नहीं छूट रहा थाना प्रभारी परवाणू का मोह, दस सालों से पैंतालीस किलोमीटर के भीतर ही नौकरी कर रहे, स्टे के लिए पहुंचे कोर्ट

हिमाचल पुलिस

प्रजासत्ता।
हिमाचल पुलिस में बतौर सब इंस्पेक्टर भर्ती हुए रविंदर कुमार 2011 में पासआउट होने के बाद जनवरी 2011 में जिला शिमला में लगाया गया। 2013 अक्तूबर में जिला सोलन दाड़लाघाट में रहे फिर प्रमोशन के बाद बतौर इंस्पेक्टर सी आई डी शिमला में उसके बाद सदर थाना सोलन वर्ष 2017 में वर्तमान में थाना प्रभारी जिला सोलन के परवाणू में सेवाएँ दे रहे हैं।

पिछले दस वर्षों में पैतालीस किलोमीटर के भीतर सेवाएं देने वाले अधिकारी को नहीं गवारा हुआ तबादला और परवाणू के प्रभारी बने रहने के लिए माननीय न्यायालय में तबादला आदेश पर रोक लगवाने पहुंच गये। यह अधिकारी अपनी मर्ज़ी से तबादला लेते हैं ताकि मर्जी के स्टेशन भी मिलते रहें और प्रशासन की नज़रों में तबादला सूची में भी बने रहें।

इनका कहना है कि वर्तमान स्टेशन पर इनका कार्यकाल पूरा नहीं हुआ है। हालांकि अभी मामला माननीय न्यायालय में लंबित है पर आखिर क्या बजह है कि कुछ अधिकारियों का एक ही स्टेशन पर बने रहने का मोह नहीं छूटता है। अब या तो यही कहा जा सकता है कि जिसकी चलती है उसकी क्या गलती है और बाकी शासन प्रणाली लाचार है।