उत्तर भारत के प्रसिद्ध ऐतिहासिक धार्मिक स्थल हरिपुर में बैंक व एटीएम न होने से लोगों को हो रही परेशानी

nb-changed-the-rules-to-withdraw-money-from-atms-

जी.एल.कश्यप/पट्टा महलोग
दून विधानसभा के तहत हरिपुर में स्थित उत्तर भारत के प्रमुख ऐतिहासिक धार्मिक स्थल हरिपुर को आजादी के 75 साल बीत जाने पर भी बैंक व एटीएम की सुविधा नसीब नहीं हुई है। नतीजन स्थानीय लोगों के इलावा यहां बाहर से हर दिन आने वाले श्रद्धालुओं व स्थानीय लोगों को असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। क्षेत्र की पंचायतों व स्थानीय सामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा यहां वर्षों से एक बैंक की शाखा खोलने की मांग की जा रही है, लेकिन अभी तक किसी भी बैंक ने यहां शाखा खोलने की पहल नही की है जो कि निराशा जनक है ।

ग्राम विकास समिति हरिपुर व महलोग विकास मंच द्वारा अप्रैल 2016 से लगातार पंजाब नेशनल बैंक के शिमला मंडल प्रमुख, प्रबंध निदेशक दिल्ली, वित्त मंत्री, भारत सरकार व प्रधानमंत्री कार्यालय से लगातार एक राष्ट्रीयकृत बैंक की शाखा खोलने बारे गुहार लगा रहे है कि बाबा हरिपुर (गुरुद्वारा) परिसर के निकट लोगों की सुविधा के लिए बैंक की शाखा खोली जाये, परन्तु अभी तक आठ वर्ष बीत जाने के उपरांत भी कोई कार्यवाही नहीं हुई है।

इसे भी पढ़ें:  डाक विभाग के बचत योजनाओं की ब्याज दरों में बढ़ौतरी

ग्राम विकास समिति हरिपुर के प्रधान ललित कुमार व महासचिव प्रिंस कौंडल ने बताया कि ग्राम पंचायत सूरजपुर व पट्टा नाली ने भी 2015 में अपनी अपनी पंचायतों से प्रस्ताव पारित करके बैंक के उच्च अधिकारियों को हरिपुर में बैंक की शाखा खोलने बारे प्रस्ताव प्रेषित किये थे लेकिन लोगों की इस समस्या पर बैंक अधिकारियों ने न कोई कार्यवाही की और न आज तक कोई पत्राचार ही प्राप्त हुआ है।

बता दें कि हरिपुर उत्तर भारत का प्रसिद्ध तीर्थ स्थल है यहाँ पर हर रोज हजारों की संख्या में श्रद्धालु दर्शनार्थ व शीश नवाने पहुंचते हैं। हर शनिवार रविवार, हर सक्रांति, व हर त्योहार पर यहाँ बड़े मेले लगते है। दर्जनों दुकानें लगती है। स्थानीय लोगों व दुकानदारों को हजारों रुपये के लेनदेन के लिए 10 किलोमीटर पट्टा महलोग या 7 किलोमीटर बरोटीवाला जाना पड़ता है। प्रिंस कौंडल ने बताया कि हरिपुर के आसपास छोटे बड़े10 गांव हैं। हरिपुर के समीप बधौनीघाट व सूरजपुर में उच्च पाठशाला, हरिपुर, केन्डोल व बेहमण्डी में प्राथमिक विद्यालय, हरिपुर में पीएचसी ,बालवाड़ी केंद्र व महिला मंडल है। लोगों का मुख्य व्यवसाय छोटा व्यापार, खेती बाड़ी, पशुपालन व पत्थर की कुंडीया व बांस की टोकरियां बनाने का है। अक्सर लोगों को बैंक की योजनाओं को दरकार महसूस होती है।

इसे भी पढ़ें:  कामली और पुरला वार्ड के लिए हो रहा मोक्षधाम का निर्माण

वहीं आस पास की सूरजपुर,कैंडोल व पट्टा नाली पंचायत में किसी भी बैंक की कोई शाखा नही है। हरिपुर व आसपास के क्षेत्रों सहित सात हजार की आबादी का केंद्र है। लोगों का हर समय इस धार्मिक स्थल में आना जाना लगा रहता है।

बैंकिग समस्या के निदान के लिए महलोग विकास मंच के अध्यक्ष इंद्र सिंह ठाकुर, उपाध्यक्ष खुर्मिन्दर सिसोदिया, ग्राम विकास समिति हरिपुर के प्रधान ललित कुमार, महासचिव प्रिंस कौंडल, कैंडोल पंचायत के उप प्रधान बक्शी राम, पूर्व प्रधान मनमोहन कौंडल, मदन शर्मा, समाजसेवी नन्द लाल कौंडल, ओम प्रकाश शर्मा व दिला राम पंवर के इलावा स्वंय सहायता समूह भोगपुर की महिलाओं ने पंजाब नेशनल बैंक के उच्च अधिकारियो ,मुख्य संसदीय सचिव व दून के विधायक राम कुमार चौधरी से अनुरोध किया है कि हरिपुर साहिब में लोगों की सुविधा के मद्देनजर शीघ्र बैंक शाखा खुलवाई जाए।

इसे भी पढ़ें:  परवाणू के पत्रकार अमित ठाकुर हिमाचल गौरव पत्रकार अवॉर्ड से सम्मानित
उत्तर भारत के प्रसिद्ध ऐतिहासिक धार्मिक स्थल हरिपुर में बैंक व एटीएम न होने से लोगों को हो रही परेशानी
उत्तर भारत के प्रसिद्ध ऐतिहासिक धार्मिक स्थल हरिपुर में बैंक व एटीएम न होने से लोगों को हो रही परेशानी