कसौली कांग्रेस के लिए अच्छी ख़बर: मतभेद भुला कर विनोद सुल्तानपुरी की जीत के लिए एक मंच पर आए सभी नेता

कसौली।
कसौली कांग्रेस में लंबे स्टेज चली आ रही तकरार की खबरों के बाद कांग्रेस पार्टी और विनोद सुल्तानपुरी के लिए अच्छी ख़बर आई है। गौर हो कि कसौली विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस पार्टी से टिकट के सभी चाहवान अब एक मंच पर नज़र आ रहे हैं। हालांकि कसौली से विनोद सुल्तानपुरी को कांग्रेस प्रत्याशी बनाए जाने के बाद यह सभी अलग-अलग नज़र आ थे, लेकिन नामांकन वापसी वाले दिन सभी एक मंच पर नज़र आए। जिससे कसौली से विनोद सुल्तानपुरी और कांग्रेस की जीत और मजबूत हो गई है।

बता दें कि कसौली कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ठाकुर दास, कांग्रेस प्रवक्ता रमेश चौहान,और कसौली से टिकट के चाहवान ध्यान सिंह सहित अन्य कई कांग्रेस नेता जिनके बीच में लंबे समय से तकरार की बातें सामने आती रही है। अब सभी विनोद सुल्तानपुरी की जीत के लिए एकजुट होते नज़र आए।

बता दें कि कांग्रेस का गढ़ माने जाने वाली कसौली विधानसभा में कांग्रेस के बीच की लंबे समय से चली आ रही तकरार के चलते दो बार बहुत ही कम अंतर से विनोद सुल्तानपुरी हारते रहे। लेकिन जिस तरह का समर्थन इस बार उन्हें मिल रहा है। उससे यह बात सुनिश्चित है की कसौली से मौजूदा विधायक एवं स्वास्थ्य मंत्री राजीव सैजल के लिए जीत की राह आसान नहीं होगी।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस हाईकमान हिमाचल प्रदेश चुनाव में सभी कार्यकर्ताओं से चुनावी मैदान में उतरने का आह्वान किया है। पार्टी हाईकमान ने कहा है कि पार्टी कार्यकर्ता अपने मनमुटाव भूल जाएं और विधानसभा चुनावों में एकजुटता के साथ पार्टी प्रत्याशियों की जीत सुनिश्चित करने के लिए कार्य करें। कांग्रेस ने बड़े आत्ममंथन के बाद जीत की क्षमता रखने वाले पार्टी नेताओं को चुनाव मैदान में उतारा है। जिसके चलते अब इन्हें एक मंच पर आना ही पड़ा। सूत्रों के मुताबिक शनिवार को हुई एक मीटिंग में एक दूसरे से नाराज़ सभी कांग्रेस नेताओं ने अपने मतभेद भुला कर एक स्वर में विनोद सुल्तानपुरी को जीताने के लिए हामी भर दी है। यह कसौली कांग्रेस के मजबूत होने के लिए बढ़ा कदम है।

कसौली कांग्रेस के लिए अच्छी ख़बर: मतभेद भुला कर विनोद सुल्तानपुरी की जीत के लिए एक मंच पर आए सभी नेता
कसौली कांग्रेस के लिए अच्छी ख़बर: मतभेद भुला कर विनोद सुल्तानपुरी की जीत के लिए एक मंच पर आए सभी नेता