आईशर स्कूल ने धूम धाम से मनाया क्रिसमस

आईशर स्कूल ने धूम धाम से मनाया क्रिसमस

अमित ठाकुर | परवाणू
आईशर स्कूल परवाणू द्वारा क्रिसमस का त्यौहार बड़े हर्षोउल्लास से मनाया गया, सांता क्लॉज़ की वेशभूषा पहनकर बच्चे चारों और ज़िंगल बेल गाते हुए घूमते नज़र आये व सचाई और प्रेम का संदेश भी इस त्यौहार के मौके पर दिया गया |
बच्चों ने क्रिसमस दिवस पर सांता क्लाज़ की पारंपरिक वेशभूषा मे उपस्थित लोगों व बच्चों को बताया क्रिसमस का ये त्यौहार क्यों मनाया जाता है और इस दिन का क्या महत्त्व है ईसाई मान्यता के अनुसार प्रभु यीशु मसीह का जन्म 25 दिसंबर को हुआ था. जिसकी वजह से इस दिन
को क्रिसमस के तौर पर मनाया जाता है. माना जाता है कि यीशु मसीह ने इसी दिन मरीयम के घर जन्म लिया था | स्कूल के वरिष्ठ छात्र छात्राओं द्वारा इस अवसर पर स्कूल प्रबंधन द्वारा आयोजित मस्ती भरे अंदाज में स्टार मेकिंग, गिफ्ट रैपिंग, मेकिंग पेपर रेनडियर, सांता क्लॉज, स्नो फ्लेक्स और बंटिंग जैसी गतिविधियों में भाग लिया |
आईशर स्कूल के प्रधानाचार्य राकेश सिंघी ने इस अवसर पर बताया की आईशर स्कूल के शिक्षकों द्वारा भी क्रिसमस की पारंपरिक लाल व सफेद परिधान पहनकर स्कूल में क्रिसमस का अहसास कराया। इस अवसर पर स्कूल मे मिठाइयाँ बांटी गई व शिक्षकों द्वारा विद्यार्थियों को प्रेम, त्याग, सचाई व बलिदान का संदेश दिया और इसे अपने जीवन मे अपनाने की अपील की |

इसे भी पढ़ें:  "द हिमालयन वॉइस" गायन प्रतियोगिता सीज़न-1 के फाइनलिसट्स की आवाज़ मे "कान्हा तेरी मुरली" भजन रिलीज़
आईशर स्कूल ने धूम धाम से मनाया क्रिसमस
आईशर स्कूल ने धूम धाम से मनाया क्रिसमस