कोरोना के बढ़ते मामलों ने केंद्र और राज्य सरकारों की उड़ाई नींद

देश में कोरोना के मामलों में तेजी से इजाफा देखने को मिल रहा है।

प्रजासत्ता |
देश में कोरोना के मामलों में एकबार फिर तेजी से इजाफा देखने को मिल रहा है। कोरोना के बढ़ते मामलों ने केंद्र और राज्य सरकारों की नींद उड़ा दी है। यही वजह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करेंगे। ये बैठक वैक्सीनेशन और कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर होगी। बैठक कल दोपहर साढ़े 12 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगी।

कोरोना के बढ़ते मामलों ने केंद्र और राज्य सरकारों की उड़ाई नींद

पीएम मोदी की तरफ से यह बैठक उस वक्त हो रही है जब देश में इस साल की शुरुआत में कोरोना के 10 हजार रोजाना की तुलना में बढ़कर रोजाना 25 हजार तक पहुंच गए हैं। पिछले हफ्ते यानी 8 मार्च से 15 मार्च के बीच मौतों की संख्‍या में भी 28 फीसदी का इजाफा देखा गया, जो पिछले छह हफ्तों में सबसे ज्‍यादा है।

जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी 17 मार्च को मुख्यमंत्रियों की बैठक में वैक्सीनेशन पर जोर देने की चर्चा करेंगे। इसके साथ ही पीएम राज्यों से कोरोना के खिलाफ जारी लड़ाई और टीकाकरण अभियान की प्रोग्रेस भी जानेंगे।

देश में कोरोना की तीसरी लहर शुरू हो चुकी है। कई राज्यों में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। महाराष्ट्र, दिल्ली, केरल और कर्नाटक समेत कई राज्यों में एक बार फिर कोरोना के मामलों में इजाफा देखा गया है। महाराष्ट्र में बढ़ते कोरोना मामलों को लेकर कई शहरों में फिर से सख्ती बरती जा रही है और लॉकडाउन लगा दिया है। महाराष्ट्र के शहर नागपुर में पूर्ण लॉकडाउन लगा दिया गया है। इसके अलावा पंजाब में नाइट कर्फ्यू लगाया गया है।

स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, भारत में पिछले 24 घंटों में 24,492 नए कोविड-19 मामले सामने आए हैं। आज के सरकारी आंकड़ों के अनुसार, एक साल पहले आए प्रकोप के बाद से भारत में अब तक 1,14,09,831 मामले दर्ज किए गए हैं। भारत का कुल COVID-19 सक्रिय केसलोड 2,23,432 है।

24 घंटे की अवधि में भारत में वायरस से जुड़ी 131 मौतों की रिपोर्ट की, जिससे मरने वालों की कुल मरने वालों की संख्या 1,58,856 हो गई है। हालांकि राहत की बात यह है कि इस महामारी से ठीक होने वाले लोगों की तादाद 1,10,27,543 करोड़ को पार कर गई है।

कोरोना के बढ़ते मामलों ने केंद्र और राज्य सरकारों की उड़ाई नींद
कोरोना के बढ़ते मामलों ने केंद्र और राज्य सरकारों की उड़ाई नींद