सोलन की बेटी दीक्षा पंडित के भजन “दीवानी शेरावाली दी” का पोस्टर टी-सीरिज के बैनर तले हुआ रिलीज

सोलन की बेटी दीक्षा पंडित के भजन

प्रजासत्ता|
मेहनत व लगन से काम करने से कोई भी मंजिल पाना आसान हो जाता है। किसी भी काम को सफलता पाने के लिए मेहनत, ईमानदारी, लगन और दृड निश्चय का होना बहुत जरूरी होता है। कुछ ऐसा ही कर दिखाया है सोलन जिला की गायक बेटी दीक्षा पंडित ने। नेशनल हाईवे पांच पर स्थित परवाणू से करीब 15 किलोमीटर की दूरी पर चम्मों पंचायत के छोटे से गांव बलाऊ की रहने वाली दीक्षा पंडित गायकी के क्षेत्र में अपना ही नहीं बल्कि अपने माता पिता अपने क्षेत्र व जिला का नाम भी रोशन कर रही है।

बता दें कि दीक्षा पंडित का ऑडियो और वीडियो भजन “दीवानी शेरावाली दी” टी-सीरिज के बैनर तले बहुत ही जल्द रिलीज होगा। भजन का पोस्टर भी 10 नवंबर को रिलीज हो चूका है। इस भजन की शूटिंग पठानकोट के मिनी गोवा और गुरदासपुर के कुछ क्षेत्रों में हुई। दीक्षा पंडित ने इससे पहले एक देशभक्ति गीत सलाम जवानों को भी गाया है, इसके अलावा दो कांगड़ी गाने लम्बी जुदाई और बरसात भी गाये है। दीक्षा पंडित चंडीगढ़ में रफी नाइट्स की विजेता भी रही है,और बॉलीवुड कलाकार उपासना सिंह से पुरस्कार भी प्राप्त कर चुकी है। डीडी पंजाबी, हिमाचल संस्कृत अकादमी शिमला व अन्य समारोह के अलावा व स्वास्थ्य मंत्री डॉ राजीव सैजल ने भी गायकी के क्षेत्र में दीक्षा को पुरस्कार से सम्मानित किया है।

इसे भी पढ़ें:  बद्दी: पत्नी के साथ अवैध संबंध पर कर दी साथी की हत्या

सोलन जिला के कसौली क्षेत्र के छोटे से गांव बलाऊ के वेद प्रकाश शर्मा और तुलसी देवी के घर जन्मी दीक्षा पंडित को बचपन से ही संगीत में रूचि थी| दीक्षा की माध्यमिक पढ़ाई करोल स्कूल तथा जमा दो की पढ़ाई गाईघाट स्कूल से हुई, इसके बाद वह एस.एल. म्यूजिक अकैडमी कालका हरियाणा से संगीत की पढ़ाई कर रही है| दीक्षा के अलावा उनके परिवार में उनके बड़े भाई दीपक और बहन सोनिया भी हैं| उनके पिता किसान थे, जबकि माता गृहणी है|

प्रजासत्ता से बात करते हुए दीक्षा ने बताया कि संगीत के प्रति उनकी रुचि उन्हें उनके पापा की वजह से हुई| उनके पापा की अपनी जागरण मंडली थी जिससे उन्हें संगीत सीखने की प्रेरणा मिली। वह उनके साथ जागरणों में भी भजन गाया करती थी| दीक्षा ने बताया कि उनके पिताजी की हाल ही में कुछ महीनों पहले मृत्यु हुई है, इस दु:ख में उन्होंने संगीत को छोड़ दिया था लेकिन उनके संगीत गुरु ने उनमें हौसला जगाया और जिसके बाद उन्होंने दोबारा गायकी शुरू की|

इसे भी पढ़ें:  "द हिमालयन वॉइस" गायन प्रतियोगिता सीज़न-1 के फाइनलिसट्स की आवाज़ मे "कान्हा तेरी मुरली" भजन रिलीज़

उन्होंने अपने गुरु हेमंत कुमार का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि वह उन्हें उनके पिता की तरह ही सपोर्ट करते हैं| इसके अलावा उन्होंने डीओपी कैंप प्रीत का भी आभार व्यक्त किया है| दीक्षा ने बताया कि उनका हाल ही में टी-सीरिज के बैनर तले रिलीज होने वाले भजन दीवानी शेरावाली दी का लेखन बॉलीवुड के मशहूर लेखक व संगीतकार कुमार विनोद किया है| उन्होंने बताया कि कुमार विनोद वालीवुड गायिका अलका याग्निक के साथ भी काम कर चुके हैं। उन्होंने अपनी इस उपलब्धि का श्रेय अपने माता-पिता और संगीत गुरु और परिवार को दिया है

सोलन की बेटी दीक्षा पंडित के भजन "दीवानी शेरावाली दी" का पोस्टर टी-सीरिज के बैनर तले हुआ रिलीज
सोलन की बेटी दीक्षा पंडित के भजन "दीवानी शेरावाली दी" का पोस्टर टी-सीरिज के बैनर तले हुआ रिलीज