फॉलोअप! 70 घंटे बाद परवाणू सड़क हादसे का मुख्य आरोपी पुलिस की गिरफ्त में

परवाणू हादसे में मृतक के परिजनों की जयराम सरकार से गुहार,मृतक की कमाई पर निर्भर परिवार

अमित ठाकुर । परवाणू
परवाणू में बीते दिनों 31 मार्च की रात लगभग साढ़े आठ बजे के क़रीब हुए सड़क हादसे में जिसमें एक व्यक्ति रघुवीर सिंह चाँगरा (उम्र 46 वर्ष) की जान चली गई थी आज परवाणू पुलिस की सूझबूझ और स्तरक्ता से केवल 70 घँटों में आखिरकार कल रात पुलिस नें आरोपी को गिरफ्तार कर कर लिया।

परवाणू पुलिस की और से जांच कर रहे अधिकारी विनोद ठाकुर ने बात करते हुए बताया कि यह बहुत उलझा हुआ मामला था जिसमें एक स्कूटी को भी टक्कर मारी गई थी परंतु स्कूटी के मालिक नें इस घट्ना के ख़िलाफ़ कोई शिकायत दर्ज नहीं करवाई थी और साथ ही राह चलते व्यक्ति को भी टक्कर मारी गई थी जिसमें उस व्यक्ति की जान चली गई थी।

परवाणू पुलिस की और से जांच अधिकारी विनोद ठाकुर नें कहा कि इस केस की बहुत ही बारीकी से जांच की गई और जहां जहां जिस भी दुकान में CCTV कैमरे लगे थे उनकी सभी फूटेज को बारीकी से जांचा गया और अपने सूत्रों को भी तहक़ीक़ात में लगाया गया जिस कारण एक कड़ी से दूसरी कड़ी को जोड़ा गया और आज जिसकी वजह से इस केस को सुलझानें में पुलिस को सफलता मिली।

जांच अधिकारी विनोद ठाकुर नें प्रजासत्ता न्यूज टीम को बताया कि आरोपी और उसकी काले रंग की जीप को हमनें क़ब्जे में ले लिया है एवं इस आरोपी का नाम हरजीत है दुर्घटना के समय यही गाड़ी चला रहा था और जब्त की गई गाड़ी भी इसी की है, यह व्यक्ति पिँजोर का रहने वाला है।इसके साथ कालका के दो और व्यक्ति थे जिन में एक का नाम शम्मी (कालका निवासी) एवं एक अन्य जो उस समय गाड़ी में मौजुद थे उन्हें भी गिरफ्तार किया गया है और उनके बयान भी लिखे जा चुके हैं। पुलिस को दिए गए बयान में आरोपी और उसके साथियों नें क़बूल किया है की इस घट्ना में वो ही शामिल थे।

परवाणू पुलिस की और से विनोद ठाकुर नें बताया की हम इस मामले कि चार्जशीट बनाकर जल्द ही कोर्ट के समक्ष रखेंगे और उसके बाद जो भी अदालती न्याय प्रक्रिया होगी उसमें परवाणू पुलिस पूरा सहयोग करेगी।

परिवार के सदस्यों से बात करते हुए अमिचँद ठाकुर नें परवाणू पुलिस के कार्य की सराहना की और बताया की आरोपियों को गिरफ्तार कर आज परवाणू पुलिस नें एक ग़रीब परिवार को न्याय दिलवाया है। अमिचँद ठाकुर नें कहा हमें परवाणू पुलिस डीएसपी योगेश रोल्टा, थाना प्रभारी दयाराम ठाकुर एवं जांच अधिकारी विनोद ठाकुर पर पूरा भरोसा था की वह जल्द से जल्द आरोपी को गिरफ्तार कर परिवार को न्याय दिलवाएंगे और आज उन्होनें हमारे भरोसे को पूरी तरह कायम रखा इसकी हम और हमारा पूरा परिवार सराहना करता है। आगे अब जो भी क़ानूनी प्रक्रिया होगी उस पर भी हमें पूर्ण विश्वास है और आगे अदालत द्वारा भी हमें न्याय मिलेगा।