कार चला रहे दीपक को लगा कुछ फंसा है


Delhi Sultanpuri Accident: दिल्ली में कार के नीचे लड़की को 13 किलोमीटर घसीटे जाने के मामले में नया खुलासा हुआ है। पूछताछ के दौरान गिरफ्तार किए गए पांचों आरोपियों में से गाड़ी चला रहे शख्स दीपक खन्ना ने बताया कि उसे लगा कि गाड़ी के नीचे कुछ फंसा है। उसने इस बारे में जब साथियों को बताया तो उन्होंने कहा कि कुछ भी नहीं है, तुम चलते रहो।

कार चला रहे दीपक ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि स्कूटी को टक्कर लगने के बाद कुछ किलोमीटर बाद मुझे लगा कि कार के नीचे कुछ फंस गया है, लेकिन गाड़ी में बैठे अन्य चार लोगों ने उसे गाड़ी चलाने के लिए कहा। सूत्रों का कहना है कि पांचों आरोपियों ने पुलिस को बताया है कि दुर्घटना के बाद उन्हें ये नहीं पता था कि गाड़ी के नीचे अंजलि फंस गई है और वो गाड़ी के साथ घिसट रही है।

कार के अंदर पी थी शराब

आरोपियों ने पूछताछ में ये भी बताया है कि उन्होंने कार के अंदर ही बैठकर दो बोतल शराब पी थी। उन्होंने घटना के दौरान नशे में होने की बात भी कबूली है। बाते दं कि हादसा रविवार को उस वक्त हुआ जब दिल्ली के सुल्तानपुरी में रात करीब 2 बजे इवेंट मैनेजमेंट कंपनी में काम करने वाली अंजलि स्कूटी से अपनी एक अन्य सहेली के साथ घर लौट रही थी।

हादसे के वक्त दुर्घटना को अंजाम देने वाली बलेनो कार दीपक खन्ना चला रहा था जबकि गाड़ी में उसके बगल में बाएं मिथुन बैठा था जबकि पीछे की सीट पर अमित खन्ना, मनोज मित्तल और कृष्ण बैठा था।

इसे भी पढ़ें:  बेंगलुरू से 55 यात्रियों को छोड़ उड़ गया था गो फर्स्ट विमान, लगा 10 लाख रुपये का जुर्माना

यू-टर्न पर दिखा अंजलि का हाथ, तब रोकी कार

अधिकारियों के मुताबिक, पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि कार को कंझावला के जोंटी गांव में तब रोका गया जब दीपक के बगल में बैठे मिथुन ने यू-टर्न लेते समय अंजलि का हाथ देखा। कार को रोके जाने के बाद अंजलि की मदद करने के बजाए उन्होंने उसकी लाश को सड़क पर छोड़ दिया और भाग निकले।

पार्टी के लिए दोस्त से मांगी थी कार

पूछताछ में ये भी सामने आया कि आरोपियों ने आशुतोष नाम के दोस्त से कार पार्टी के लिए ली थी। हादसे के बाद पुलिस ने जब कार की डिटेल निकाली तो पता चला कि कार किसी लोकेश के नाम पर रजिस्टर्ड है। फिर लोकेश से बात की गई तो पता चला कि उसने आशुतोष को कार दी थी जिसने इसे अपने दोस्तों अमित और दीपक को पार्टी के लिए दिया था।

इसे भी पढ़ें:  देश में दम तोड़ रहा कोरोना, 24 घंटे में आए मात्र 60 नए केस

जांचकर्ताओं ने यह भी पाया है कि हादसे के वक्त अंजलि अपने एक दोस्त के साथ थी। सूत्रों ने कहा कि हादसे के वक्त अंजिल की दोस्त को मामूली चोटें आईं और वह मौके से घर चली गई। पुलिस सूत्रों ने कहा कि उन्होंने अंजलि की दोस्त का पता लगा लिया है और जल्द ही उसका बयान दर्ज किया जाएगा।

बता दें कि आरोपियों को रविवार रात गिरफ्तार किया गया। उन पर गैर इरादतन हत्या, लापरवाही से मौत और आपराधिक साजिश रचने का आरोप लगाया गया है। स्थानीय लोगों के भारी विरोध के बीच गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली पुलिस आयुक्त संजय अरोड़ा को पूरी जांच करने का निर्देश दिया है।

इसे भी पढ़ें:  जानें कितने बदलावों से गुजरा देश का केंद्रीय बजट

मां और छोटे भाई-बहनों के साथ अमन विहार में रहती थी अंजलि

बता दें कि अंजलि सिंह अपनी मां और छोटे भाई-बहनों के साथ उत्तर पश्चिमी दिल्ली के अमन विहार में रहती थी। उसके पिता की कुछ साल पहले मौत हो गई थी। अंजलि की मां रेखा ने आरोप लगाया कि आरोपियों ने उसका यौन उत्पीड़न किया। उन्होंने कहा, “जब अंजलि की लाश मिली थी तब वह न्यूड थी। मैं पूरी जांच और न्याय चाहती हूं।”





Source link

कार चला रहे दीपक को लगा कुछ फंसा है
कार चला रहे दीपक को लगा कुछ फंसा है