तकनीकी शिक्षा को अधिक रोज़गारोन्मुखी बनाना सरकार का उद्देश्य – राम कुमार

बद्दी।
मुख्य संसदीय सचिव (नगर नियोजन, राजस्व एवं उद्योग) राम कुमार ने कहा कि प्रदेश सरकार तकनीकी शिक्षा को अधिक रोज़गारोन्मुखी बनाने के लिए कार्य कर रही है। राम कुमार आज सोलन ज़िला के दून विधानसभा क्षेत्र के पहाड़ी क्षेत्र पट्टा महलोग के औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में प्रधानमंत्री राष्ट्रीय प्रशिक्षुता मेले के शुभारम्भ समारोह को प्रशिक्षुओं को सम्बोधित कर रहे थे।

राम कुमार ने कहा कि तकनीकी शिक्षा भविष्य में बेहतर रोज़गार का आधार है। उन्होंने कहा कि तकनीकी शिक्षा में गुणवत्ता लाने के लिए राज्य के विभिन्न औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में इलैक्ट्रिक वाहन, मैकेनिक, रखरखाव मैकेनिक, सौर ऊर्जा तकनीशियन, ड्रोन तकनीशियन, मेकाट्रोनिक्स तथा इंटरनेट आॅफ थिंग्स तकनीशियन पाठ्यक्रम आरम्भ किए जाएंगे।
उन्होंने कहा कि सोलन ज़िला के नालागढ़ स्थित औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में इलैक्ट्रिक व्हीकलस मकैनिक, मेनटेंनेस मकैनिक, सौलर टेकनिश्यिन, ड्रोन टेकनिश्यिन, मैकाट्रोनिक्स तथा इंटरनेट आॅफ थिंग्ज टेकनिश्यिन के पाठ्यक्रम आरम्भ किए जाएंगे। सोलन और नालागढ़ औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में कौशल विकास निगम के माध्यम से ड्रोन सर्विस टेकनिश्यिन पाठ्यक्रम चरणबद्ध तरीके से शुरू किया जाएगा।
उन्होंने उद्योगपतियों का आह्वान किया कि आईटीआई के जो छात्र जिन उद्योगों में प्रशिक्षुता प्राप्त कर रहे है को उन्हीं उद्योगों में रोज़गार देने का प्रयास करें। इससे बेहतर तकनीकी श्रमशक्ति प्राप्त हो सकेगी।
राम कुमार ने कहा कि दून विधानसभा क्षेत्र के पट्टा और कुठाड़ में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान क्रियान्वित किए गए हैं ताकि क्षेत्र के युवाओं को उच्च तकनीकी शिक्षा घर-द्वार पर उपलब्ध हो सके। उन्होंने कहा कि पट्टा की आई.टी.आई में शीघ्र ही दो नए पाठ्यक्रम शुरू किए जाएंगे।
मुख्य संसदीय सचिव ने प्रशिक्षुओं का आह्वान किया कि परिश्रम का कोई शॉर्टकट नहीं होता। प्रशिक्षु लक्ष्य निर्धारित कर ईमानदारी के साथ प्रशिक्षण प्राप्त करें ताकि उनका भविष्य उज्जवल बन सके। उन्होंने छात्र-छात्राओं से आग्रह किया की युवा अपने-अपने क्षेत्रों में मेहनत और एकाग्रता से कार्य करें और नशे जैसे मादक पदार्थों से दूर रहें जिससे आपकी तरक्की सुनिश्चित हो सके।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार युवाओं को रोज़गार व स्वरोज़गार के अवसर उपलब्ध करवाने के लिए वचनबद्ध है। उन्होंने कहा कि दून विधानसभा क्षेत्र के पहाड़ी क्षेत्र को औद्योगिक क्षेत्र के रूप में विकसित करने के प्रयास किए जा रहे है। उन्होंने कहा कि बनलगी में जूस बनाने का एक उद्योग स्थापित किया जा रहा है जिसमें क्षेत्र के 05 हजार युवाओं को रोज़गार के अवसर प्रदान होंगे। इसके अतिरिक्त दून के पहाड़ी क्षेत्र में और अधिक उद्योग स्थापित करने की दिशा में कार्य किया जा रहा है ताकि युवाओं को रोज़गार व स्वरोज़गार उपलब्ध हो सके।

उन्होंने कहा कि राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान पट्टा महलोग को शीघ्र ही निजी भवन से सरकारी भवन में स्थानातंरित कर दिया जाएगा। इस प्रशिक्षण संस्थान में दो नए ट्रेड भी समायोजित किया जाएंगे।
राम कुमार ने कहा कि पट्टा-बनलगी मार्ग के विस्तारीकरण के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार कर दी गई है। उन्होंने कहा कि विस्तारीकरण कार्य के लिए स्वीकृति मिलेती ही इसका कार्य आरम्भ किया जाएगा।

कार्यक्रम में विभिन्न उद्योगों सिद्धार्था सुपर स्पिनिंग मिल खेड़ा लिमिटेड नालागढ़, हिम टेक्नो नालागढ़, पिडीलाइट नालागढ़, ग्राइंडवैल नाॅर्टन, लिमिटेड नालागढ़, जेएसटीआई ट्रांसफार्मर, थिओन फार्मा नालागढ़ ने भाग लिया।

इस अवसर पर ग्राम पंचायत पट्टा की प्रधान रंजना देवी, पूर्व प्रधान आशीष सोनू, घनश्याम, बक्शीराम, श्याम लाल, बल्लू, राजकुमार शर्मा, विभिन्न उद्योगपति, आई.टी.आई पट्टा के प्रधानाचार्य नवनीत शर्मा, आईटीआई सोलन के प्रधानाचार्य ललित कुमार तथा राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान सोलन के प्रधानाचार्य ललित शर्मा, प्रधानाचार्य दिगल श्यामलाल, प्रधानाचार्य धर्मपुर बलजीत सिंह, प्रधानाचार्य गढ़खल सुभाष शर्मा, प्रधानाचार्य कुठाड़ मुनीलाल, ग्राम पचंायत के उप प्रधान कैंडोल बक्शी राम तथा अन्य अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।