दुर्घटनाओं को न्यौता दे रहे परवाणू में अवैध रूप से सड़क किनारे खड़े ट्रक

दुर्घटनाओं को न्यौता दे रहे परवाणू में अवैध रूप से सड़क किनारे खड़े ट्रक

अमित ठाकुर|परवाणू
परवाणू के सेक्टर 02 स्थित माइक्रोटेक कंपनी के बाहर एवं परवाणू के शीतला माता मँदिर से लेकर सेक्टर 06 तक अवैध रूप से खड़े ट्रकों एवं बड़े-बड़े टेन्कर की वजह से परवाणू की आम जनता को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है| आम जनता का कहना है की सड़क किनारे खड़े ट्रकों के कारण ख़ास कर महिलाओं का सड़क पर चलना मुश्किल हो गया है और महिलाओं के अंदर एक डर का माहौल उत्पन हुआ है| जहां भी ट्रक खड़े रहते है वहां पर चलने वाली महिलाएं खुद को असुरक्षित महसूस करती हैं|

दिन में अथवा रात के समय अवैध रूप से सड़क किनारे खडे़ रहने वाले ट्रक कभी भी किसी हादसे का कारण बन सकते हैं| इन ट्रकों के कारण कई बार राजमार्ग पर जाम भी लग जाता है। जाम कई बार इतना जबरदस्त लगता है कि एक घंटे में वाहन जाम से निकल नहीं पाते हैं। इतना ही नहीं हर समय दुर्घटना का भी खतरा बन जाता है। कई बार इन ट्रकों के कारण सड़क पर पीछे की तरफ से आने वाले वाहन चालकों को सड़क पार करने वाले लोग नहीं दिखते और दुर्घटना हो जाती है।

इसे भी पढ़ें:  सोलन में जेबीटी अध्यापको की बैच आधार पर भर्ती के लिए काउन्सिलिंग 05 तथा 06 मार्च को

रात के समय कई बार अंधेरा होने के कारण सड़क पर खड़े ट्रक दिखाई नहीं देते हैं। इस समस्या के बारे में कई बार समाजसेवी संगठन शिकायत भी कर चुके हैं। परवाणू पुलिस को की गई शिकायत पर सेक्टर दो स्थित माइक्रोटेक कंपनी के बाहर अवैध रूप से खड़े ट्रकों और अन्य गाडियों का परवाणू ट्रेफिक पुलिस द्वारा चालान भी काटे गए थे परंतु अभी भी स्थिति वहीं की वहीं है| अवैध रूप से खड़े ट्रकों के कारण भारी जाम लगता है जिसकी वजह से काम पर जानें वाले कर्मचारी अपने कार्य स्थल पर देरी से पहुंचते है और कई बार जाम के कारण एंबुलेंस को भी जाम में फंसना पड़ा है लेकिन गनीमत यह है की अभी तक इस वजह से किसी व्यक्ति की जान नहीं गई|

इसे भी पढ़ें:  परवाणू भाजपा नें मनाया पार्टी का 41वां स्थापना दिवस

परवाणू की नगरपालिका एवं परवाणू पुलिस प्रशाशन को मिल कर इस महत्वपूर्ण समस्या पर सख़्त कार्यवाही करनी चाहिए ताकी भविष्य में किसी भी प्रकार की दुर्घटना न घटे एवं इन ट्रकों को पार्किंग की भी सुविधा मुहैया करवानी चाहीए| माइक्रोटेक कंपनी के मुख्यप्रबंध्क को भी इस बारे सूचित कर सख़्त आदेश देनें की आवश्यकता है|