअंब की दवा कैल्शियम विटामिन का बैच. टीजी-21465, लैबोरेट फार्मा पांवटा साहिब की दवा ओमेप्राजोले कैप्सूल 20एमजी का बैच.एलपीओसी-035, सरवाल लैबोटरी बिलासपुर की दवा लेवोसेटिरीजाइन टैबलेट का बैच. टी-5479, उपकार फार्मा पांवटा साहिब की दवा डोमपेरिडन का बैच. यूसीए-21063, गल्फा लैब बद्दी की दवा एटोरवास्टेटिन टैबलेट का बैच. एवीएटी21006, एलवी लाइफ साइंस बद्दी की दवा सिप्रोफ्लोक्सिन टैबलेट का बैच. एलवी22सीटी-691, वत्स बॉयोटेक सोलन की दवा मोंनटरेस-एल का बैच वीबीजीटी-094 आदि हैं।

इसे भी पढ़ें:  पढ़िए दिलचस्प कहानी: 7 साल बाद 'लामा' का पुनर्जन्म, 4 साल के बच्चे को माना बौद्ध धर्मगुरु
हिमाचल में बनी 20 दवाओं के सैंपल फेल, केंद्रीय दवा मानक नियंत्रण संगठन ने जारी किया ड्रग अलर्ट
हिमाचल में बनी 20 दवाओं के सैंपल फेल, केंद्रीय दवा मानक नियंत्रण संगठन ने जारी किया ड्रग अलर्ट