15 अप्रैल को आरंभ होगी स्वर्णिम हिमाचल रथ यात्रा

15 अप्रैल को आरंभ होगी स्वर्णिम हिमाचल रथ यात्रा

प्रजासत्ता |
हिमाचल दिवस के पावन अवसर पर 15 अप्रैल, 2021 को स्वर्णिम हिमाचल रथ यात्रा आरंभ होगी और 51 दिनों की यह यात्रा प्रदेश की सभी 3615 ग्राम पंचायतों और शहरी स्थानीय निकायों से होकर गुजरेगी। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज यहां रथ यात्रा के लिए राज्य स्तरीय कार्यकारी समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए यह बात कही।

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वर्णिम रथ यात्रा का प्रमुख उद्देश्य प्रत्येक हिमाचलवासी की सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित कर उनमें अपनत्व की भावना उत्पन्न करना है। उन्होंने कहा कि इस यात्रा का लक्ष्य हिमाचल प्रदेश की 50 वर्षों की शानदार विकासात्मक यात्रा प्रदर्शित करने पर केंद्रित होगा। उन्होंने कहा कि इस आयोजन को सफल बनाने के लिए मंत्रिगण, विधायकगण और शहरी स्थानीय निकायों व पंचायती राज संस्थाओं के निर्वाचित प्रतिनिधियों की सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित की जानी चाहिए।

जय राम ठाकुर ने कहा कि स्वर्णिम हिमाचल रथ यात्रा सोशल मीडिया और रथ यात्रा के माध्यम से प्रदेश के लगभग 25 लाख लोगों तक पहुंचेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी विभागों को अपनी उपलब्धियों पर प्रकाश डालने के लिए अपनी भागीदारी सुनिश्चित करनी चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार की उपलब्धियों, नीतियों और कार्यक्रमों पर प्रकाश डालने पर विशेष बल दिया जाएगा जिसके लिए विभाग अपनी विकासात्मक यात्रा को दर्शाती विवरणिका, सूचना, शिक्षा एवं संचार सामग्री उपलब्ध करवाएंगे जिसे डिजिटल रथ के माध्यम से प्रदर्शित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि लोगों के मनोरंजन के लिए स्थानीय व राष्ट्र स्तरीय कलाकारों और सांस्कृतिक दलों को जोड़ा जाना चाहिए और नुक्कड़-नाटकों और गानों के माध्यम से प्रदेश की शानदार यात्रा पर प्रकाश डाला जाना चाहिए।

जय राम ठाकुर ने कहा कि युवाओं और विद्यार्थियों की सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए स्थानीय स्तर पर स्वर्णिम इतिहास पर चर्चा, क्विज प्रतियोगिताएं, वाद-विवाद और चित्रकला प्रतियोगिताएं आयोजित की जानी चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि संपूर्ण स्वर्णिम रथ यात्रा कार्यक्रम की योजना और संकल्पना के लिए राज्य स्तरीय उप समितियों का गठन किया जाना चाहिए। जो संपूर्ण कार्यक्रम की निगरानी और कार्यान्वयन सुनिश्चित करेगी।

विधायक एवं राज्य स्तरीय रथ यात्रा कार्यकारी समिति के अध्यक्ष डाॅ. राजीव बिंदल ने कहा कि राज्य की 50 वर्षो की शानदार यात्रा पर एक विस्तृत प्रस्तुति सुनिश्चित की जाएगी। उन्होंने कहा कि राज्य के विकास के अगले 50 वर्षो केे लक्ष्य और रोडमैप को भी उजागर करने के प्रयास किए जाने चाहिए।

विशेष सचिव अरिन्दम चैधरी ने प्रस्तावित स्वर्णिम हिमाचल रथ यात्रा के बारे में विस्तृत प्रस्तुति दी।

छठे राज्य वित्त आयोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती, मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार त्रिलोक जम्वाल, जिला परिषद् मंडी के अध्यक्ष पाल वर्मा, मुख्य सचिव अनिल खाची, अतिरिक्त मुख्य सचिव जे.सी. शर्मा, सचिव ग्रामीण विकास संदीप भटनागर, आयुक्त एवं निदेशक उद्योेग हंसराज शर्मा, निदेशक पर्यटन यूनुस, निदेशक ऊर्जा हरिकेष मीणा, निदेशक अनुसूचित जाति, ओबीसी, अल्पसंख्यक मामले विवेक भाटिया, निदेशक सूचना एवं जन सम्पर्क हरबंस सिंह ब्रसकोन, पुलिस अधीक्षक शिमला मोहित चावला सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी बैठक में उपस्थित थे।