कोरोना वैक्सीन को लेकर भारत का इंतजार खत्म,WHO ने भी भारत का माना लोहा

dry-run-for-vaccine-administration-in-all-states

प्रजासत्ता|
कोरोना वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) को लेकर भारत का इंतजार अब खत्म हो गया है| ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा निर्मित ऑक्सफोर्ड के कोविड-19 टीके ‘कोविशील्ड’ और भारत बायोटेक के स्वदेश में विकसित टीके ‘कोवैक्सीन’ के देश में सीमित आपात इस्तेमाल को रविवार को मंजूरी दे दी|

जिससे व्यापक टीकाकरण अभियान का रास्ता साफ हो गया है. डीसीजीआई ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह बात कही| ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया वी.जी. सोमानी ने कहा कि दोनों कंपनियों ने ट्रायल रन के आंकड़े जमा कर दिए हैं और दोनों को “सीमित उपयोग” के लिए मंजूरी दी जाती है|


वहीँ विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भारत में कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड और कोवैक्सीन को डीसीजीआई से मंजूरी का स्वागत किया है। डब्ल्यूएचओ ने बयान जारी कर कहा है कि भारत की ओर से आज लिया गया यह निर्णय क्षेत्र में कोरोना वायरस की महामारी के खिलाफ लड़ाई को तेज और मजबूत करने में मदद करेगा। WHO साउथ ईस्ट रीजन के क्षेत्रीय निदेशक डॉक्टर पूनम खेत्रपाल सिंह ने कहा है कि कोरोना वायरस के प्रभाव को कम करने के लिए पब्लिक हेल्थ के अन्य उपायों के साथ ही सामुदायिक भागीदारी और प्राथमिकता के आधार पर आबादी पर वैक्सीन का उपयोग महत्वपूर्ण होगा।


डीसीजीआई द्वारा देश में कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड और कोवैक्सीन को इमरजेंसी इस्तेमाल की अनुमति मिलने पर प्रधानमंत्री मोदी ने भी बधाई दी है। पीएम मोदी ने देशवासियों और वैक्सीन विकसित करने वाले वैज्ञानिकों को बधाई देते हुए इसे आत्मनिर्भर भारत की दिशा में महत्वपूर्ण कदम बताया है। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा है कि इससे कोरोना मुक्त और स्वस्थ भारत के निर्माण के अभियान को गति मिलेगी।

कोरोना वैक्सीन को लेकर भारत का इंतजार खत्म,WHO ने भी भारत का माना लोहा
कोरोना वैक्सीन को लेकर भारत का इंतजार खत्म,WHO ने भी भारत का माना लोहा