CRI कसौली में ठेकेदार के पास नौकरी के लिए आए बेरोजगारों से पैसों को मांग, बिफरे कर्मी

CRI कसौली में ठेकेदार के पास नौकरी के लिए आए बेरोजगारों से पैसों को मांग

कसौली।
सीआरआई कसौली में ठेकेदार के माध्यम से एमटीएस के पदों की भर्ती का मामला गर्मा गया है। सीआरआई में हर साल ठेकेदार के माध्यम से 156 कर्मचारी रखे जाते हैं, लेकिन साल का टेंडर खत्म होने के बाद कर्मियों को दो-तीन माह की ब्रेक दे दी जाती है। उसके बाद से नया टेंडर होने पर फिर से कर्मियों को बुला लिया जाता है। लेकिन इस बार टेंडर खत्म होने के बाद तीन माह बीतने के बाद नया टेंडर प्रकिया शुरू हुई है, लेकिन पैसे की लेनदेन को लेकर कर्मी बिफर गए हैं।

जानकारी अनुसार लखनऊ के ठेकेदार को संस्थान में एमटीएस के पद भरने का टेंडर मिला है, लेकिन उसने मौके पर स्वयं पर अन्य लोगों को साक्षात्कार लेकर कर्मी भर्ती करने के लिए अधिकृत कर दिया। अब कर्मियों को रोजगार देने के नाम पर हजारों की राशी की मांग की गई है।

पुराने कर्मियों का कहना है कि वह पिछले आठ से 10 सालों से यहां पर ठेकेदार के माध्यम से एमटीएस के पदों पर नौकरी करते आ रहे हैं, लेकिन
उन्हें ब्रेक के बाद नई नियुक्ति के लिए 13 हजार रूपयों की मांग की जा रही है। पुराने कर्मियों का कहना है कि वह इतने सालों से काम करते आ रहे हैं, कई तो ओवरएज भी हो चुके हैं। ऐसे में उन्हें यहां रोजगार न मिला तो फिर उनका जीवनयापन कैसे होगा।

इसे भी पढ़ें:  ड्रग्स कनेक्शन! श्रद्धा हत्याकांड में जांच के लिए हिमाचल प्रदेश पहुंची दिल्ली पुलिस

पुराने कर्मियों का कहना है कि पहले ही उन्हें तीन माह घर बैठे हुए हो गए हैं। ऊपर से उन्हें फिर से ज्वाइंनिंग के लिए अवैध रूप से हजारों रूपये की मांग करना कहां तक जायज है। उनका कहना है कि जिस ठेकेदार ने टेंडर लिया है, वो न तो फोन उठाता है और न ही उसके कोई आदमी साक्षात्कार के लिए आए हैं। बंद कमरे में साक्षात्कार के नाम पर बेराेजगारों से पैसे की मांग की जा रही है।

पुराने कर्मियों ने कहा कि उन्हें कहा जा रहा है कि यदि पैसे नहीं देने है तो घर जाओ। नौकरी के लिए अनेकों लोग हजारों रुपए लेकर खड़े है। दर्जनों कर्मियों ने इसकी शिकायत एसडीएम कसौली धनबीर ठाकुर को दी, जिस पर उन्होंने मामला कसौली पुलिस व सीआरआई की निदेशक को भेज दी है। उन्होंने कहा कि उन्होंने ठेकेदार से भी शिकायत बारे बात की तो उसने सभी आरोपों को नकार दिया।

इसे भी पढ़ें:  हिमाचल में लोक अदालत में एक साथ हुई 1.13 लाख मामलों की सुनवाई, पहली बार में निपटाए गए हजारों केस

प्रदेश कांग्रेस के सहप्रभारी संजय दत्त व प्रदेश महासचिव विनोद सुल्तानपुरी ने पुराने कर्मियों की मांग को सुना। उन्होंने कहा कि कर्मियों को शांति से अपनी समस्या को सक्षम अधिकारियों के पास रखना चाहिए। उन्होंने कर्मियों को आश्वासन दिया कि वह इस समस्या को प्रदेश में नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री के माध्यम से केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के समक्ष उठाया जाएगा। इस दौरान उनके साथ श्रीरेणुकाजी के विधायक विनय कुमार भी मौजूद रहे।

आम आदमी पार्टी के कसौली से नेता चेतन कंडारा ने भी इस मामले को लेकर भाजपा के विधायक और मंत्री पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि पैसों के लेनदेन में कसौली के कुछ भाजपा नेता भी शामिल है। उन्होंने कहा कि बेरोजगार लोगों से अवैध रूप से वसूली पिछले कई वर्षो से चली आ रही है । पहले भी स्थानीय लोग नौकरी के लिए पैसा दे दिया करते थे लेकिन इस बार ज्यादा पैसों की डिमांड करने के बाद लोगों में काफी रोष हैं उन्होंने इस मामले को लेकर सीबीआई और ईडी द्वारा जांच करवाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि स्थानीय मंत्री को इस मामले में लोगो का समर्थन करना चाहिए लेकिन मामले में भाजपा नेताओं को संलिप्त है इसलिए स्वास्थ्य मंत्री चुप्पी साधे हुए हैं।

इसे भी पढ़ें:  फार्मा हब बद्दी में बनी नकली दवाओं को लेकर हिमाचल सरकार ने देशभर में जारी किया अलर्ट

बता दें कि इस मामले को लेकर एक प्रदर्शन कर रहे कर्मियों ने एक लिखित शिकायत एसडीएम कसौली को बीते कल ही दी थी लेकिन कल शाम को ही उनका तबादला कर दिया गया। शिकायत में पैसों की डिमांड कर रहे कुछ स्थानीय लोगों के नाम भी लिखे गए हैं। जो भाजपा से जुड़े हुए बताए जा रहे हैं।

CRI कसौली में ठेकेदार के पास नौकरी के लिए आए बेरोजगारों से पैसों को मांग, बिफरे कर्मी

CRI कसौली में ठेकेदार के पास नौकरी के लिए आए बेरोजगारों से पैसों को मांग, बिफरे कर्मी

CRI कसौली में ठेकेदार के पास नौकरी के लिए आए बेरोजगारों से पैसों को मांग, बिफरे कर्मी

CRI कसौली में ठेकेदार के पास नौकरी के लिए आए बेरोजगारों से पैसों को मांग, बिफरे कर्मी
CRI कसौली में ठेकेदार के पास नौकरी के लिए आए बेरोजगारों से पैसों को मांग, बिफरे कर्मी

CRI कसौली में ठेकेदार के पास नौकरी के लिए आए बेरोजगारों से पैसों को मांग, बिफरे कर्मी
CRI कसौली में ठेकेदार के पास नौकरी के लिए आए बेरोजगारों से पैसों को मांग, बिफरे कर्मी