बड़ी ख़बर: कोवैक्‍सिन के 2 से 18 साल के बच्चों पर क्‍लीनिकल ट्रायल को मिली मंजूरी

dry-run-for-vaccine-administration-in-all-states

प्रजासत्ता नेशनल डेस्क|
देश में कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में अब बच्चों के लिए आने वाले दिन में अच्छी खबर मिल सकती है। एक एक्सपर्ट समिति ने मंगलवार को 2-18 आयुवर्ग के लिए भारत बायोटेक के कोविड-19 टीके कोवैक्सीन के दूसरे/तीसरे चरण के लिए ट्रायल की सिफारिश की। बता दें मंगलवार को एक विशेषज्ञ पैनल ने भारत बायोटेक के COVID-19 वैक्सीन कोवैक्सिन के चरण II/III के लिए 2 से 18 वर्ष के बच्‍चों के ऊपर क्‍लीनिकल ट्रायल करने की सिफारिश की, जिसकी मंजूरी मिल गई है।
एम्स दिल्ली, एम्स पटना और मेडिट्रिना इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, नागपुर में 525 लोगों पर इसका ट्रायल होगा

बड़ी ख़बर: कोवैक्‍सिन के 2 से 18 साल के बच्चों पर क्‍लीनिकल ट्रायल को मिली मंजूरी

केंद्रीय ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन (सीडीएससीओ) के कोविड-19 पर विषय विशेषज्ञ समिति (एसईसी) ने हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक द्वारा 2 से 18 वर्ष की आयु के बच्चों में कोवैक्सिन टीकाकरण सुरक्षा, रिएक्टोजेनेसिटी और इम्युनोजेनसिटी का मूल्यांकन करने के लिए चरण II/III क्‍लीनिकल ट्रायल के संचालन की अनुमति के बाद यह निर्णय लिया है।

यह उन रिपोर्टों के बीच आता है, जिनमें कहा गया है कि देश में COVID-19 वायरस की संभावित तीसरी लहर में बच्चों को खतरा हो सकता है। विशेषज्ञों के अनुसार, वायरस की पहली लहर ने बुजुर्गों पर हमला किया, दूसरी लहर में अधिक युवा प्रभावित हुए और तीसरी लहर बच्चों के लिए खतरनाक हो सकती है।

बड़ी ख़बर: कोवैक्‍सिन के 2 से 18 साल के बच्चों पर क्‍लीनिकल ट्रायल को मिली मंजूरी
बड़ी ख़बर: कोवैक्‍सिन के 2 से 18 साल के बच्चों पर क्‍लीनिकल ट्रायल को मिली मंजूरी