परवाणू व टिपरा में नहीं थम रहा सड़े हुए सेब फेंकने का सिलसिला

।परवाणू व टिपरा में नहीं थम रहा सड़े हुए सेब फेंकने का सिलसिला

परवाणू |
प्रदेश के प्रवेश द्वार पर टकसाल पंचायत के अंतर्गत आने वाले टिपरा गांव के लोग को पिछले कई दिनों से गांव के पास चल रहे वेस्ट सेबों की छंटाई और फेंके गए वेस्ट मलबे से भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। टिपरा ग्रामीण वासियों का कहना है की टिपरा गांव में बीते कुछ दिनों से टनों के हिसाब से टिपरा में फेंके जाने वाले वेस्ट सेबों के सड़े हुए मलबे के कारण स्थानीय लोगों व् आने जाने वाले राहगीरों को तीव्र बदबू से सांस लेना दुश्वार हो गया है।

टिपरा में कई टन फैलाये जा रहे वेस्ट सेबों के कचरे के कारण डेंगू बिमारी और अधिक फ़ैल गई है, जिस से स्थानीय लोग डेंगू की चपेट में आये हैं व आगे इस वजह से डेंगू के और भी मामले बढ़ने की पूरी संभावनाएं बनी हुई हैं । डेंगू के मामलों की बात करे तो संख्या 1200 का आंकड़ा पार कर चूका है। डेंगू को लेकर इस समय लोगों में एक आतंक सा माहौल बना हुआ है।

बता दे पिछले कई वर्षों से परवाणू में सेब सीज़न के चलते हर वर्ष परवाणू व आस पास के क्षेत्र वासियों को हज़ारों टन गिराए गए सेबों के कचरे से भारी परेशानी झेलनी पड़ रही है। परन्तु वर्षों से सरकार और प्रशासन हर वर्ष आने वाली इस समस्या का आज तक समाधान नहीं कर पाया और ना हीं समाधान को ले कर कोई ब्लू प्रिंट त्यार कर पाया है। उपरोक्त समस्या सरकार व प्रशासन का सबसे बड़ा फेलियर माना जा रहा है । स्थानीय जनता का कहना है बीते कई वर्षों से सम्बंधित विभागों का रवैया “कर देंगे” “हो जाएगा” जैसा रहा है परन्तु भूमिगत स्थिति वर्षों से कुछ और ही बयां करती है।

क्या कहते है प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के एसडीओ
प्रदूषण नियंत्रण विभाग के एसडीओ प्रदीप मोदगिल ने बताया की इस बारे जिला उपायुक्त से बात की गई है और एचपीएमसी को भी विभाग ने जुर्माना लगाया है । प्रनिवि ऐसडीओ प्रदीप मोदगिल ने कहा की कुछ मीथेन गैस बनाने वाली कंपनियों से भी बात चल रही है जिसमें वेस्ट सेबों के मलबे को मीथेन गैस बनाने के लिए सीधा कंपनी वालों को दे दिया जाए ताकि यहां डंप करने की ज़रुरत ही ना पड़े । प्रदीप मोदगिल ने कहा की प्रदुषण नियंत्रण विभाग और इस समस्या से सम्बंधित विभाग उपरोक्त स्थिति पर युद्धस्तर पर कार्य कर रहे है जल्द ही परवाणू और टिपरा की वेस्ट सेबो को लेकर जो भी समस्याएँ है उन्हें दूर कर दिया जाएगा ताकि भविष्य में इस समस्या का सामना स्थानीय जनता को ना करना पड़े । प्रदीप मोदगिल ने जानकारी देते हुए बताया की अभी कुछ दिनों में जिला उपायुक्त मेडम से एक बैठक होनी है जिस में इस समस्या के समाधान बारे भी चर्चा की जायेगी ।

परवाणू व टिपरा में नहीं थम रहा सड़े हुए सेब फेंकने का सिलसिला
परवाणू व टिपरा में नहीं थम रहा सड़े हुए सेब फेंकने का सिलसिला