हेलीकॉप्टर के माध्यम से आपदा प्रभावित क्षेत्र से 2 गर्भवती महिलाओं को किया एयरलिफ्ट

हेलीकॉप्टर के माध्यम से आपदा प्रभावित क्षेत्र से 2 गर्भवती महिलाओं को किया एयरलिफ्ट

मंडी|
संकटग्रस्त लोगों के प्रति सहानुभूति पूर्ण दृष्टिकोण और मानवीय सहायता के एक उल्लेखनीय उदाहरण में हिमाचल की सुक्खू सरकार ने शनिवार को बालीचौकी उपमंडल के आपदाग्रस्त क्षेत्र खोलानाल की दो गर्भवती महिलाओं रेश्मा और बोलमा को एयरलिफ्ट कर जोनल अस्पताल मंडी पहुंचाया। ये महिलाएं अपने परिवारों के साथ बीते कल से नगवाईं राहत शिविर में थीं।

जिलाधीश अरिंदम चौधरी ने बताया कि मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू के निर्देश के अनुपालन में जिला प्रशासन ने शनिवार सुबह करीब 8 बजे दोनों महिलाओं को वायुसेना के हेलीकॉप्टर से भुंतर एयरपोर्ट से लिफ्ट कर मंडी अस्पताल पहुंचाया, जहां उन्हें आवश्यक चिकित्सा देखभाल प्राप्त हो सकी। उनकी रूटीन चेकअप की गई। उनके पति भी उनके साथ रहे।

उल्लेखनीय है कि हिमाचल सरकार संकट के समय में केवल तत्काल राहत ही नहीं बल्कि समग्र दृष्टिकोण से प्रत्येक नागरिक के जीवन की सुरक्षा और स्वास्थ्य रक्षा पर ध्यान दे रही है। सुख की सरकार के राहत भरे कदम संवेदनशीलता भरे स्पर्श और सहानुभूतिपूर्ण दृष्टिकोण से लोगों की सहायता और जन सेवा के प्रति समर्पण भाव से प्रेरित हैं ।

सीएम का आभार
मदद पाने पर बोलमा तथा रेश्मा और उनके परिवारों ने सीएम ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू का आभार जताया। उन्होंने कहा कि उनकी चिंता करने, तत्परता से मदद करने के लिए वे मुख्यमंत्री की धन्यवादी हैं।
बता दें, 22-23 अगस्त को हुई भीषण बारिश और बाढ़ से खोलानाल में रास्ते ध्वस्त हो गए थे, जिससे इस इलाके का बाहरी दुनिया से संपर्क कट गया था। मुख्यमंत्री श्री सुखविंदर सिंह सुक्खू के निर्देशों के अनुरूप जिला प्रशासन ने लोगों की सुरक्षा तय बनाने को तत्परता से कार्य करते हुए उनकी सुरक्षित निकाल कर नगवाईं राहत शिविर में ठहराया था।

तीसरे दिन भी जारी रही राहत की उड़ान
वहीं, मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू मंडी के निर्देशों के अनुरूप मंडी जिले के दुर्गम इलाकों में राशन और अन्य आवश्यक सामग्री पहुंचाने को समर्पित ‘हेली राहत ऑपरेशन’ लगातार तीसरे दिन भी जारी रहा। वायु सेना के हेलीकॉप्टर के माध्यम से थुनाग और बालीचौकी उपमंडल के आपदा प्रभावित क्षेत्रों में राशन, दवाओं और अन्य आवश्यक सामग्री की खेप पहुंचाई गईं।

बता दें, 22 और 23 को हुई भीषण बारिश, फ्लैश फ्लड और भूस्खलन के कारण के बालीचौकी और थुनाग उपमंडल के दूरदराज क्षेत्रों में भारी तबाही हुई थी। वहां रास्ते ध्वस्त होने के कारण आवागमन में दिक्कत आई है। ऐसे में वहां हेलीकॉप्टर के माध्यम से राशन और अन्य आवश्यक सामग्री भेजने की व्यवस्था की गई है। प्रशासन ने वीरवार और शुक्रवार को भी हेलीकॉप्टर के माध्यम से इन क्षेत्रों में राहत सामग्री की खेप पहुंचाई थी।