छात्रों की हुंकार: जब ट्वीटर पर ट्रेंड हुआ “मोदी रोजगार दो”,किए 2 मिलियन से अधिक ट्वीट

लाखों छात्र और अध्यापक एक बड़े 'डिजिटल आंदोलन' की तैयारी में

प्रजासत्ता नेशनल डेस्क।
देश में लगातार बढ़ती बेरोजगारी से परेशान लोगों ने रविवार को सोशल मीडिया में सरकार से रोजगार मांगा । रविवार को सोशल मीडिया पर ‘मोदी रोजगार दो’ ट्रेंड करता रहा लोगों ने प्रधानमंत्री से उन्हें रोजगार देने की मांग की। बता दें कि रविवार को “मोदी रोजगार दो” की मांग के साथ लोगों ने 2 मिलियन से भी अधिक ट्वीट किए। लोगों ने सरकार से सवाल किया कि 2 करोड़ रोजगार के वादे कहा हैं ? आम लोगों के साथ – साथ विपक्षी नेताओं की तरफ से भी ट्वीट किए गए ।

गौरतलब है कि अभिनय शर्मा नाम के एक युवक ने 25 फरवरी को modi_rojgar_do के हैशटैग के साथ विशाल ट्विटर कैंपेंन का ऐलान किया जिसमें उन्होनें सभी अन्य अध्यापकों, छात्रों और तमाम लोगों से अपील करी कि वे सभी 25 फरवरी को इस ‘डिजिटल आंदोलन’ में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लें ताकि सरकार के कानों तक ये गूंज जाएं और वे समझे कि देश का छात्र और युवा किस वेदना से गुज़र रहा है।

हालांकि ट्विटर कैंपेन की तारीख 25 फरवरी तय की गई थी। 25 की सूरत-ऐ-हाल तो 25 को पता चलेगी परंतु इस तय तारीख से पहले ही 21 तारीख को ही ट्विटर पर modi_rojgar_do नम्बर-1 ट्रेंडिंग में रहा जिससे छात्रों के आक्रोश का अंदाजा लगाया जा सकता है।

गौरतलब है कि कोरोना संकट के बाद से देश में रोजगार संकट लगातार बढ़ता ही जा रहा है । आइएलओ के आंकड़ों के अनुसार विश्व में औसत रोजगार दर 57 फीसदी है । जबकि भारत की औसत रोजगार दर 47 फीसदी है । पड़ोसी देश पाकिस्तान , श्रीलंका और बांग्लादेश भी भारत से इस मामले में आगे है । पाकिस्तान और श्रीलंका का रोजगार दर कमश : पचास और इक्यावन फीसदी है । जबकि बांग्लादेश में रोजगार दर 57 फीसदी है ।