221 पौंग बांध विस्थापितों के लिए राजस्थान के जैसलमेर,रामगढ़ व मोहनगढ़ में नया भूमि आबंटन

221 पौंग बांध विस्थापितों के लिए राजस्थान के जैसलमेर,रामगढ़ व मोहनगढ़ में नया भूमि आबंटन

अनिल शर्मा |राजा का तालाब
राजस्थान के जैसलमेर, रामगढ़ व मोहनगढ़ में 221 पौंग बांध विस्थापितों को एक अक्तूबर को नया भूमि आबंटन किया गया है। राहत एवं पुनर्वास उपायुक्त राजा का तालाब शमशेर सिंह ने उक्त आशय की जानकारी देते हुए बताया कि जिन पौंग बांध विस्थापितों ने द्वितीय चरण में भू आबंटन के लिए सहमति पत्र दिए थे। उनमें से 221 विस्थापितों को द्वितीय चरण में जैसलमेर, मोहनगढ़ व रामगढ़ में भू आबंटन कर दिया गया है।

उपयुक्त ने बताया कि उपायुक्त बीकानेर से हुई बैठक में विस्थापितों के कुछ महत्वपूर्ण मुद्दों पर भी चर्चा हुई।विस्थापितों की समस्याओं के बारे में उपायुक्त बीकानेर को लिखित रूप से भी अवगत करवा दिया गया है।उपायुक्त शमशेर सिंह ने बताया कि जिन विस्थापितों को हाल ही में राजस्थान में भू-आबंटन हो चुका है और उन्होंने वहां पर कब्जा ले लिया है। वो लोग चाहें तो आबादी के लिए उन्हें उनके चेक में भूमि उपलब्ध करवाई जाएगी।

इस विषय मे विस्थापित संबंधित तहसीलदार से मिलकर आबादी के लिए भूमि ले सकते हैं।जबकि कुछ मामलों में अगर विस्थापितों को हाल ही में भू आबंटन होने के उपरांत किसी कारणवश कब्जा नहीं मिल पाया। तो ऐसे मामलों में विस्थापित किसी भी कार्यदिवस पर उनके कार्यालय में आकर अपनी समस्या के बारे में बता सकते हैं।

उपायुक्त राजा का तालाब का कहना है कि 2016 से 2019 तक जिन विस्थापितों ने राजस्थान में भू आबंटन के लिए आवेदन किया था।वो उपायुक्त कार्यालय राजा का तालाब से फोन आने पर अपनी समस्त औपचारिकतायें जल्द पूर्ण करके उन्हें दे जाएं।उपायुक्त शमशेर सिंह ने विस्थापितों को सचेत किया कि वो बहकावे में न आकर अपने किसी भी व्यक्ति को अपने भू आबंटन से संबंधित दस्तावेज न दें। और यदि उनके मन मे किसी तरह की कोई दुविधा हो तो उसके समाधान हेतू वो उनसे मिल सकते हैं।