पांवटा साहिब: पूर्व सैनिक से 14 लाख की ठगी मामले में शातिर गिरफ्तार

arest

पांवटा साहिब।
सिरमौर जिला के पांवटा साहिब उपमंडल के एक पूर्व सैनिक के साथ 14 लाख की ठगी मामले के आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के अनुसार आरोपी की पहचान संजय शर्मा (39) पुत्र हिरदाराम निवासी खड़लाना, जिला सहारनपुर (यूपी) के रूप में की गई है। आरोपी की गिरफ्तारी तकनीकी इनपुट के आधार पर की गई है।

डीएसपी पांवटा साहिब रमाकांत ठाकुर ने बताया कि शिकायत मिलते ही पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी थी। राजबन पुलिस चौकी के मुख्य आरक्षी धनवीर सिंह ने आरोपी को दबोचने में सफलता हासिल की है। आरोपी को कोर्ट में पेश किया जा रहा है।

जानिए क्या है मामला
जानकारी के अनुसार 27 नवम्बर, 2022 को किशनकोट के रहने वाले भूतपूर्व सैनिक नरेश कुमार (45) पुत्र बनवारी लाल ने पुरूवाला पुलिस थाना में मामला दर्ज करवाया था कि एक निजी बैंक के एचआर विभाग का नाम लेकर किसी शातिर ने उसे फोन किया। उसने कहा कि वह निजी बैंक के एचआर विभाग मुंबई से बोल रहा है। उनके पास भूतपूर्व सैनिकों के लिए कुछ नौकरियां हैं और बैंक की नाहन शाखा में सुपरवाइजर का पद खाली है। आप अपना आधार, पैन कार्ड, मार्कशीट व पासपोर्ट साइज फोटो भेज दें, साथ ही फाइल बनाने के लिए 4000 रुपए भेज दें। नरेश ने तुरंत राशि गूगल पे कर दी। इसके बाद उन्होंने एक पत्र भेजा व 4000 धरोहर राशि और 12500 फाइल अप्रूवल मेडिकल व पुलिस वैरिफिकेशन राशि मांगी और कहा कि ये रिफंडेबल है। पहली सैलरी पर वापस हो जाएगा। b उन्होंने 6500 व 6000 रुपए भेजे। इसके बाद फिर उन्होंने 5783 रुपए मांगे और खुद को एचआर मैनेजर बताने वाली स्नेहा नाम बताया।

इसके बाद दूसरे दिन फिर उसी मोबाइल से फोन आया तो कहा कि दीक्षा मदान बात कर रही है। उसने बताया कि वह शिमला के संजौली की रहने वाली है और मुंबई में एचआर विभाग में तैनात है। फाइल रि-ओपन को 2200 रुपए लगेंगे। शिकायतकर्ता ने फिर 2200 रुपए भेज दिए। फिर उसने 10700 रुपए मांगे वो भी भेज दिए। इस तरह अलग-अलग नाम से करीब 13 से 14 लाख रुपए ले लिए गए। पता किया तो नौकरी के नाम पर ठगी का शिकार होने की बात पता चली।

पांवटा साहिब: पूर्व सैनिक से 14 लाख की ठगी मामले में शातिर गिरफ्तार
पांवटा साहिब: पूर्व सैनिक से 14 लाख की ठगी मामले में शातिर गिरफ्तार