कांगड़ा के शक्तिपीठों में कर्मचारियों का चेहरा देख मशीन लगाऐगी हाजरी जिलाधीश ने दिए आदेश

कपिल शर्मा । ज्वालामुखी
हिमाचल के जिला कांगड़ा के समस्त सरकारी अधिग्रहण किए गए मंदिरों शक्तिपीठ ज्वालादेवी, ब्रजेश्वरी देवी, चामुंडा देवी व अन्य मंदिरों जिनमें सरकारी नियंत्रण हैं। उनमें फेस डिटेक्शन वायोमैट्रिक मशीन से कर्मचारियों की हाजरी लगेगी पहली बार नया प्रयोग किया जा रहा हैं। जिसमें कर्मचारी का चेहरा देखकर मशीन हाजिरी लगाऐगी। इसके लिए बाकाएदा जिलाधीश कांगड़ा डा. निपुण जिंदल द्वारा 10 दिनों के भीतर मंदिरों में नई मशीन इंस्टाल करने के आधिकारिक आदेश भी जारी कर दिए गए हैं।

जानकारी के मुताबिक जिला कांगड़ा के सरकारी अधिग्रहण मंदिरों मेें कर्मचारियों व सुरक्षाकर्मीयों द्वारा बाहरी राज्यों से रोजाना हजारों की संख्या में आने वाले श्रद्धालुओं को बेहतर पारदर्शी व जबाबदेह व्यवस्था देने के लिए फेस डिटेक्शन वायोमैट्रिक मशीन जिलाधीश कांगड़ा ने लगाने के आदेश सभी मंदिरों को दिए हैं। जिससे प्रदेश मेें पहला ऐसा जिला बन गया है जंहा पर यह नई तकनीक की फेस डिटेक्शन वाली मशीन लगवाई जा रही है। यदि यह प्रयोग सफल होता है तो प्रदेश के समस्त सरकारी मंदिरों में भी इसे अपनाया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें:  शर्मसार: जयसिंहपुर में शिव मंदिर के बाहर छोड़ गए नवजात, ठंड से हुई मौत

वहीं ज्वालादेवी मंदिर में कनिष्ठ अभियंता जितेन्द्र शर्मा को मंदिर प्रशासन की ओर से इस मशीन को लगवाने व समस्त 100 मंदिर कर्मीयों व सुरक्षाकर्मीयों की डिटेल इस मशीन मेें दर्ज करने का जिम्मा दे रखा है। मशीन में डाटा फीड करने का कार्य किया जा रहा हैं। उसके बात इस मशीन को संचालित किया जाएगा।

जिलाधीश कांगड़ा डा. निपुण जिंदल के आदेश मिलने के बाद ज्वालामुखी मंदिर में फेस डिटेक्शन मशीन इंस्टाल की जा रही है जिससे मंदिर के प्रत्येक कर्मचारी व सुरक्षाकर्मी का चेहरा देखकर मशीन खुद उस कर्मी की हाजिरी लगाऐगी। मंदिर में बेहतर पारदर्शी व जबाबदेह व्यवस्था बनाने के लिए यह नई अत्याधुनिक तकनीक अपनाई जा रही है जो की अपनेआप में अनूठी है।
धनवीर ठाकुर सहायक मंदिर आयुक्त व एसडीएम ज्वालामुखी मंदिर

इसे भी पढ़ें:  दुःखद: धर्मशाला में बर्फ में फंसे चार युवकों में से दो की हुई मौत

फेस डिटेक्शन वायोमैट्रिक मशीन का क्या होगा फाएदा
फेस डिटेक्शन मशीन से मंदिर में कार्यरत कर्मचारियों और सुरक्षाकर्मीयों को खुद मशीन के सामने आकर अपना चेहरा दिखाना होगा और तभी हाजिरी मशीन खुद आटोमैटिक लगा लेगी। कर्मचारी को फ्रिंगर प्रिंट व बिना मशीन को छुए ही हाजिरी लग पाएगी यह मशीन अपने आप में नई तकनीक से युक्त हैं जिससें कर्मी समय पर डयूटी पर आने के लिए बाध्य होंगें कोई भी किसी अन्य कर्मी की हाजिरी नही लगा सकेगा। इससे मंदिरों में बेहतर प्रंबधन व्यवस्था बनाने में पारदर्शिता आऐगी।

कांगड़ा के शक्तिपीठों में कर्मचारियों का चेहरा देख मशीन लगाऐगी हाजरी जिलाधीश ने दिए आदेशकांगड़ा के शक्तिपीठों में कर्मचारियों का चेहरा देख मशीन लगाऐगी हाजरी जिलाधीश ने दिए आदेशकांगड़ा के शक्तिपीठों में कर्मचारियों का चेहरा देख मशीन लगाऐगी हाजरी जिलाधीश ने दिए आदेशकांगड़ा के शक्तिपीठों में कर्मचारियों का चेहरा देख मशीन लगाऐगी हाजरी जिलाधीश ने दिए आदेशकांगड़ा के शक्तिपीठों में कर्मचारियों का चेहरा देख मशीन लगाऐगी हाजरी जिलाधीश ने दिए आदेशकांगड़ा के शक्तिपीठों में कर्मचारियों का चेहरा देख मशीन लगाऐगी हाजरी जिलाधीश ने दिए आदेश
कांगड़ा के शक्तिपीठों में कर्मचारियों का चेहरा देख मशीन लगाऐगी हाजरी जिलाधीश ने दिए आदेश