बीजेपी की नेत्री प्रज्वल बस्टा ने सोशल मीडिया पर सांझा किये अपने अनुभव

प्रजासत्ता ब्यरो शिमला|
सबसे कम उम्र की बी डी सी चैयरमेन रहने वाली हिमाचल की बेटी प्रज्वल बस्टा ने सोशल मीडिया पर सांझा किये अपने अनुभव। सूत्रों की माने तो भविष्य में उनके बढ़ते कद को देखर अपनों के ही दिल मे दर्द रहा। क्या कुछ लिखा हिमाचल की बेटी व बीजेपी की नेत्री ने

चुनाव में चुनकर आए हुए और पंचायती राज का हिस्सा बने हुए 5 वर्ष पुरे हो गए है हर वर्ष लोगों का प्यार सहयोग चुनावी दौर से भी ज्यादा बढ़ा है और जारी है
मुझसे पहले कितने आए और आकर चले गए
कल और आएंगे मुझसे बहतर करने वाले ,सुनने वाले
ये क्रम यूँही चलता रहेगा !
कल कोई मुझको याद करेगा कोई भूल जाएँगा ।
हालाँकि मैं इस बार के चुनाव में हिस्सा नहीं ले रही परंतु आज भी लोगों का मेरे प्रति स्नेह ,सम्मान और आशीर्वाद उसी तरह जारी है और बहुत ख़ुशी और गर्व की बात है कि कुछ लोग जिन्हें जानकारी नहीं थी कि मैं इस बार चुनाव नहीं लड़ रही मुझे फ़ोन करके पूछने लगे इस बार सब वोट माँगने आ गए आप अभी तक नहीं पहुँची क्या बात है क्या हुआ, दूसरी तरफ़ बहुत से मेरे क्षेत्र और प्रदेश के कई युवाओं के फ़ोन आए कैसे होता है चुनाव ,क्या -क्या काम होते है BDC में क्या करना पड़ता है हमें बताए सहयोग करे चुनाव के बारे ,कोई युवा BDC ,कोई प्रधान तो कोई उप प्रधान का चुनाव लड़ रहे है बहुत ख़ुशी हो रही है देख कर की आज प्रदेश का युवा मुझसे सुझाव माँग रहा है ,कही न कहीं किसी न किसी रूप में उन्हें प्रेरित कर पाई मेरे लिए बहुत सौभाग्य की बात है !

कुछ ही बाद मैं पूर्व समिति सदस्य पूर्व अध्यक्ष कहलाऊँगी परंतु
कम उम्र में लोगों ने जो सम्मान और मौका दिया उसका कर्ज उतराने का विचार हर पल मन में रहता था ,है और रहेगा और क्षेत्र के लिए समाज के हर वर्ग के लिए क्या बेस्ट किया जा सकता है इसकी सोच मस्तिष्क में चलती रहती है और आगे भी चलती रहेगी
समय के साथ यह भी जाना भी जैसा आप सोचते है वैसे सिस्टम नहीँ भी होता है कहीं सहयोग तो कहीं असहयोग रहता है। पंचायत प्रतिनिधियों के बजट अलॉटमेंट को बहुत कम या नाममात्र कर दिया गया था इसलिए कई कार्य दिमाग में थे परन्तु नहीं हो पाए ।
फिर भी ऐसा नहीँ की करने को कुछ नहीँ है सरकारी योजनायों की जानकारी ,लोगों तक पहुंचाना अनेक सुख दुःख के हर पल में साथ रहना उनकी आवाज को आगे उच्च पेल्त्फोर्म पर रखना यह सब अनवरत जारी है और आप लोगों के सहयोग से ऐसे ही जारी भी रहेगा।
मैं उन सब लोगों की हार्दिक आभारी हूँ जिन्होंने लोकतंत्र के सबसे बड़े पायदान ” पंचायती राज ” में मुझे चुनकर भेजा। मैं तहे दिल से हमेशा यह कोशिश करती रही की कम उम्र होने के बावजूद अपनी बहन बेटी पर आप लोगों ने जो आकांक्षाएं लगाई मैं उन पर खरा उतरूँ
आज पंचायत समिति का चुनाव जीत कर 5 वर्ष हो गए
मुझे आशीर्वाद प्यार स्नेह सहयोग के लिए ,मेरे परिवार,गाँव ,गृह पंचायत पाँदली ,पंचायत समिति की अन्य पंचायत बाग डूमैहर ,ग्राम पंचायत प्रेमनगर के सभी बजुर्ग ,माताओं बहनो और मेरे युवाओं साथियों का जुब्बल -कोटखाई के लोगों का दिल की गहराइयो से धन्यवाद आभार व्यक्त करती हूँ
में धन्यवादी हूँ मेरी सबसे बड़ी सहयोगी जो की अब इस दुनिया में नहीं है मेरी माँ की हमेशा मुझे सहयोग करने प्रेरित करने के लिए
मैं कल किसी पद पर रहूँ न रहू आपकी बेटी ,बहन हमेशा रहूँगी
और जितना भी जो भी कर पाऊँगी जो भी हो पाएँगा इसी तरह काम करती रहूँगी ,हमेशा आप सबके साथ खड़ी रहूँगी
में सैदेव आप सबकी बहुत आभारी ,ऋणी रहूँगी अपना प्यार आशीर्वाद सदैव ऐसे ही बनाएँ रखे