भारत की ‘उड़न परी’ हिमा दास बनी DSP, कहा जारी रहेगा एथलेटिक्स कैरियर

भारत की उड़न परी के नाम से मशहूर महिला एथलीट हिमा दास को असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनेवाल ने डीएसपी नियुक्त किया है. नियुक्ती के बाद शुक्रवार को हिमा दास की खुशी का ठिकाना नहीं रहा
भारत की उड़न परी के नाम से मशहूर महिला एथलीट हिमा दास को असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनेवाल ने डीएसपी नियुक्त किया है. नियुक्ती के बाद शुक्रवार को हिमा दास की खुशी का ठिकाना नहीं रहा

प्रजासत्ता |
भारत की उड़न परी के नाम से मशहूर महिला एथलीट हिमा दास को असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनेवाल ने डीएसपी नियुक्त किया है| मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनेवाल और असम डायरेक्टर जनरल पुलिस भास्कर ज्योति महंत ने खुद अपने हाथ से आधिकारिक तौर पर डीएसपी की स्टार पहनाई| नियुक्ती के बाद शुक्रवार को हिमा दास की खुशी का ठिकाना नहीं रहा|

हिमा ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि मैं मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनेवाल को धन्यवाद देती हूं| बता दें कि मुख्यमंत्री ने ये फैसला गुवाहाटी में कैबिनेट भवन में आयोजित मंत्रियों की बैठक में लिया था| पुलिस के पोशाक में हिमा दास अलग ही अंदाज पर देखी गई| DSP पद पर नियुक्त की गई हिमा दास को असम के क्रीड़ा नीति 2017 और 18 के तहत डीएसपी पद पर नियुक्त किया गया हैं|

हिमा ने बाद में कहा कि वह बचपन से पुलिस अधिकारी बनने का सपना देखती आई हैं । उसने कहा ,‘‘ यहां लोगों को पता है । मैं कुछ अलग नहीं कहने जा रही । स्कूली दिनों से ही मैं पुलिस अधिकारी बनना चाहती थी और यह मेरी मां का भी सपना था ।’’ हिमा ने कहा ,‘‘वह दुर्गापूजा के दौरान मुझे खिलौने में बंदूक दिलाती थी । मां कहती थी कि मैं असम पुलिस की सेवा करूं और अच्छी इंसान बनूं ।’’ एशियाई खेलों की रजत पदक विजेता और जूनियर विश्व चैम्पियन हिमा ने कहा कि वह पुलिस की नौकरी के साथ खेलों में अपना कैरियर भी जारी रखेगी । उसने कहा ,‘‘ मुझे सब कुछ खेलों की वजह से मिला है । मैं प्रदेश में खेल की बेहतरी के लिये काम करूंगी और असम को हरियाणा की तरह सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाला राज्य बनाने की कोशिश करूंगी । असम पुलिस के लिये काम करते हुए अपना कैरियर भी जारी रखूंगी ।’’

कौन हैं हिमा दास
हिमा दास असम के नगांव जिले के धिंग गांव की रहने वाली हैं| हिमा एक साधारण किसान परिवार से आती हैं| उनके पिता चावल की खेती करते हैं| वह परिवार के 6 बच्चों में सबसे छोटी हैं| हिमा पहले लड़कों के साथ फुटबॉल खेलती थीं और एक स्ट्राइकर के तौर पर अपनी पहचान बनाना चाहती थीं| उन्‍होंने कुछ साल पहले ही रेसिंग ट्रैक पर कदम रखा था| हिमा दास पहली भारतीय महिला एथलीट हैं, जिन्होंने किसी भी फॉर्मेट में गोल्ड मेडल जीता है| उन्होंने IAAF(International Association of Athletics Federations) विश्व U20 चैंपियनशिप में 51.46 सेकंड में यह उपलब्धि अपने नाम की. हिमा दास साल 2019 में पांच स्वर्ण पदक जीत चुकी हैं|