बिहार की 243 विधानसभा सीटों के लिए तीन चरणों में होगी वोटिंग, जानिए 10 खास बातें

बिहार चुनाव: 28 अक्टूबर, 3 नवंबर और 7 नवंबर को मतदान, 10 नवंबर को काउंटिग
बिहार चुनाव: 28 अक्टूबर, 3 नवंबर और 7 नवंबर को मतदान, 10 नवंबर को काउंटिग

प्रजासत्ता|
भारत निर्वाचन आयोग ने शुक्रवार को बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने बताया कि बिहार विधानसभा चुनाव कुल तीन चरणों में होंगे। पहले चरण में 16 जिलों के 71 विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव होंगे। दूसरे चरण में कुल 17 जिलों के 94 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान होंगे। तीसरे चरण में 15 जिलों के 78 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान होंगे। उन्होंने बताया कि पहले चरण के लिए एक अक्टूबर को अधिसूचना जारी होगी। पहले चरण के लिए 28 अक्टूबर, दूसरे चरण के लिए तीन नवंबर और तीसरे चरण के लिए 7 नवंबर को मतदान होगा। वोटों की गिनती 10 नवंबर को होगी।

जानिए चुनाव से जुडी 10 खास बातें
बिहार राज्‍य के विधानसभा चुनाव के लिए इस बार सुबह सात से शाम 6 बजे तक वोटिंग होगी| मतदान की अवधि को इस बार खास एक घंटे के लिए बढ़ाया गया है| वहीं उम्मीदवारों के लिए ऑनलाइन नामांकन की व्यवस्था की गई है| वहीं, कोरोना मरीज और क्वारंटीन में रह रहे मरीज भी वोट डाल सकेंगे|

बिहार की 243 सीटों पर चुनाव होगा| राज्‍य में इस समय नीतीश कुमार के नेतृत्‍व वाली सरकार सत्‍ता पर काबिज है|

डोर टू डोर कैंपेन के लिए भी संख्‍या सीमित की गई है| घरों में प्रचार के दौरान केवल पांच लोग ही जा सकेंगे| यही नहीं, नामांकन भी ऑनलाइन भरा जाएगा और डिपोजिट भी ऑनलाइन सबमिट किया जा सकेगा|

पिछली बार के मुकाबले इस बार के चुनाव इस मायने में अलग होंगे कि पिछले बार नीतीश के जेडीयू, आरजेडी और कांग्रेस ने मिलकर चुनाव लड़ा था और बीजेपी को हराया था. बाद में नीतीश के जेडीयू के आरजेडी से संबंध खराब होते गए| जेडीयू ने आरजेडी और कांग्रेस से संबंध तोड़ते हुए बीजेपी से हाथ मिला लिया| इस बार चुनाव में नीतीश के जेडीयू और बीजेपी का गठबंधन मैदान में उतरेगा |

कोरोना काल के चलते एक पोलिंग बूथ में वोटरों की संख्‍या में कमी की गई है| नई व्‍यवस्‍था के तहत एक पोलिंग बूथ में 1500 की बजाय एक हजार वोटर्स आएंगे, जिससे पोलिंग बूथ की संख्या बढ़ेगी| चुनाव आयुक्त ने बताया कि आज से आचार संहिता लागू हो चुकी है|

कोरोना काल में वोटिंग कराने वाले ऑफिशियल और वोटरों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए खास इंतजाम होंगे| चुनाव की तैयारी के लिए 46 लाख मास्क, 6 लाख पीपीई किट, 7.2 करोड़ सिंगल यूज़ हैंड ग्लव्स, 7 लाख हैंड सैनिटाइजर्स, 23 लाख ग्लव्स का इंतजाम होगा|

43 सदस्यों वाले बिहार विधानसभा का 29 नवंबर को कार्यकाल खत्म हो रहा है| चुनाव आयोग ने बताया है कि चुनाव के दौरान कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए कई उपाय अपनाए जा रहे हैं|

संक्रमित या फिर संदिग्ध कोरोना मरीज चुनाव के दिन मतदान के आखिरी घंटों में वोट डालेंगे| उनके साथ हेल्थ अथॉरिटी भी होंगी| दिव्यांग वोटरों के लिए वोट डालने की सुविधा पोलिंग बूथ पर ग्राउंड फ्लोर पर की जाएगी और उन्हें व्हीलचेयर वगैरह की सुविधा दी जाएगी|

कोरोनावायरस के बीच चुनाव करना किसी चुनौती से कम नहीं है| चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि ‘महामारी में बड़े उतार-चढ़ाव दिखे हैं| हमें यह स्पष्ट हो गया था कि महामारी के बीच ही हमें लोगों की सुरक्षा का ध्यान रखते हुए उनके लोकतांत्रिक अधिकारों को बनाए रखते हुए चुनाव कराने हैं. हमने शुरुआत राज्यसभा चुनावों और विधान परिषद चुनावों से की थी|

इससे पहने सुप्रीम कोर्ट ने बिहार राज्‍य में विधानसभा चुनाव टालने से संबंधित मांग वाली याचिका पर सुनवाई से इनकार कर दिया| शीर्ष अदालत ने कहा, हम पहले ही स्‍पष्‍ट कर चुके हैं कि देश का चुनाव हालात के अनुसार फैसला लेने में समर्थ है|

बिहार चुनाव: 28 अक्टूबर, 3 नवंबर और 7 नवंबर को मतदान, 10 नवंबर को काउंटिग
बिहार चुनाव: 28 अक्टूबर, 3 नवंबर और 7 नवंबर को मतदान, 10 नवंबर को काउंटिग