बच्ची की मौत का हुआ खुलासा, सौतेली मां ने ही की थी मासूम की हत्या, गिरफ्तार

murder

प्रजासत्ता।
हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले के पांवटा साहिब स्थित कुंजा मतरालियों पंचायत में एक 3 वर्षीय मासूम बच्ची की मौत का अब खुलासा हो गया है। पुलिस और फोरेंसिक जांच में हुए खुलासे से रौंगटे खड़े कर देने वाले नतीजे सामने आए है। इस खुलासे में पता चला है कि सौतेली मां ने निर्ममता से बच्ची की पिटाई की थी। इस दौरान महिला ने क्रूरता की सारी हदें पार कर दी थीं। इस बेहद संवेदनशील मामले की जांच को 10 सदस्यीय एसआईटी टीम का गठन किया है।

वहीं आपको बता दें कि शुक्रवार को नवनियुक्त एसपी सिरमौर खुशहाल शर्मा, निदेशक एफएसएल डॉ. अरुण शर्मा और वैज्ञानिक अधिकारी नसीब पटियाल टीम सहित घटना स्थल पर पहुंचे। इसी के साथ एफएसएल टीम ने इस मामले से जुड़े साक्ष्य मौके से जुटा लिए हैं। वहीं अब आरोपी महिला के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है। तीन दिन पहले पांवटा साहिब के कुंजा मतरालियों में 3 वर्षीय मासूम बच्ची की संदिग्ध मौत हो गई थी।

वहीं आपको बता दें कि परिजनों ने एक निजी अस्पताल प्रबंधन पर उपचार में लापरवाही की शिकायत भी की थी, लेकिन पुलिस को इस मामले में शुरू से ही हत्या का संदेह रहा था। मासूम बच्ची का पोस्टमार्टम नाहन मेडिकल कॉलेज में करवाया गया। शुक्रवार को शिमला जुन्गा से निदेशक एफएसएल डॉ. अरुण शर्मा और वैज्ञानिक अधिकारी नसीब पटियाल सहित एसआईटी टीम घटनास्थल पर पहुंची। टीम ने आरोपी महिला की निशानदेही पर इस मामले से जुड़े सभी साक्ष्यों को एकत्र किया है, जिसकी अब लैब में जांच होगी। वहीं आपको बता दें कि शुक्रवार को ही कार्यभार संभालने के बाद एसपी सिरमौर खुशहाल शर्मा सीधे घटना स्थल पर पहुंचे थे। मामला संदिग्ध होने पर पांवटा अस्पताल में पोस्टमार्टम की तीन सदस्यीय टीम ने बच्ची के शरीर पर चोट के निशान पाए थे। वहीं यह पूरा मामला संदिग्ध होने पर नाहन मेडिकल कॉलेज में पोस्टमार्टम को भेज दिया गया है। अब जांच में खुलासा हो गया है कि बच्ची की मौत सौतेली मां द्वारा क्रूरता से पिटाई करने के बाद हुई थी। उधर, एसपी सिरमौर डॉ. खुशहाल चंद शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी मां के खिलाफ आईपीसी की धारा-302 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। तथा आरोपी महिला को गिरफ्तार कर अब मामले की और गहनता से जांच की जा रही है।