मुख्यमंत्री ने चिकित्सा महाविद्यालय नाहन में ऑक्सीजन संयंत्र का शुभारम्भ किया

ऑक्सीजन

प्रजासत्ता|
मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज शिमला से वर्चुअल माध्यम से जिला सिरमौर के डा. वाई.एस. परमार राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय नाहन में 300 एलपीएम क्षमता वाले ऑक्सीजन प्लांट का शुभारम्भ किया।

मुख्यमंत्री ने चिकित्सा महाविद्यालय नाहन में ऑक्सीजन संयंत्र का शुभारम्भ किया

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश में महामारी से लड़ने के लिए विभिन्न कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा कि कोविड रोगियों को बेहतर उपचार और उनकी ऑक्सीजन की आवश्यकताओं को पूरा करने के उद्देश्य से सरकार ने चिकित्सा महाविद्यालय नाहन में इस पीएसए संयंत्र की स्थापना की है। उन्होंने कहा कि इस संयंत्र के लिए भारत सरकार द्वारा उपकरण प्रदान किए गए और राज्य सरकार द्वारा गैस मैनीफोल्ड संयंत्र, ऑक्सीजन, पाइप लाइन, सिविल और इलैक्ट्रिक कार्य पर लगभग 58 लाख रुपये खर्च किए गए। उन्होंने कहा कि इस संयंत्र पर 1.25 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं।

जय राम ठाकुर ने कहा कि इस संयंत्र से 300 लीटर प्रति मिनट (एलपीएम) आॅक्सीजन का उत्पादन होगा और इसे कोविड आइसोलेशन वार्ड के 25 बिस्तरों की ऑक्सीजन पाइप लाइन से जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि इस संयंत्र से वेंटीलेटर स्पोर्ट पर निर्भर गंभीर रोगियों को आॅक्सीजन उपलब्ध करवाई जाएगी, जिससे उनकी आॅक्सीजन सिलेंडर पर निर्भरता कम होगी।

इसे भी पढ़ें:  गोबर के ढेर में मिली नवजात बच्ची की मां की हुई पहचान, जीजा की करतूत का हुआ खुलासा

मुख्यमंत्री ने कहा कि अब तक आॅक्सीजन सिलेंडर को हर दो घंटे में बदलने की आवश्यकता होती थी, जिसके लिए श्रमिकों और परिवहन पर निर्भर रहना पड़ता था। इस संयंत्र की स्थापना से जरूरतमंद रोगियों को ऑक्सीजन की आपूर्ति निर्बाध रूप से सुनिश्चित होगी।

जय राम ठाकुर ने कहा कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर अधिक घातक है, इसलिए अधिक सतर्क रहने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश में होने वाले विवाह कार्यक्रमों को केवल घरों या न्यायालयों में ही सम्पन्न करने का निर्णय लिया है। विवाह के लिए किसी को भी मैरिज पैलेस, टैंट, कैटरिंग और डीजे इत्यादि किराए पर लेने की अनुमति नहीं होेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार रोगियों की कोविड जांच में तेजी लाने के लिए प्रतिबद्ध है ताकि रोगियों को समय रहते उपचार सुनिश्चित किया जा सके। उन्होंने कहा कि चिकित्सा महाविद्यालय को 32 लाख रुपये की रेफ्रिजरेटिड संेट्रिफ्यूजड और रीयल टाईम पीसीआर मशीन प्रदान की गई है, जिससे कोविड-19 रोगियों की जांच में तेजी लाने में सहायता मिलेगी।

इसे भी पढ़ें:  गोबर के ढेर में मिली नवजात बच्ची की मां की हुई पहचान, जीजा की करतूत का हुआ खुलासा

मुख्यमंत्री ने नाहन चिकित्सा महाविद्यालय में आॅक्सीजन की आपूर्ति के लिए 1000 एलपीएम क्षमता वाला एक अतिरिक्त ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने की भी घोषणा की।

स्वास्थ्य मंत्री डा. राजीव सैजल ने कहा कि राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में पीएसए संयंत्र स्थापित किए गए हैं और शीघ्र ही अन्य क्षेत्रों में भी इस प्रकार के आॅक्सीजन संयंत्र स्थापित किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इससे चिकित्सा महाविद्यालय में रोगियों को आॅक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित होगी। उन्होंने कहा कि यह केवल मुख्मयंत्री जय राम ठाकुर और केन्द्र सरकार के प्रभावी समन्वय से संभव हो पाया है।

सांसद और भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुरेश कश्यप ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश में मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के नेतृत्व में कोरोना महामारी से प्रभावी ढंग से निपट रही है। उन्होंने मुख्यमंत्री से राज्य में कोविड जांच में तेजी लाने का आग्रह किया ताकि इस वायरस को और अधिक फैलने से रोका जा सके।

इसे भी पढ़ें:  गोबर के ढेर में मिली नवजात बच्ची की मां की हुई पहचान, जीजा की करतूत का हुआ खुलासा

विधायक नाहन डा. राजीव बिंदल ने मुख्यमंत्री का नाहन क्षेत्र के लिए पीएसए संयंत्र समर्पित करने के लिए आभार व्यक्त किया। यह कोविड रोगियों को बेहतर स्वास्थ्य देखभाल सुविधाएं सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। उन्होंने कहा कि चिकित्सा महाविद्यालय के पूर्ण रूप से कार्यशील होने से जिला व क्षेत्र के लोेगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाने में सहायता मिलेगी।

उपायुक्त सिरमौर डा. आर.के. पुर्थी ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया।

ऊर्जा मंत्री सुख राम चैधरी, विधायक रीना कश्यप, एमसी की अध्यक्षा श्यामा देवी, भाजपा मण्डलाध्यक्ष प्रताप ठाकुर वर्चुअल माध्यम से इस कार्यक्रम से जुड़े, जबकि मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार त्रिलोक जम्वाल, स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी और मुख्यमंत्री के सलाहकार डाॅ. आर.एन. बत्ता मुख्यमंत्री के साथ शिमला में उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने चिकित्सा महाविद्यालय नाहन में ऑक्सीजन संयंत्र का शुभारम्भ किया
मुख्यमंत्री ने चिकित्सा महाविद्यालय नाहन में ऑक्सीजन संयंत्र का शुभारम्भ किया