प्राइमरी स्कूल के 2 कमरों में चल रहा बी.पी.ई.ओ.कार्यालय पट्टा महलोग

primer school
फोटो: भूतल में प्राथमिक पाठशाला व प्रथम तल के दो कमरों में बीपीईओ कार्यलय चलता है

जी.एल.कश्यप
प्रारम्भिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय पट्टा मेहलोग में स्टाफ व भवन की कमी से विभागीय कार्यालय के साथ साथ बच्चों की पढ़ाई भी प्रभावित हो रही है। सरकार ने वर्ष 2017 में यहां प्रारम्भिक शिक्षा अधिकारी का कार्यालय खोला था लेकिन सरकार यहां भवन व इस खंड को चलाने के लिए जरूरी स्टाफ देना भूल गई । आलम यह है कि क्षेत्र के दर्जनों स्कूलों का कार्यभार महज दो कर्मचारियों के जिम्मे है ।

यह कार्यालय अक्टूबर 2017 को कुठाड़ प्रारंभिक शिक्षा खंड को विभाजित करके पट्टा में स्थापित किया गया था। लेकिन तीन वर्ष बीत जाने के बाद भी न तो यहां इस कार्ययलय को चलाने के लिए पर्याप्त स्टाफ है व नही अपना भवन। वर्तमान में इसे प्राथमिक विद्यालय के दो कमरों से चलाया जा रहा है ।

बीपीईओ शादी राम चौधरी ने बताया कि इस ब्लॉक के अंतर्गत 48 प्राथमिक पाठशालाओं का पूर्ण संस्थापन व मिड डे मील से सम्बंधित कार्य के इलावा 18 अप्पर प्राइमरी, 7 मिडिल,5 हाई व 6 वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों का मिड डे मील व अन्य विभागीय कार्य किया जाता है । स्टाफ की कमी के कारण अक्सर लिपिकीय व अन्य जरूरी कार्य निपटाने के लिए अधयापकों की सेवाएं लेनी पड़ती है जिससे कई बार पढ़ाई भी प्रभावित होती है।

वर्तमान में यहां अधीक्षक ग्रेड-2 का एक पद व चार पद लिपिकों के पिछले तीन वर्ष से रिक्त पड़े है। विभाग के आला अधिकारियों को समय समय पर रिक्त पदों की सूचना भेजी जाती है लेकिन कोई कार्यवाही नही हुई । शिक्षा खंड को चलाने के लिए कम से कम 8 व रोस्टर के मुताबिक 12 कर्मचारियों का स्टाफ अनिवार्य है । वहीं भवन न होने की वजह से विभागीय अभिलेख को रखने व अन्य कार्य करने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है ।

उधर महलोग विकास मंच के अध्यक्ष अनिल गुप्ता व खुर्मिन्दर सिसोदिया, बाडियाँ पंचायत की प्रधान ममता गुप्ता, पूर्व प्रधान पवन गुप्ता, राम लाल ठाकुर, बालमुकंद शर्मा, पट्टा नाली पंचायत की प्रधान आशा कँवर ने शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर व विधायक परमजीत सिंह पम्मी से मांग की है कि पट्टा महलोग शिक्षा खंड कार्यालय को सुचारू संचालन के लिए शिघ्र रिक्त पदों को भरा जाए तथा कार्यलय के लिए भूमि आवंटित करवाकर भवन बनवाया जाए।