कोवैक्सिन को ब्रिटेन ने दी मंजूरी, टीका लेने वाले लोगों को नहीं होना पड़ेगा क्वारंटाइन

covaccine

ब्रिटेन ने कहा कि वह इस महीने के अंत में विश्व स्वास्थ्य संगठन की आपातकालीन उपयोग सूची में कोविड-19 टीकों को मान्यता देगा। इसके बाद वह चीन के सिनोवैक, सिनोफार्मा और भारत के कोवैक्सिन को देश में आने वाले यात्रियों के लिए टीकों की अनुमोदित सूची में शामिल करेगा।
22 नवंबर से लागू होने वाले परिवर्तनों से संयुक्त अरब अमीरात, मलेशिया और भारत सहित देशों के पूरी तरह से टीकाकरण वाले लोगों को लाभ होगा।

ब्रिटेन सरकार ने अपने अपडेट में कहा है कि 22 नवंबर सोमवार को सुबह 4 बजे से सरकार विश्व स्वास्थ्य संगठन की आपातकालीन उपयोग सूची (WHO EUL) पर टीकों को मान्यता देगी। नतीजतन, सिनोवैक, सिनोफार्म बीजिंग और कोवैक्सिन को इनबाउंड यात्रा के लिए अनुमोदित टीकों की हमारी सूची में जोड़ा जाएगा, जिससे संयुक्त अरब अमीरात, मलेशिया और भारत जैसे देशों के अधिक पूर्ण टीकाकरण वाले लोगों को लाभ होगा। अमेरिका डब्ल्यूएचओ ईयूएल पर इनबाउंड यात्रा के लिए टीकों को भी मान्यता देता है।

इसे भी पढ़ें:  सेना दिवस विशेष: जानिए क्यों 15 जनवरी को मनाया जाता है सेना दिवस( Army Day)

इसमें कहा गया है कि जिन यात्रियों को पूरी तरह से टीका लगाया गया है और 135 से अधिक स्वीकृत देशों और क्षेत्रों में से एक से अपना टीका प्रमाण पत्र प्राप्त किया है, उन्हें आगमन पर पूर्व-प्रस्थान परीक्षण, दिन 8 परीक्षण या क्‍वारंटीन करने की आवश्यकता नहीं है। इसके बजाय, यात्रियों को अपने दूसरे दिन, आगमन के बाद के अंत से पहले लेने के लिए केवल फ्लो टेस्ट परीक्षण के लिए भुगतान करना होगा।

परिवहन विभाग ने सोमवार को कहा कि यात्रा नियमों को और सरल बनाया जा रहा है, क्योंकि 18 वर्ष से कम आयु के सभी लोग, जिन्हें पूरी तरह से टीका लगाया गया है, आगमन पर क्‍वारंटाइन किए बिना इंग्लैंड में प्रवेश करने में सक्षम होंगे।
साभार:- न्यूज़ 24

इसे भी पढ़ें:  आपराधिक रिकॉर्ड छिपाने वाली पार्टियों पर कार्रवाई की मांग वाली याचिका पर सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट
कोवैक्सिन को ब्रिटेन ने दी मंजूरी, टीका लेने वाले लोगों को नहीं होना पड़ेगा क्वारंटाइन
कोवैक्सिन को ब्रिटेन ने दी मंजूरी, टीका लेने वाले लोगों को नहीं होना पड़ेगा क्वारंटाइन