हम नही सुधरेंगे, ठेकेदार द्वारा घटिया निर्माण सामग्री का किया जा रहा उपयोग

बलजीत। इंदौरा
लोकनिर्माण विभाग के एक्सियन ने रुकवाया कार्य, सही मानको की निर्माण सामग्री का उपयोग करने की दी नसीहत।
इन्दौरा उपमंडल में पड़ते गांव बाई इंदौरिया व मण्ड मयानी के बीच बन रही सड़क मार्ग का कार्य जिस ठेकेदार को मिला है अपनी हरकतों से बाज नहीँ आ रहा और घटिया सामग्री का प्रयोग कर सरकार के मापदंडों को पूरा न कर उसको ठेंगा दिखा रहा है जो कि सरासर गलत है। पत्रकार के द्वारा ठेकेदार से प्रश्न पूछने पर की आप ने यह सड़क निर्माण के लिए खड्ड या नदी का रेत व बजरी कहाँ से ला रहे है तो ठेकेदार ने जवाब दिया कि मैं आपको जवाब क्यूँ दूँ।जब उक्त ठेकेदार से बोला गया कि आप को इसी कार्य में देरी करने के लिए
23 लाख रुपये जुर्माना पड़ा है तो बोला उस से उसको कोई फर्क नहीँ पड़ता।ऐसे जुर्माने लगते रहतें हैं और आप कौन होते हैं मुझसे पूछने वाले कि मैं कैसा काम कर रहा हूँ और क्या सामग्री इसमें डाल रहा हूँ।


पत्रकारों के द्वारा सूचना देने पर लोक निर्माण विभाग के अदिशासी अभियंता अरुण वशिष्ठ ने उक्त कार्य में अनियमितताओं को देखते हुए कार्य को बंद करवा दिया तथा बेड मिक्स में पड़े बड़ें पत्थरों को निकालने के आदेश मजदूरों को दिये थे पर उक्त ठेकेदार जब कार्यस्थल पर पहुंचा तो उसकी बेबाकी को देखकर ऐसा लग रहा था कि लोक निर्माण विभाग के अफसरों का उसे कोई डर नहीँ ओर ऐसा प्रतीत हो रहा था कि ठेकेदार के पास लोकनिर्माण विभाग के अफसर कार्य कर रहे हों क्योंकि ठेकेदार की बोलबानी आर्डर देने वाली थी न कि सुनने वाली।

जब इस विषय में लोक निर्माण विभाग के अदिशासी अभियंता अरुण वशिष्ठ से बात हुई तो उन्होंने कहा कि उक्त सामग्री बहुत बढ़िया है और यहाँ पर जो कमी पाई गई उसको दरुस्त करने के आदेश दे दिए हैं ।उक्त सड़क में किसी भी प्रकार का घटिया सामग्री पाए जाने को विभाग बर्दाश्त नहीँ करेगा।